मानवाधिकार

थाईलैण्ड: सरकार से शान्तिपूर्ण विरोध प्रदर्शनों को अनुमति देने का आग्रह 

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने थाईलैण्ड में आपातकालीन हालात लागू किये जाने को एक बेहद कठोर क़दम क़रार देते हुए सरकार से आग्रह किया है कि देश की जनता को शान्तिपूर्वक एकत्र होने और आज़ाद ढँग से अपनी बात कहने के अधिकारों की गारण्टी मिलनी चाहिये. 

नाइजीरिया में कथित पुलिस क्रूरता पर रोक लगाने की मांग

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि नाइजीरिया में घटनाक्रम पर वह नज़दीकी नज़र रख रहे हैं. ग़ौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों में देश में प्रदर्शनकारियों के हताहत होने की ख़बरें मिली हैं जिनके बाद यूएन महासचिव ने कथित रूप से पुलिस क्रूरता और दुर्व्यवहार पर लगाम लगाने की माँग की है.

भारत: मानवाधिकार संगठनों पर पाबन्दियों और कार्यकर्ताओं की गिरफ़्तारी पर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने भारत सरकार से मानवाधिकारों के पैरोकारों और ग़ैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) के कार्यकर्ताओं के अधिकारों की गारण्टी सुनिश्चित करने की अपील की है. साथ ही इन कार्यकर्ताओं के लिये ऐसा माहौल भी सुनिश्चित किया जाए जिसमें वो ऐसे अनेक संगठनों व समूहों की ख़ातिर किया जाने वाला काम जारी रखने योग्य हों, जिनका वो प्रतिनिधित्व करते हैं.

'बलात्कार ग़लत है, मगर बधियाकरण और मृत्युदण्ड भी उपयुक्त जवाब नहीं'

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने कहा है कि बलात्कार और अन्य तरह की यौन हिंसा करने वालों को न्याय के कटघरे में अवश्य लाया जाए, मगर उन्हें मृत्युदण्ड या किसी अन्य तरह की प्रताड़ना का शिकार बनाया जाना कोई उपयुक्त जवाब नहीं है.

म्याँमार में दो लड़कों की मानव ढाल बनाए जाने के दौरान जघन्य मौत, यूएन एजेंसियों ने की तीखी आलोचना

म्याँमार में संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों ने उन दो लड़कों की जघन्य मौत पर गहरा शोक और सदमा प्रकट किया है जिन्हें उत्तरी प्रान्त राख़ीन में अक्टूबर के शुरुआती दिनों में सुरक्षा बलों ने कथित रूप में मानव ढाल (Human Shield)  के तौर पर इस्तेमाल किया था. 

वैश्विक संकट से उबरने के लिये ज़्यादा समानता बहुत ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशेलेट ने कहा है कि पार-अटलाण्टिक दास व्यापार के प्रभावों की स्वीकार्यता, लोगों को दास बनाए जाने के चलन व उपनिवेशवाद की समीक्षा और मूल्याँकन के सन्दर्भ में बात करें तो नस्लवाद, पूर्वाग्रह व नफ़रत और असहिष्णुता के ख़िलाफ़ लड़ाई में वर्ष 2001 में हुआ डर्बन विश्व सम्मेलन एक मील का पत्थर साबित हुआ है.

बुर्किना फ़ासो में विस्थापितों के क़ाफ़िले पर वीभत्स जानलेवा हमले की तीखी भर्त्सना

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने बुर्किना फ़ासो में देश के भीतर ही विस्थापित लोगों के एक काफ़िले पर हुए हमले की तीखी भर्त्सना की है. 4 अक्टूबर की रात को हुए इस हमले में 25 लोगों की मौत हो गई.

बेलारूस: मानवाधिकारों के बग़ैर टिकाऊ विकास सम्भव नहीं - यूएन प्रतिनिधि का ब्लॉग

बेलारूस में अगस्त 2020 में विवादों में घिरे राष्ट्रपति चुनावों के बाद से ही व्यापक स्तर पर विरोध प्रदर्शन और सुरक्षा बलों द्वारा हिंसक दमनात्मक कार्रवाई हुई है. इन चुनावों में राष्ट्रपति एलेक्ज़ैण्डर लुकाशेन्को की सत्ता में फिर वापसी हुई है. इस ब्लॉग में, बेलारूस में संयुक्त राष्ट्र की रैज़िडैण्ट कोऑर्डिनेटर (आर.सी.) योआना कज़ाना-विसनीओवियेस्की ने देश में मौजूदा अशान्ति के दौरान संगठन के कामकाज को कुछ इस तरह बयान किया है.

दक्षिण सूडान: भुखमरी का युद्ध के औज़ार के रूप में इस्तेमाल

संयुक्त राष्ट्र समर्थित मानवाधिकार आयोग ने कहा है कि दक्षिण सूडान में बर्बर हिंसक संघर्ष में भुखमरी को जानबूझकर एक युद्ध के एक औज़ार के रूप में इस्तेमाल किया गया जिससे खाद्य असुरक्षा व कुपोषण की स्थिति और भी ज़्यादा गम्भीर हुई है. देश में मानवाधिकारों की हालत पर नज़र रखने के लिये गठित मानवाधिकार आयोग ने मंगलवार को अपनी ताज़ा रिपोर्ट जारी की है.

कोविड-19: ऐहतियाती उपायों से प्रभावित समुद्री नाविकों को राहत पहुँचाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र की संस्थाओं ने वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण लाखों समुद्री नाविकों, चालक दल के सदस्यों व अन्य कर्मचारियों के एक अभूतपूर्व संकट से प्रभावित होने पर चिन्ता ज़ाहिर की है. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR), संयुक्त राष्ट्र ग्लोबल कॉम्पैक्ट और व्यवसाय व मानवाधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र के कार्यकारी दल ने मंगलवार को अपने एक साझा बयान में व्यवसाय क्षेत्र और सम्बद्ध पक्षकारों से नाविकों की व्यथा को दूर करने के लिये समुचित कार्रवाई करने का आग्रह किया है.