मानवाधिकार

यूएन मानवाधिकार प्रमुख ने पुलवामा हमले की कठोर निंदा की

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशलेट ने जम्मू कश्मीर राज्य के पुलवामा ज़िले में भारतीय सुरक्षा बलों पर हुए आत्मघाती बम हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए दोषियों को सज़ा दिलाने का आग्रह किया है. उन्होंने आशा जताई है कि भारत और पाकिस्तान क्षेत्र में असुरक्षा बढ़ाने वाले कदमों से दूर रहेंगे. 

दक्षिण सूडान में यौन हिंसा के मामलों में तेज़ी से बढ़ोत्तरी

दक्षिण सूडान के यूनिटी प्रांत में यौन हिंसा के बढ़ते मामलों के बाद संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय  (OHCHR) ने स्थानीय प्रशासन से पीड़ितों को सुरक्षा प्रदान करने और दोषियों को सज़ा दिलाने के लिए तत्काल कदम उठाने का अनुरोध किया है.  यौन हिंसा में आठ साल की बच्चियों तक को निशाना बनाए जाने की रिपोर्टें सामने आई हैं. 

भावी पीढ़ियों के लिए मूल भाषाओं में प्राण फूंकने की पुकार

हाल के दशकों में पुरखों के ज़माने से चली आ रही सैंकड़ों भाषाएं धीरे धीरे शांत होने लगी हैं. उन्हीं के साथ विलुप्त हो गई है उन्हें बोलने वाले लोगों की संस्कृति, ज्ञान और परंपराएं. जो भाषाएं बच गईं हैं उन्हें संरक्षित रखने और नए प्राण फूंकने के लिए संयुक्त राष्ट्र ने मूल भाषाओं के अंतरराष्ट्रीय वर्ष की आधिकारिक शुरुआत की है. 

होलोकॉस्ट स्मरण दिवस पर सार्वभौमिक मूल्यों की रक्षा की पुकार

'ख़तरनाक ढंग से उभरते' यहूदीवाद विरोध से उपजती चिंताओं के बीच न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में अंतरराष्ट्रीय होलोकॉस्ट स्मरण दिवस पर कार्यक्रम आयोजित हुए जिनमें दूसरे विश्व युद्ध के दौरान सामूहिक नरसंहार में मारे गए साठ लाख यहूदियों को सम्मान के साथ याद किया गया. उन अन्य पीड़ितों को भी जो 'अभूतपूर्व, सुनियोजित क्रूरता और भयावहता' का शिकार हुए.

'यहूदीवाद विरोध से निपटना सभी समाजों की ज़िम्मेदारी'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने चेताया है कि यहूदीवाद का विरोध दुनिया में सबसे पुराना पूर्वाग्रह है जिसने कई पीढ़ियों को तबाह किया है. गुटेरेश ने संकल्प लिया कि हर प्रकार की नफ़रत के ख़िलाफ़ लड़ाई में यूएन सबसे आगे रहेगा और सभी के लिए मानवीय गरिमा कायम करने के प्रयासों को मज़बूती देता रहेगा.  

सूडान: प्रदर्शनकारियों पर 'अत्यधिक बल प्रयोग से यूएन चिंतित'

सूडान में खाद्य पदार्थों और ईंधन की किल्लत का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों के ख़िलाफ़ ज़रूरत से ज़्यादा बल प्रयोग किए जाने और प्रदर्शनों में 24 लोगों की मौत पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार कार्यालय ने गहरी चिंता ज़ाहिर की है. 

टिकाऊ विकास लक्ष्यों के रास्ते में बाधाओं से जल्द निपटना ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशलेट ने कहा है कि अपने नागरिकों के हितों की रक्षा करने और उन्हें बढ़ावा देने में  कईं देश विफल हो रहे हैं. 2016 में सभी देशों ने बेहतरी के प्रयास का संकल्प लिया था लेकिन अभी प्रगति बहुत धीमी है जिसे तेज़ किए जाने की आवश्यकता है.

बच्चों के लिए बेहतर भविष्य सुनिश्चित करने से 'दूर है' दुनिया

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशलेट ने कहा है कि कुछ सदस्य देश बच्चों को बेहतर भविष्य देने में अब भी पूरी तरह सफल नहीं हो पाए हैं. ऐसे देशों में बच्चों की समय से पहले मौतें हो रही हैं या फिर वे ग़रीबी का शिकार हो रहे हैं. 

कथित न्यायेतर हत्याओं के मामलों पर यूएन विशेषज्ञ चिंतित

संयुक्त राष्ट्र के चार मानवाधिकार विशेषज्ञोें ने भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में मार्च 2017 से पुलिस द्वारा 59 लोगों की 'न्यायेतर हत्या' किए जाने के आरोपों पर गहरी चिंता ज़ाहिर की है. 14 जनवरी को इनमें से कईं मामलों पर भारत की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है. 

घर से भागी सऊदी युवती को कनाडा ने शरण दी

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने कहा है कि सऊदी युवती रहाफ़ मोहम्मद अल क़ुनुन को कनाडा सरकार शरणार्थी का दर्जा दिए जाने के लिए राज़ी हो गई है. थाईलैंड में बैंकॉक हवाई अड्डे पर रोकी गई रहाफ़ ने दावा किया था कि उनका परिवार उन्हें जान से मार देने की धमकियां दे रहा है.