वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

के द्वारा छनित:

नवीनतम समाचार

ज़िम्बाब्वे की राजधानी हरारे में एक फल विक्रेता.
© ILO/K.B. Mpofu

भूराजनैतिक तनाव में उछाल के बीच, वैश्विक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में गिरावट

संयुक्त राष्ट्र व्यापार एवं विकास (UNCTAD) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में पसरी सुस्ती और बढ़ते भूराजनैतिक तनावों के कारण विदेशी निवेश में मन्दी बरक़रार है. पर्याप्त धनराशि उपलब्ध ना होने की वजह से टिकाऊ विकास लक्ष्यों को हासिल करने में चुनौतियाँ हैं, जिसके मद्देनज़र सतत वित्त पोषण सुनिश्चित किए जाने पर बल दिया गया है.

यूएन महासचिव ने सुरक्षा परिषद में साइबर सुरक्षा के विषय पर आयोजित उच्चस्तरीय चर्चा को सम्बोधित किया.
UN Photo/Manuel Elias

साइबर जगत में उभरते जोखिमों के मद्देनज़र, नए डिजिटल रक्षा उपायों का आहवान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने आगाह किया है कि साइबर जगत एक ऐसी दोधारी तलवार है, जिसमें अपार लाभ की सम्भावनाओं के साथ-साथ ग़लत इस्तेमाल के कारण उपजने वाले जोखिम भी निहित हैं.

दक्षिणी ग़ाज़ा के ख़ान युनिस में स्थित एक स्कूल में आम फ़लस्तीनियों ने शरण ली है.
UNRWA/Fadi

ग़ाज़ा: भीषण लड़ाई, सहायता क़िल्लत, झुलसाने वाली गर्मी में फँसे आम फ़लस्तीनी

ग़ाज़ा में भीषण लड़ाई, झुलसा देने वाली गर्मी के बीच अति-आवश्यक वस्तुओं की क़िल्लत है और आम फ़लस्तीनियों को बीमारियों के प्रकोप व क़ानून व्यवस्था ढह जाने के प्रभावों से जूझना पड़ रहा है. संयुक्त राष्ट्र मानवीय सहायताकर्मियों ने गुरूवार को ग़ाज़ा पट्टी में चिन्ताजनक हालात पर चेतावनी जारी की है.

पूर्वी चाड में यूनीसेफ़ समर्थित स्तनपान एवं पोषण जागरूकता केन्द्र में अपने तीन महीने के जुड़वाँ बच्चों के साथ बैठीं एक सूडानी शरणार्थी.
© UNICEF/Donaig Le Du

शरणार्थियों की ताक़त व साहस का सम्मान करें: यूएन प्रमुख का आग्रह

दुनिया भर के अनेक हिस्सों में, “टकरावों, जलवायु अराजकता व उथल-पुथल” के कारण, 12 करोड़ से भी अधिक लोग अपने घर छोड़ने के लिए मजबूर हुए हैं.नमें वो 4.35 करोड़ शरणार्थी भी शामिल हैं, जिन्हें अपने मूल स्थानों से भागकर, अपने देशों की सीमाओं के बाहर शरण लेनी पड़ी है.

लुम्सोहपेटबनेंग ग्राम स्वास्थ्य परिषद की बैठक की फोटो में स्कूल से घर जाते कुछ बच्चे.
© WHO India/Sanchita Sharma

भारत: स्वस्थ बच्चे, सेहतमन्द समुदाय

भारत के पूर्वोत्तर राज्य मेघालय के दूरदराज़ के इलाक़ों में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), भारतीय चिकित्सा अधिकारियों के साथ मिलकर, वैक्सीन के प्रति झिझक मिटाने व सभी बच्चों को समय पर नियमित टीके लगवाने के लिए प्रयासों में जुटा है.

ग़ाज़ा के ख़ान यूनिस में एक ट्रक के पीछे बैठे कुछ बच्चे यात्रा कर रहे हैं. (फ़ाइल)
© UNICEF/Eyad El Baba

ग़ाज़ा: ‘विध्वंस व विस्थापन’ के इसराइली तौर-तरीक़े, स्वतंत्र आयोग ने जाँच में किए उजागर

स्वतंत्र मानवाधिकार जाँचकर्ताओं की उच्चस्तरीय टीम ने ग़ाज़ा में इसराइली सेना के आचरण की वैधता पर गम्भीर प्रश्न खड़े करते हुए उन दावों का विरोध किया है, जिनके अनुसार फ़लस्तीनी चरमपंथियों द्वारा बन्धक बनाए गए लोगों की व्यथा को उजागर करने के लिए पर्याप्त कोशिशें नहीं की गई हैं.   

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा सूडान में स्वास्थ्य देखभालकर्मियों को ज़रूरी चिकित्सा समर्थन मुहैया कराया जा रहा है.
© WHO/Lindsay Mackenzie

यौन हिंसा के पीड़ितों के लिए समुचित स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं पर बल

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि युद्ध व हिंसक टकराव के दौरान स्वास्थ्य देखभाल केन्द्रों की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाना, अन्तरराष्ट्रीय मानवतावादी क़ानून का एक बुनियादी नियम है. उनके अनुसार, यौन हिंसा से गुज़रने वाली महिलाओं व लड़कियों को ज़रूरी स्वास्थ्य सेवाएँ व समर्थन प्रदान करने के लिए यह आवश्यक है.

ग़ाज़ा में इसराइली बमबारी में बुनियादी ढाँचे और इमारतों को विशाल पैमाने पर नुक़सान हुआ है जिसके पुनर्निर्माण में वर्षों का समय और भारी धन लगेगा.
© UNICEF/Tess Ingram

ग़ाज़ा: इसराइली हमलों के दौरान, युद्ध के नियमों का हुआ 'निरन्तर उल्लंघन'

यूएन मानवाधिकार उच्चायुक्त वोल्कर टर्क ने कहा है कि ग़ाज़ा पट्टी में इसराइली सैन्य बलों द्वारा बमबारी किए जाने के मामलों में संयुक्त राष्ट्र की जाँच दर्शाती है कि युद्ध के नियमों का निरन्तर हनन हुआ है. इस दौरान शक्तिशाली बमों का इस्तेमाल किया गया और लड़ाकों व आम नागरिकों के बीच भेद ना किए जाने के भी आरोप सामने आए हैं.

पाकिस्तान के कराची शहर में एक महिला खाना पकाते समय कचरे का इस्तेमाल कर रही है, जिसकी वजह से वायु प्रदूषण हो रहा है.
© UNICEF/Ali Junaid

वायु प्रदूषण के कारण बढ़ता स्वास्थ्य जोखिम: यूनीसेफ़ समर्थित रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) के साथ साझेदारी में  वैश्विक वायु की स्थिति (SoGA) की नवीनतम रिपोर्ट में बुधवार को चेतावनी दी गई है कि वायु प्रदूषण से मानव स्वास्थ्य पर लगातार असर पड़ रहा है, और अब यह वैश्विक स्तर पर असामयिक मौतों की दूसरी सबसे बड़ी वजह बन गया है.  

म्याँमार के उत्तरी क्षेत्र में, आन्तरिक विस्थापितों के लिये एक शिविर (फ़ाइल फ़ोटो).
UNICEF/Minzayar Oo

म्याँमार: बर्बर अत्याचारों, सैन्य नेतृत्व के 'दमनकारी शासन' से जूझते आम लोग

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त वोल्कर टर्क ने जिनीवा स्थित मानवाधिकार परिषद को सम्बोधित करते हुए कहा है कि म्याँमार में एक 'अवैध सैन्य शासन तंत्र' के तले देश का दम घुट रहा है और आम लोग गहरी पीड़ा से गुज़र रहे हैं.