वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

UN News

विशेष

शान्ति और सुरक्षा बलात्कार, हत्या, भूख से जूझ रहे लोग. सड़कों पर बिखरी हुई लाशों के बीच से गुज़रना दूभर. ठीक एक वर्ष पहले, 15 अप्रैल को सूडान एक ऐसे युद्ध के गर्त में धँस गया था, जो अब भी जारी है, और जिसमें अब तक क़रीब 15 हज़ार लोग अपनी जान गँवा चुके हैं. 80 लाख लोग विस्थापित हुए हैं, दो करोड़ 50 लाख लोगों को तात्कालिक सहायता की आवश्यकता है. वहीं, यूएन मानवतावादियों द्वारा अकाल की आशंका जताई जा रही है, राहत प्रयासों के मार्ग में बाधाएँ बरक़रार हैं और दोनों पक्षों द्वारा अंजाम दिए गए अत्याचार मामलों की सूची बढ़ती जा रही है.

ये भी ख़बरों में

स्वास्थ्य विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आगाह किया है कि विश्व के कई हिस्सों में मनुष्यों समेत स्तनपायी प्रजातियों में फैल रहा ‘बर्ड फ़्लू’ संक्रमण सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए एक बड़ी चिन्ता है. इसके मद्देनज़र, यूएन स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने हवा से फैलने वाले इस संक्रमण से निपटने के लिए नए उपायों की घोषणा की है. 
यूएन मामले संयुक्त राष्ट्र का पूर्ण रूप से सदस्य देश बनने के लिए फ़लस्तीन को किन शर्तों को पूरा करना होगा? ग़ाज़ा पट्टी में तबाही लाने वाले युद्ध के बीच सुरक्षा परिषद में इस विषय पर चर्चा हो रही है. एक नज़र यूएन में फ़लस्तीन के मौजूदा दर्जे और पूर्ण सदस्य बनने के लिए ज़रूरी अहर्ताओं व प्रक्रियाओं पर...