अफ्रीका

सूडान में सत्ता परिवर्तन के बाद दार्फ़ूर में हिंसा बढ़ी

सूडान की राजधानी खार्तूम में पिछले सप्ताह सेना द्वारा सत्ता संभालने के बाद दार्फ़ूर प्रांत में सुरक्षा की स्थिति बदतर हुई है लेकिन वहां बढ़ती हिंसा के बीच यूएन शांतिरक्षा मिशन सतर्कता बनाए हुए है. दार्फ़ूर में यूएन और अफ़्रीकी संघ के साझा मिशन (UNAMID) के संयुक्त विशेष प्रतिनिधि जेरेमियाह मामाबोलो ने सुरक्षा परिषद को यह जानकारी दी है.

लीबिया में भारी गोलाबारी की 'भयावह रात'

लीबिया की राजधानी त्रिपोली और आस-पास के इलाक़ों में विरोधी गुटों के बीच झड़पें लगातार जारी हैं जिनसे रिहायशी इलाक़े भी अछूते नहीं हैं. मंगलवार को साढ़े चार हज़ार से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा और संकट फिर शुरू होने के बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में लोग  विस्थापन का शिकार हुए हैं. यूएन के विशेष प्रतिनिधि घसन सलामे ने इसे एक भयावह रात करार दिया है. 

रवांडा में तुत्सी समुदाय के जनसंहार से 'मानवता को मिले कई सबक'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने रवांडा में तुत्सी समुदाय के जनसंहार को मानव इतिहास का एक काला अध्याय करार दिया है. रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कगामे की उपस्थिति में यूएन महासभा में आयोजित एक समारोह में ऐसी त्रासदियों को फिर न होने देने के लिए संकल्प को मज़बूत करने की अपील की.

सूडान में उपयुक्त और समावेशी समाधान तलाशे जाने की अपील

सूडान में तेज़ी से बदले राजनीतिक घटनाक्रम के बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सभी पक्षों से शांति और अधिकतम संयम बरते जाने की अपील की है. कई महीनों से चले आ रहे विरोध प्रदर्शनों के बाद गुरूवार को सूडानी राष्ट्रपति ओमार अल बशीर को सेना ने सत्ता से बेदख़ल कर दिया. 

सूडान: संवाद के ज़रिए संकट का समाधान तलाशने की अपील

सूडान प्रशासन का सबसे अहम दायित्व विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों को सुरक्षा प्रदान करना है. सरकार विरोधी प्रदर्शनों में 70 लोगों तक मारे जाने की रिपोर्टों के बीच संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशलेट ने मौजूदा हालात पर चिंता ज़ाहिर करते हुए कहा है कि आपसी बातचीत के ज़रिए शांतिपूर्ण ढंग से समाधान तलाशा जाना चाहिए.

लीबिया में तेज़ होती हिंसा के बीच हज़ारों का पलायन

लीबिया की राजधानी त्रिपोली और आस-पास के इलाक़ों में लड़ाई भड़कने से 3,400 से ज़्यादा लोग अपने घर छोड़ने को मजबूर हुए हैं. संयुक्त राष्ट्र ने सभी पक्षों से हिंसा रोकने और लड़ाई में फंसे आम नागरिकों तक मदद पहुंचाने का रास्ता खुला रखने की अपील की है. 

हैज़े के बढ़ते मामलों के बीच यमनी अस्पताल पर हमले की जांच

यमन में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार टीम विद्रोहियों के नियंत्रण वाले इलाक़े में स्थित एक अस्पताल पर कथित हवाई हमले की जांच कर रही है. मंगलवार को इस हमले में सात आम नागरिकों के मारे जाने की ख़बर है. उधर मानवीय राहत से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने चिंता जताई है कि यमन में हैज़े के मामले जंगल में आग की तरह फैल रहे हैं.

लैंगिक समानता पर 'उत्कृष्ट' कार्य के लिए ब्राज़ीलियाई शांतिरक्षक को सम्मान

मध्य अफ़्रीका गणराज्य में लैंगिक मुद्दों पर सलाहकारों और संपर्क बिंदुओं के नेटवर्क को तैयार करने में अहम भूमिका निभाने वालीं ब्राज़ील की एक यूएन शांतिरक्षक को विशेष पुरस्कार के लिए चुना गया है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, नौसेना अधिकारी लेफ़्टिनेंट कमांडर मार्सिया अंड्राजे ब्रागा को 'यूएन मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ़ द इयर' अवॉर्ड से सम्मानित करेंगे.

घातक तूफ़ानों से निपटने के लिए हो त्वरित जलवायु कार्रवाई: गुटेरेश

चक्रवाती तूफ़ान 'इडाई' के बाद मृतकों का बढ़ता आंकड़ा जलवायु परिवर्तन के ख़तरों के प्रति एक और चेतावनी भरी घंटी है. मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सचेत किया कि अगर इस चुनौती से निपटने के लिए तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो जलवायु परिवर्तन की दृष्टि से संवेदनशील मोज़ाम्बिक जैसे देशों को इसकी क़ीमत चुकानी पड़ेगी.

'इडाई' प्रभावित बच्चों को जल्द से जल्द राहत और सुरक्षा की ज़रूरत

चक्रवाती तूफ़ान ‘इडाई’ से सबसे ज़्यादा प्रभावित मोज़ाम्बिक के बेयरा शहर में राहत एजेंसियों को धीरे धीरे तबाही की व्यापकता का अंदाज़ा लग रह है. शनिवार को संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की प्रमुख ने कहा है कि देश भर में 10 लाख से ज़्यादा पीड़ितों को राहत पहुंचाने के लिए और अंतरराष्ट्रीय मदद की आवश्यकता है.