मानवाधिकार

आतंकवाद के दिए ज़ख़्म बहुत गहरे होते हैं - महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि आतंकवाद के दिए हुए ज़ख़्म बहुत गहरे होते हैं, समय बीतने पर उनकी गहराई कुछ कम हो सकती है, मगर वो ज़ख़्म कभी पूरी तरह ख़त्म नहीं होते. बुधवार को आतंकवाद के पीड़ितों की याद और श्रद्धांजलि देने के लिए मनाए गए अंतरराष्ट्रीय दिवस के मौक़े पर महासचिव ने ये शब्द कहे. ये दिवस हर वर्ष 21 अगस्त को मनाया जाता है.

श्रीलंका के तथाकथित 'युद्धापराधी' लैफ़्टिनेंट-जनरल की पदोन्नति पर 'गहरी चिंता'

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार मामलों (OHCHR) की प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने श्रीलंका में लैफ़्टिनेंट-जनरल शावेन्द्र सिल्वा को सेना का कमांडर नियुक्त किए जाने को चिंताजनक क़रार दिया है. सोमवार को जारी अपने एक बयान में उन्होंने कहा कि लैफ़्टिनेंट - जनरल शवेन्द्र सिल्वा को अहम भूमिकाएं दी गई हैं जबकि उनके और उनके सैनिकों पर अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार व मानवीय क़ानून का उल्लंघन करने के गंभीर आरोप लगे हैं.

कश्मीर पर सुरक्षा परिषद की बैठक - तीन देशों का रुख़

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने कश्मीर स्थिति पर शुक्रवार 16 अगस्त 2019 को गोपनीय बैठक की जिसे बंद कमरे में हुई चर्चा भी कहा गया है. इस चर्चा के बारे में परिषद की तरफ़ से कोई आधिकारिक वक्तव्य नहीं जारी किया गया, अलबत्ता तीन देशों - चीन, पाकिस्तान और भारत के राजदूतों ने पत्रकारों के सामने अपने-अपने देशों का रुख़ रखा. 

कश्मीर मुद्दे पर सुरक्षा परिषद की 'बंद' बैठक, चीन द्वारा संयम का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने कश्मीर में तनावपूर्ण स्थिति पर शुक्रवार को गोपनीय विचार-विमर्श किया. 1965 के बाद ये पहला मौक़ा था जब सुरक्षा परिषद ने  कश्मीर मुद्दे पर विचार विमर्श करने के लिए 'विशिष्ठ बैठक' आयोजित की. सुरक्षा परिषद पर दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा संबंधी मामलों का समाधान तलाश करने की ज़िम्मेदारी है.

हिजाब की अनिवार्यता का विरोध करने वाली महिलाओं की रिहाई की अपील

ईरान में हिजाब को अनिवार्य रूप से पहने जाने का आदेश कड़ाई से लागू किया जाता है और उसका विरोध करने वाली महिलाओं को दशकों लंबी जेल की सज़ा सुनाई जा रही है जिसकी संयुक्त राष्ट्र के स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने निंदा की है. हाल के दिनों में ईरान में महिलाधिकारों के लिए संघर्ष करने वाले कार्यकर्ताओं के विरुद्ध कार्रवाई होने के मामले बढ़ने की रिपोर्टें मिली हैं.  

जिनीवा संधि: इंसानी बर्ताव के लिए नायाब मानक

संघर्ष और युद्ध वाले क्षेत्रों में घायल लोगों के अधिकारों की हिफ़ाज़त सुनिश्चित करने वाले जिनीवा कन्वेंशन के 70 वर्ष पूरे होने के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष ने कहा है कि इस संधि ने सशस्त्र संघर्षों की क्रूरता को सीमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

हॉंगकॉंग प्रशासन और प्रदर्शनकारियों से संयम की अपील

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने हॉंगकॉंग में विरोध प्रदर्शनों पर चिंता जताते हुए कहा है कि वो किसी भी प्रकार की हिंसा या संपत्ति को नुक़सान पहुंचाए जाने की निंदा करती हैं. उन्होंने स्थानीय प्रशासन से संयम बरतने का आग्रह करते हुए प्रदर्शनकारियों से भी अपील की है कि मांगें शांतिपूर्ण ढंग से अभिव्यक्त की जानी चाहिए. हॉंगकॉंग का व्यस्त हवाई अड्डा मंगलवार को भी विरोध प्रदर्शनों का केंद्र बना रहा.

आदिवासी जनसमूह की भाषा और संस्कृति को सहेजने की ज़रूरत

नौ अगस्त को हर वर्ष दुनिया भर के आदिवासी जनसमूह लोगों के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है. दुनिया भर में इस समय आदिवासी जनसमूह के लोगों की संख्या लगभग 37 करोड़ है जो 90 देशों में रहते हैं. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इस दिवस के अवसर पर आदिवासी जनसमूह के लोगों की पहचान और भाषाओं को सहेजकर रखने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया है.

आदि भाषाओं को विलुप्त होने से बचाने की अपील

विश्व भर में आज सात हज़ार से ज़्यादा आदि भाषाएं बोली जाती हैं लेकिन हर 10 में से चार भाषाओं पर विलुप्त होने का ख़तरा मंडरा रहा है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने सदियों पुरानी बोलियों को विलुप्त होने से बचाने और भावी पीढ़ियों के लिए संरक्षित रखने की पुकार लगाई है.

सीरिया में हिरासत में बंद लोगों के मुद्दे पर 'विफल रही सुरक्षा परिषद'

सीरिया में हिंसक संघर्ष के दौरान हिरासत में लिए गए लोगों और उनके परिजनों की मदद करने में सुरक्षा परिषद पूरी तरह विफल रही है. बुधवार को 'फ़ैमिलीज़ फ़ॉर फ़्रीडम' की सह-संस्थापक आमिना खोलानी ने सुरक्षा परिषद को इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि जेल में बंद और लापता लोगों की हरसंभव सहायता की जानी चाहिए.