वीडियो हब (VIDEO HUB)
यूएन हिन्दी न्यूज़ की मल्टीमीडिया सामग्री...

परिधान उद्योग में प्रकृति-आधारित समाधानों को बढ़ावा

हरित और टिकाऊ फ़ैशन की पैरोकार रूना रे, परिधान उद्योग में कार्बन फ़ुटप्रिन्ट घटाने और जल की बर्बादी रोकने के लिये समाधानों को बढ़ावा दे रही हैं. उन्होंने हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के ‘एसडीजी एक्शन फ़ेस्टिवल’ के दौरान, प्रकृति-आधारित टिकाऊ फ़ैशन समाधानों के अपने अनुभवों को साझा किया. इस आयोजन का उद्देश्य, टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति की दिशा में कार्रवाई को आगे बढ़ाना है. पेश है यूएन हिन्दी न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत...

 

भारत: वैक्सीन उत्पादन बढ़ाने की ज़रूरत

भारत में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) की प्रतिनिधि, डॉक्टर यासमीन अली हक़ ने, कोविड-19 संकट के दौरान, सबसे अहम ज़रूरतों पर ध्यान केन्द्रित करते हुए, देश में टीकाकरण जारी रखने पर बल दिया है. उन्होंने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में ज़ोर देकर कहा कि वैश्विक महामारी पर जवाबी कार्रवाई के तहत, सभी देशों को एक साथ मिलकर, वैक्सीन उत्पादन का दायरा व स्तर बढ़ाने के लिये रणनीति बनानी चाहिये.

 

म्याँमार: खाद्य सहायता की कोशिशें

म्याँमार में संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम - WFP के उप निदेशक, मारकस प्रायर ने कहा है कि अगले छह महीनों में, 34 लाख से अधिक लोग, विभिन्न स्तरों पर खाद्य असुरक्षा के शिकार हो सकते हैं. यूएन खाद्य एजेंसी का कहना है कि वो खाद्य असुरक्षा के शिकार लोगों तक पर्याप्त सहायता पहुँचाने के इन्तज़ाम कर रही है. वीडियो रिपोर्ट...

भारत: यूएन मदद में सक्रिय

भारत में अप्रैल महीने के दौरान, कोविड-19 की दूसरी लहर ने भीषण तबाही मचा दी है. भारत में विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि, डॉक्टर रॉड्रिको एच ऑफ्रिन का कहना है कि कोविड-उपयुक्त व्यवहार ही इस महामारी के रोकथाम की कुंजी है. वीडियो रिपोर्ट...

'मीडिया-लोकतांत्रिक समाजों की आधारशिला'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को तमाम देशों की सरकारों से आग्रह किया है कि वो स्वतंत्र, निष्पक्ष और विविधतापूर्ण मीडिया को समर्थन व सहयोग देने के लिये, वो सब सुनिश्चित करें, जो उनकी शक्ति के अन्तर्गत किया जा सकता है. यूएन मानवाधिकार उच्चायुक्त ने भी मीडिया को, “लोकतांत्रिक समाजों की आधारशिला” बताया है.

कोविड-19: कुछ अहम सवाल-जवाब

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत में, अप्रैल महीने में, कोविड-19 के संक्रमण की दूसरी लहर देखे जाने के मद्देनज़र, ऐहतियाती उपाय अपनाए जाने और उनके बारे में और ज़्यादा जागरूकता पर भी ख़ासा ज़ोर दिया है. जिनीवा से पेश किये गए इस कार्यक्रम की वीडियो प्रस्तुति...

पेरिस जलवायु समझौते पर एक वीडियो नज़र...

पेरिस जलवायु समझौता, देशों को नैट शून्य कार्बन उत्सर्जन के लिये अपने स्वयं के रास्ते बनाने देता है. यह राष्ट्रों, व्यवसायों और लोगों के ऊपर है कि वे यह करने के नए तरीक़े खोजें. ऊर्जा उत्पादन से लेकर परिवहन, विनिर्माण और खेती तक. एक वीडियो परिचय...

'मेरा शरीर, मेरा फ़ैसला’

संयुक्त राष्ट्र की एक नई प्रमुख रिपोर्ट में, व्यक्तियों की शारीरिक स्वायत्तता की पुकार लगाई गई है. इस मुद्दे पर पहली बार ध्यान केन्द्रित करते हुए, यूएन जनसंख्या कोष (UNFPA) की प्रमुख रिपोर्ट, ख़ुद के शरीर के बारे में, ख़ुद के निर्णय लेने की शक्ति और पसन्द की पुकार लगाती है. और ये शक्ति, हिंसा के डर के बिना, व किसी अन्य को ये फ़ैसला करने का अधिकार दिये बिना मिले.

कोविड-19: समर्पण भाव से सेवारत स्वास्थ्यकर्मियों की सराहना

वैश्विक महामारी कोविड-19 पर जवाबी कार्रवाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे स्वास्थ्यकर्मियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. भारत में यूएन एजेंसियों ने बुधवार, 7 अप्रैल, को ‘विश्व स्वास्थ्य दिवस’ के अवसर पर निस्वार्थ भाव से अपने कार्य में जुटे इन ‘नायकों’ का आभार व्यक्त किया है.   

रोहिंज्या शरणार्थी शिविर में भीषण आग

बांग्लादेश के कॉक्सेस बाज़ार के कुटुपलाँग शिविर में, 22 मार्च को भीषण आग लगने से, कम से कम 15 लोगों की मौत हुई और 560 से ज़्यादा घायल हुए. महाशिविर में आग लगने से 45 हज़ार से ज़्यादा लोग विस्थापित हुए हैं, जिनमें अधिकतर लोग, पड़ोसी देश म्याँमार से शरण लेने वाले रोहिंज्या शरणार्थी हैं. एक वीडियो रिपोर्ट.

PHOTOS FROM वीडियो - हब (Video - Hub)