एसडीजी

'चरम ग़रीबी का अंत ज़रूरी' है टिकाऊ भविष्य के लिए

वैश्वीकरण से यदि सभी बच्चों, उनके परिवारों और समुदायों को लाभ नहीं पहुंचा तो सर्वजन के लिए टिकाऊ भविष्य का निर्माण कर पाना संभव नहीं होगा. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 'अंतरराष्ट्रीय ग़रीबी उन्मूलन दिवस' पर जारी अपने संदेश में ग़रीबी के कुचक्र को तोड़ने के लिए किए जा रहे प्रयासों में बच्चों पर विशेष रूप से ध्यान केंद्रित करने की पुकार लगाई है.

एक तरफ़ बेतहाशा भोजन से मोटापा, दूसरी तरफ़ भोजन के अभाव में भुखमरी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 'विश्व खाद्य दिवस' पर जारी अपने संदेश में भुखमरी मिटाने और एक ऐसी दुनिया बनाने की पुकार लगाई है जहां पौष्टिक भोजन हर जगह सभी के लिए उपलब्ध हो. वैश्विक आबादी के एक बड़े हिस्से को खाने के लिए पर्याप्त मात्रा में भोजन उपलब्ध नहीं है, बढ़ता वज़न और मोटापे की समस्या स्वास्थ्य के लिए कई चुनौतियां खड़ी कर रही है जिसके मद्देनज़र इस वर्ष भुखमरी से लड़ाई के अलावा सेहतमंद आहार की ज़रूरत को भी रेखांकित गया है.

वैश्विक जलवायु कार्रवाई में ग्रामीण महिलाएँ एक शक्तिबल

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि दुनिया भर में ग्रामीण महिलाएँ व लड़कियाँ जलवायु परिवर्तन की चुनौती का सामना करने के वैश्विक प्रयासों में एक ताक़तवर माध्यम हैं.  

यूएन रिपोर्ट: भोजन की बर्बादी रोकने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र खाद्य एवं कृषि संगठन (UNFAO) की नई रिपोर्ट दर्शाती है कि मानव उपभोग के लिए पैदा किया जाने वाला एक तिहाई से ज़्यादा भोजन या तो बर्बाद हो जाता है या फिर उसका नुक़सान होता है.  इस रिपोर्ट में ऐसे समाधान भी पेश किए गए हैं जिन्हें अपनाए जाने से असरदार ढंग से भोजन की विशालकाय बर्बादी की रोकथाम के साथ-साथ भुखमरी से निपटने और टिकाऊ विकास लक्ष्यों को हासिल करने में भी मदद मिलेगी.

 

 

जापान में हेगिबिस तूफ़ान का असर कम, साहस व तैयारी के लिए नेतृत्व की सराहना

जापान में हेगिबिस तूफ़ान जान-माल की भारी तबाही हुई है, ऐसे में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने जलवायु आपदा से निपटने के प्रयासों में जापानी नेतृत्व की भूमिका की सराहना की है. महासचिव ने साथ ही इस तरह की प्राकृतिक आपदाओं से निपटने में जापान की पहले से ही की गई व्याक तैयारियों का ख़ास उल्लेख किया है.

जैव विविधता, अर्थव्यवस्था और जलवायु

जलवायु आपदा ने दुनिया भर में जीवन के हर पहलू को प्रभावित किया है. बहुत से युवा भी अब समस्या की गंभीरता को समझने लगे हैं और अपने-अपने स्तर पर प्रयास कर रहे हैं. ऐसी ही युवा चैंपियन हीता लखानी के साथ संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में अंशु शर्मा की बातचीत.

चुनौतीपूर्ण बदलाव संभव बना रही हैं लड़कियां

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि विश्व में एक अरब से ज़्यादा युवा लड़कियां ऐसे बदलावों का वाहक बन रही हैं जो स्वत:स्फूर्त हैं और जिन्हें आगे बढ़ने से रोका नहीं जा सकता है. 'अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस' के अवसर पर अपने संदेश में उन्होंने कहा कि बचपन में शादी किए जाने, पढ़ाई पूरी ना हो पाने और समान अवसरों से वंचित होने की चुनौतियों के बावजूद वे प्रगति पथ पर अग्रसर हैं.

दुनिया में भुखमरी का अंत कैसे सुनिश्चित हो?

पृथ्वी पर हर एक इंसान का पेट भरने लायक पर्याप्त भोजन का उत्पादन हो रहा है, लेकिन फिर भी विश्व के कुछ हिस्सों में भुखमरी बढ़ती जा रही है और 82 करोड़ से ज़्यादा लोग "लगातार कुपोषण का शिकार" बने हुए हैं. दुनिया में हर इंसान को पर्याप्त भोजन मिले – ये सुनिश्चित करने के लिए आख़िर क्या क़दम उठाए जा रहे हैं?

युवाओं में आत्महत्या के बढ़ते स्तर पर गहरी चिंता

दुनिया भर में क़रीब आठ लाख लोग हर साल आत्महत्याओं की वजह से मौत के मुँह में चले जाते हैं - हर चालीस सेकंड में एक व्यक्ति की मौत. विश्व स्वास्थ्य संगठन के आँकड़ों के अनुसार 15 से 29 वर्ष की उम्र के युवाओं में मौत का यह दूसरा सबसे बड़ा कारण है. गुरूवार 10 अक्तूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर आत्महत्याओं को रोकने के प्रयासों के बारे में जागरूकता बढ़ाने पर ही ज़ोर दिया गया है.

महिलाओं में ताक़त का अलख

अजयता शाह एक ऐसी युवा कार्यकर्ता हैं जो राजस्थान में महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक बनाने के साथ-साथ उनके सशक्तिकरण के लिए काम कर रही हैं. अजयता शाह सितंबर में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में हुई विभिन्न गतिविधियों में शिरकत करने के लिए आई हुई थीं. यूएन न्यूज़ की अंशु शर्मा ने न्यूयॉर्क में अजयता शाह से ख़ास बातचीत की...