महिलाएं

अमेरिका में गर्भपात पर प्रतिबन्ध सम्बन्धी निर्णय पर गम्भीर मानवाधिकार चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने कहा है कि संयुक्त राज्य अमेरिका (USA) के सुप्रीम कोर्ट द्वारा 50 वर्ष पुराने रो बनाम वेड निर्णय को पलटने का फ़ैसला, महिलाओं के मानवाधिकार और लैंगिक समानता के लिये बहुत विशाल झटका है. रो बनाम वेड निर्णय में, पूरे संयुक्त राज्य अमेरिका देश में, गर्भपात कराने की गारण्टी दी गई थी.

आदिवासी महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा, नस्लवाद में निहित 'उपनिवेशवाद की विरासत'

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त एक स्वतंत्र अधिकार विशेषज्ञ ने मानवाधिकार परिषद को सौंपी गई एक रिपोर्ट में कहा है कि आदिवासी महिलाओं व लड़कियों को गम्भीर, व्यवस्थित और निरन्तर हिंसा का सामना करना पड़ता है, जो उनके जीवन के हर पहलू पर हावी है.

बांग्लादेश: बाढ़ में 40 लाख लोग फँसे, 16 लाख बच्चे भी, यूनीसेफ़ मदद में सक्रिय

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – UNICEF ने कहा है कि बांग्लादेश के पूर्वोत्तर इलाक़े में आई ताज़ा बाढ़ में लगभग 40 लाख लोग फँस गए हैं जिन्हें तत्काल सहायता की आवश्यकता है. इनमें लगभग 16 लाख बच्चे भी हैं.

युद्धों में यौन हिंसा से, आबादियाँ आतंकित, ज़िन्दगियाँ तबाह और समुदायों में बिखराव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार को कहा है कि यौन हिंसा, युद्धक गतिविधियों की एक क्रूर रणनीति बन गई है और आबादियों को आतंकित करने वाले दमन से, लोगों की ज़िन्दगियाँ तबाह होती हैं व समुदाय तितर-बितर हो जाते हैं.

महिलाओं के अधिकारों की रक्षा, ‘शान्ति व स्थिरता के लिये सफल रणनीति’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को सुरक्षा परिषद में आयोजित एक चर्चा के दौरान ‘महिलाएँ, शान्ति व सुरक्षा’, को ऐसा एजेण्डा बताया है जिससे एक अधिक शान्तिपूर्ण व रहन-सहन के लिये बेहतर ग्रह सुनिश्चित किया जा सकता है.

2022 के जनसंख्या पुरस्कार - नामीबिया की एक सांसद व इण्डोनेशिया के परिवार नियोजन बोर्ड को

संयुक्त राष्ट्र की यौन व प्रजनन स्वास्थ्य एजेंसी - UNFPA ने सोमवार को अपने 2022 के संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या पुरस्कार के विजेताओं की घोषणा की, जिनमें व्यक्तिगत पुरस्कार, नामीबिया की एक युवा पथ-प्रदर्शक सांसद को दिया गया है, जबकि संस्थागत पुरस्कार इण्डोनेशिया के राष्ट्रीय जनसंख्या और परिवार नियोजन बोर्ड को दिया गया.

शान्तिरक्षा में महिलाओं की भागीदारी अहम

भारत के चण्डीगढ़ की पुलिस सेवा में इंसपेक्टर परमजीत कौर सेखों, दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन - UNMISS में शान्तिरक्षक के रूप में कार्यरत हैं. परमजीत कौर सेखों दक्षिण सूडान के जूबा में संयुक्त राष्ट्र पुलिस - UNPOL में सम्पर्क अधिकारी के रूप में काम करती हैं. परमजीत अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर सेवा का यह अवसर मिलने के लिये अपने-आप को बेहद सौभाग्यशाली मानती हैं, और चाहती हैं कि ज़्यादा से ज़्यादा महिलाएँ शान्तिरक्षा के लिये आगे आएँ. यूएन न्यूज़ के साथ उनकी ख़ास बातचीत के कुछ वीडियो अंश...  

विकलांग जन के लिये मासिक धर्म स्वास्थ्य व स्वच्छता पर समावेशी कार्रवाई की दरकार

भारत में संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष ((UNFPA) ने  मासिक धर्म स्वास्थ्य व स्वच्छता पर समावेशी कार्रवाई पर, वाटर एड इण्डिया (जल सेवा चैरिटेबल संस्थान) के सहयोग से एक रिपोर्ट जारी की है. इस रिपोर्ट में, विकलांगों व उनकी देखभाल करने वाले लोगों के लिये मासिक धर्म सम्बन्धी स्वास्थ्य एवं स्वच्छता में सुधार के समाधान लागू करने की रूपरेखा दी गई है.

समुद्री सैक्टर में महिलाओं की भागीदारी व सशक्तिकरण पर बल

समुद्री समुदाय में महिलाओं की भूमिका को रेखांकित करने के इरादे से, बुधवार, 18 मई को संयुक्त राष्ट्र द्वारा पहली बार अन्तरराष्ट्रीय दिवस (International Day for Women in Maritime) मनाया जा रहा है. इस दिवस पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के ज़रिये लैंगिक समानता की समीक्षा और उन क्षेत्रों को चिन्हित किया जा रहा है, जहाँ बेहतरी की आवश्यकता है. 

अफ़ग़ानिस्तान: महिलाओं को चेहरा ढकने और घर पर रहने के तालेबानी आदेश पर चिन्ता

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन (UNAMA) ने तालेबान प्रशासन की उस घोषणा पर गहरी चिन्ता व्यक्त की है, जिसमें महिलाओं को आवश्यकता होने पर ही घर से बाहर निकलने और सार्वजनिक स्थलों पर अपना चेहरा ढकने की बात कही गई है.