एसडीजी

‘प्रकृति का स्पष्ट सन्देश’: महामारियों की रोकथाम के लिए पर्यावरण की रक्षा अहम

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि मानवीय गतिविधियों से प्रकृति को पहुँचने वाली क्षति को हर हाल में रोकना होगा और पर्यावरण सरंक्षण के लिए वैश्विक समुदाय को अपना रास्ता बदलना होगा. शुक्रवार, 5 जून, को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर पृथ्वी व मानव स्वास्थ्य के बीच सम्बन्ध और मानव जीवन को सहारा देने वाली जैवविविधता की रक्षा की अहमियत को रेखांकित किया जा रहा है. 

कोविड-19: व्यवसायों को महामारी के सामाजिक प्रभावों से निपटना ज़रूरी

दुनिया की सबसे बड़ी कॉरपोरेट सततता पहल, यूएन ग्लोबल कॉम्पैक्ट की प्रमुख लीज़ किंगो का मानना है कि जिस तरह सभी व्यवसाय कोविड-19 महामारी से उत्पन्न आर्थिक गिरावट से निपटने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, उन्हें एक स्थाई भविष्य के निर्माण के लिए अपनी ज़िम्मेदारियों के प्रति भी सजग रहना होगा. लीज़ किंगो इस पद पर अपना पाँच साल का कार्यकाल जल्द ही पूरा कर रही हैं.

साइकिल: महामारी में भरोसेमन्द, किफ़ायती और हरित वाहन

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान और इसके बाद दुनिया कैसे आगे बढ़ेगी, इस बारे में साइकिल की भी बहुत अहम भूमिका है. बुधवार को मनाए गए विश्व साइकिल दिवस के मौक़े पर कहा गया है कि साइकिल के ज़रिये दुनिया भर में स्वास्थ्यपरक और ज़्यादा टिकाऊ भविष्य बनाने के लिए सार्थक बदलाव लाने में आसानी होगी.

काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य में ईबोला का 11वाँ फैलाव

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य में ईबोला के नए मामले सामने आने के बाद उससे और कोविड-19 से निपटने में देश की मदद की जाएगी.

किशोर उम्र से ही तम्बाकू सेवन की लत से बचाने की मुहिम

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि दुनिया भर में हर साल तम्बाकू उत्पादों के सेवन से लगभग 80 लाख लोगों की मौत हो जाती है जिन्हें बहकाने के लिए ऐसी विज्ञापन रणनीतियों का सहारा लिया जाता है जिन पर 9 अरब डॉलर का ख़र्च होता है. 

ग़ैर-संचारी रोगों के मरीज़ों की अनदेखी से बड़ा जोखिम

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि कोविड-19 का मुक़ाबला करने के प्रयासों के कारण कैन्सर, डायबटीज़, हाइपरटैन्शन और अन्य ग़ैर-संचारी बीमारियों की रोकथाम व इलाज सम्बन्धी सेवाओं में गम्भीर बाधा खड़ी हो गई है. संगठन के सोमवार को प्रकाशित एक ताज़ा सर्वे के अनुसार इन बीमारियों के कारण दुनिया भर में हर साल चार करोड़ से ज़्यादा लोगों की मौत होती है.

नेपाल: पर्वतीय फ़सलों से जैवविविधता और आर्थिक विकास को बढ़ावा

नेपाल के सुदूर पर्वतीय क्षेत्रों में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) और उसके साझीदार संगठन स्थानीय समुदाय के साथ मिलकर फ़सलों की जैवविविधता संरक्षित करने के प्रयासों में जुटे हैं ताकि खाद्य सुरक्षा और कृषि को सुदृढ़ बनाया जा सके.

कोविड-19 के बाद की दुनिया में विकास की डगर पर एक नज़र

भारत में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की प्रतिनिधि शोको नाडा ने कहा है कि कोविड-19 से उपजा सँकट उन सभी महत्वपूर्ण विकास लाभों को पीछे धकेल सकता है जिन्हें कड़ी मेहनत से अर्जित किया गया है. इस चुनौती पर पार पाने और कोरोनावायरस के बाद सतत विकास प्रक्रिया और एक टिकाऊ दुनिया के निर्माण के लिए उन्होंने असरदार सामाजिक सुरक्षा योजनाओं और हरित विकास में निवेश पर बल दिया है.  

सिकुड़ते वनों में जैवविविधता संरक्षण के लिए निडर कार्रवाई की दरकार

वनों की कटाई और भूमि क्षरण की तेज़ होती रफ़्तार बढ़ती चिन्ता का सबब है. शुक्रवार को अन्तरराष्ट्रीय जैवविविधता दिवस के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट में दुनिया भर के जंगलों में जैवविविधता के संरक्षण के लिए तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता पर बल दिया गया है.

जैव विविधता दिवस

यूएन महासचिव ने 22 को मनाए जाने वाले अन्तरराष्ट्रीय जैव विविधता दिवस के मौक़े पर कहा है कि इन्सानों के तमाम समाधान प्रकृति में समाहित हैं इसलिए बेहतर वांछित भविष्य और आने वाली पीढ़ियों के बेहतर कलयाण के लिए प्रकृति के साथ बेहतर सन्तुलन बनाना बहुत ज़रूरी है. वीडियो सन्देश...