एसडीजी

घातक ई-कचरे को रोज़गार के बेहतर अवसरों में बदलने पर ज़ोर

दुनिया में हर साल करोड़ो टन ई-कचरा पैदा होता है और इलैक्ट्रिक और इलैक्ट्रॉनिक कचरे की ज़हरीली बाढ़ पर्यावरण और लोगों के स्वास्थ्य को नुक़सान पहुंचा रही है. अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने कहा है कि ई-कचरा के दुष्प्रभावों को तत्काल रोकने के साथ-साथ उसे अच्छे और उपयुक्त कार्य के स्रोत में भी तब्दील किया जाना चाहिए.

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के लिए और धन की ज़रूरत

असमान वृद्धि, बढ़ता कर्ज़, वित्तीय बाज़ारों में उतार-चढ़ाव, और वैश्विक व्यापार पर कायम तनाव जैसी वैश्विक चुनौतियां, टिकाऊ विकास लक्ष्यों को पाने के रास्ते में बाधाएं खड़ी कर रही हैं. 2030 एजेंडा लागू करने के लिए वित्तीय संसाधन जुटाने पर न्यूयॉर्क में बैठक हो रही है जिसे संबोधित करते हुए संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा कि इन महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को हासिल करने के लिए और धन की आवश्यकता होगी.

समस्याओं की नब्ज़ पकड़ने में 'सफल रहा है' श्रम संगठन

संघर्ष और शांति काल में, लोकतंत्र और तानाशाही में, विऔपनिवेशीकरण और शीत युद्ध के दौरान, अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) सामाजिक प्रगति के लिए हुए प्रयासों में अग्रणी भूमिका निभाता आया है. संगठन की शताब्दी वर्षगांठ के अवसर पर यूएन महासभा को संबोधित करते महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा कि श्रम संगठन ने लोगों की चिंताओं और समस्याओं की नब्ज़ पकड़ने में निरंतर सफलता पाई है.

वैश्विक चुनौतियों से निपटने में युवाओं का साथ अहम

एक टिकाऊ दुनिया के निर्माण के लिए युवाओं को सशक्त बनाने वाले कौशलों, मूल्यों, नौकरियों और आजीविका के साधनों की आवश्यकता है. आठवीं यूथ फ़ॉरम को संबोधित करते हुए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद की अध्यक्ष इन्गा रहोन्डा किंग ने वैश्विक चुनौतियों से निपटने में युवाओं की प्रमुख भूमिका को रेखांकित किया. 

टिकाऊ विकास से जुड़ा है आबादी का सवाल

टिकाऊ विकास लक्ष्यों को प्रभावी ढंग से हासिल करने में जनसंख्या संबंधी रूझान अहम भूमिका अदा कर सकते हैं. इसी से जुड़े विविध मुद्दों पर चर्चा के लिए सोमवार को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में 'कमीशन ऑन पॉपुलेशन एंड डवेलपमेंट' या 'जनसंख्या और विकास पर आयोग' का वार्षिक सत्र शुरू हुआ है. 

बिजली से चलने वाले वाहनों के इस्तेमाल को प्रोत्साहन

एशिया के कई देशों में वायु प्रदूषण और कार्बन उत्सर्जन की बढ़ती मात्रा एक बड़ी समस्या है. इन ख़तरों से निपटने में बिजली चालित वाहन एक बड़ी भूमिका निभा सकते हैं और इसी उद्देश्य से भारत सहित कई देशों में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने वाली नीतियां अपनाने की दिशा में काम किया जा रहा है.

टिकाऊ विकास की राह में एशिया-प्रशांत का 'निर्णायक नेतृत्व'

एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों को टिकाऊ विकास के 2030 एजेंडा को पूरा करने और सशक्तिकरण, समावेशिता व समानता सुनिश्चित करने के लिए ठोस और साहसिक कदमों की ज़रूरत है. बैंकॉक में एक बैठक के दौरान संयुक्त राष्ट्र उपमहासचिव अमीना मोहम्मद ने कहा कि क्षेत्रीय देश इस दिशा में निर्णायक नेतृत्व का प्रदर्शन कर रहे हैं.

टिकाऊ विकास लक्ष्य-8: अच्छा और उपयुक्त कार्य एवं आर्थिक वृद्धि

2030 के लिए टिकाऊ विकास एजेंडा का मूल मंत्र है 'कोई पीछे छूटने न पाए’. एक न्यायोचित और निष्‍पक्ष दुनिया के निर्माण के लिए आर्थिक वृद्धि का समावेशी होना अनिवार्य है. टिकाऊ विकास एजेंडे के आठवें लक्ष्‍य के पीछे यही सोच है. इसका उद्देश्‍य 2030 तक सबसे कम विकसित देशों में निरन्‍तर 7 प्रतिशत की आर्थिक वृद्धि दर कायम रखना और 2030 तक हर जगह सभी पुरुषों और महिलाओं के लिए पूर्ण एवं उत्‍पादक रोज़गार हासिल करना है.

हिंसा से ज़्यादा घातक है बच्चों के लिए गंदा पानी

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने अपनी नई रिपोर्ट में कहा है कि हिंसा से त्रस्त कई देशों में बच्चों को साफ़ और सुरक्षित पानी का न मिल पाना, उनके लिए वहां जारी लड़ाई से कहीं ज़्यादा ख़तरनाक है. 'विश्व जल दिवस’ के अवसर पर जारी इस रिपोर्ट के अनुसार स्वच्छ पानी के अभाव में होने वाली मौतों का आंकड़ा हिंसा का शिकार होने वाले बच्चों से कहीं ज़्यादा है.

2019 को अभिनव समाधानों का साल बनाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र उपमहासचिव अमीना जे. मोहम्मद ने कहा है कि 2019, दुनिया को रूपान्तरित कर देने वाले समाधानों और जलवायु परिवर्तन के हानिकारक प्रभावों से बचाने में मदद करने वाला साल साबित हो सकता है.  इससे पारिस्थितिकी तंत्रों, वैश्विक अर्थव्यवस्था, स्वास्थ्य और सुरक्षा को पनप रहे ख़तरों से निपटने में मदद मिलेगी.