वैश्विक परिप्रेक्ष्य मानव कहानियां

UN News

विशेष

स्वास्थ्य हाल ही में माँ बनीं, मेडागास्कर की एक महिला ने बताया कि वो, घर पर प्रसव में मुश्किलें खड़ी होने पर किस तरह, गम्भीर हालत में गाँव की कच्ची-पक्की सड़कों से होते हुए, 200 किलोमीटर का लम्बा सफ़र तय करके, विशेषज्ञों से युक्त क्षेत्रीय अस्पताल पहुँचीं. हौसले और उम्मीद की अनोखी आपबीती...

ये भी ख़बरों में

शान्ति और सुरक्षा बलात्कार, हत्या, भूख से जूझ रहे लोग. सड़कों पर बिखरी हुई लाशों के बीच से गुज़रना दूभर. ठीक एक वर्ष पहले, 15 अप्रैल को सूडान एक ऐसे युद्ध के गर्त में धँस गया था, जो अब भी जारी है, और जिसमें अब तक क़रीब 15 हज़ार लोग अपनी जान गँवा चुके हैं. 80 लाख लोग विस्थापित हुए हैं, दो करोड़ 50 लाख लोगों को तात्कालिक सहायता की आवश्यकता है. वहीं, यूएन मानवतावादियों द्वारा अकाल की आशंका जताई जा रही है, राहत प्रयासों के मार्ग में बाधाएँ बरक़रार हैं और दोनों पक्षों द्वारा अंजाम दिए गए अत्याचार मामलों की सूची बढ़ती जा रही है.
एसडीजी संयुक्त राष्ट्र महासचिव और यूएन महासभा अध्यक्ष ने वैश्विक वित्तीय व्यवस्था में तत्काल, बड़े पैमाने पर सुधार लागू किए जाने की पुरज़ोर अपील की है, जिसके तहत विकासशील जगत में अरबों नागरिकों को कर्ज़ राहत के लिए नए तौर-तरीक़ों को अपनाया जाना अहम होगा.