वैश्विक

जलवायु को क्षति पहुँचाने वाले उद्योगों के लिये काम मत कीजिये – यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अमेरिका के न्यू जर्सी शहर में सीटन हॉल विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा है कि आज के कॉलेज स्नातक, उन चुनौतियों से सफलतापूर्वक निपटने वाली पीढ़ी बन सकते हैं, जिनका मुक़ाबला करने में उनकी पीढ़ी विफल रही है.

'सम्पन्न देशों में संसाधनों की अति-खपत', बच्चों के स्वास्थ्य पर जोखिम 

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि अधिकांश सम्पन्न देशों में संसाधनों का उपभोग अधिक होने से, विश्व भर में बच्चों के लिये अस्वस्थ, ख़तरनाक व हानिकारक परिस्थितियाँ उत्पन्न हो रही हैं. यूनीसेफ़ ने बच्चों के स्वास्थ्य व पर्यावरण की रक्षा व उनके लिये बेहतर माहौल सुनिश्चित करने के लिये सुझाव प्रस्तुत किये हैं. 

लोगों व पृथ्वी की ख़ातिर डिजिटल टैक्नॉलॉजी पर और ज़्यादा सहमति की दरकार

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक व शान्तिनिर्माण मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने सोमवार को कहा है कि डिजिटल टैक्नलॉजी ने एक तरफ़ तो टिकाऊ विकास, शिक्षा और समावेशन के लिये, सीमारहित अवसर पेश किये हैं, मगर उन्होंने आगाह भी किया कि इसके अनेक नकारात्मक पक्ष भी हैं.

वैश्विक रोज़गार व कामकाज पुनर्बहाली, पीछे की ओर पलटी, ILO

संयुक्त राष्ट्र की श्रम एजेंसी (ILO) ने सोमवार को कहा है कि दुनिया भर में रोज़गार और कामकाज बाज़ार में पुनर्बहाली पीछे की और जा रही है जिसके लिये कोविड-19 और अन्य अनेक तरह के संकट ज़िम्मेदार हैं जिन्होंने देशों के भीतर और देशों के बीच, विषमताएँ बढ़ा दी हैं.

विश्व में जबरन विस्थापितों की संख्या हुई 10 करोड़

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने सूचित किया है कि यूक्रेन युद्ध व अन्य संघर्षों के कारण, संघर्ष, हिंसा, मानवाधिकारों के उल्लंघन व उत्पीड़न से भागने के लिये मजबूर लोगों की संख्या, पहली बार 10 करोड़ के चौंका देने वाले आँकड़े पर पहुँच गई है. 

महामारी 'अभी ख़त्म नहीं हुई', स्वास्थ्य चुनौतियों से निपटने में सहयोग पर बल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने जिनीवा में 'विश्व स्वास्थ्य ऐसेम्बली' के 75वें वार्षिक सत्र को सम्बोधित करते हुए चेतावनी जारी की है कि कोविड-19 संक्रमण मामलों और मृतक संख्या में गिरावट के बावजूद अभी वैश्विक महामारी का अन्त नहीं हुआ है. उन्होंने वैश्विक स्वास्थ्य चुनौतियों से निपटने के लिये देशों के बीच पारस्परिक सहयोग को अहम बताया है.

प्रकृति के विरुद्ध 'नासमझी भरे, विनाशकारी युद्ध' का अन्त किये जाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने रविवार, 22 मई, को ‘अन्तरराष्ट्रीय जैविक विविधता दिवस’ के अवसर पर अपने सन्देश में, जैवविविधता की रक्षा व प्रकृति के साथ समरसतापूर्ण सम्बन्ध स्थापित करने और सर्वजीवन हेतु एक साझा, टिकाऊ भविष्य के निर्माण के लक्ष्य के साथ कारगर कार्रवाई का आहवान किया है.  

योरोप: मंकीपॉक्स के फैलाव पर नियंत्रण पाने के लिये प्रयास, WHO का समर्थन

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि अनेक योरोपीय देशों में वायरल बीमारी, मंकीपॉक्स के मामले सामने आने के बाद, रोग की निगरानी, रोकथाम व नियंत्रण के लिये एक साथ मिलकर प्रयास किये जा रहे हैं.

महामारी यात्रा पाबन्दियों में बदलाव के लिये, वैश्विक कार्रवाई की दरकार

प्रवासन में बेहतरी लाने के लिये काम कर रहे संयुक्त राष्ट्र के दो संगठनों के अध्यक्षों ने शुक्रवार को कहा है कि देशों को, महामारी के यात्रा उपायों को स्पष्ट, समान और नवीनतम बनाने के लिये सर्वसम्मति क़ायम करनी होगी. इन अधिकारियों ने, न्यूयॉर्क स्थित यूएन मुख्यालय में अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन समीक्षा फ़ोरम के दौरान आयोजित एक अन्य कार्यक्रम में ये पुकार लगाई.

खाद्य असुरक्षा, समाजों में अस्थिरता व हिंसक संघर्षों के भड़कने की वजह

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने ध्यान दिलाया है कि विश्व में, अल्पपोषण से पीड़ित लगभग 60 फ़ीसदी आबादी, हिंसा प्रभावित इलाक़ों में रहती है और इससे कोई देश अछूता नहीं है. यूएन प्रमुख ने ‘हिंसक संघर्ष व खाद्य सुरक्षा’ के मुद्दे पर गुरूवार को सुरक्षा परिषद में आयोजित एक चर्चा को सम्बोधित करते हुए क्षोभ व्यक्त किया कि जब युद्ध होता है, तो लोगों को भूख की मार झेलनी पड़ती है.