कोविड-19: चीन में संक्रमण मामलों में उछाल, WHO विशेषज्ञों की अहम बैठक

चीन के मकाऊ में कोविड-19 की रोकथाम करने वाली वैक्सीन का टीकाकरण कराता एक व्यक्ति.
Macau Photo Agency
चीन के मकाऊ में कोविड-19 की रोकथाम करने वाली वैक्सीन का टीकाकरण कराता एक व्यक्ति.

कोविड-19: चीन में संक्रमण मामलों में उछाल, WHO विशेषज्ञों की अहम बैठक

स्वास्थ्य

चीन में कोविड-19 संक्रमण मामलों में तेज़ उछाल के समाचारों के बीच, संयुक्त राष्ट्र स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) के विशेषज्ञों की मंगलवार को एक बैठक हो रही है, जिसमें आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी.  

जिनीवा में विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रवक्ता ने बताया कि कोविड-19 पर तकनीकी परामर्श समूह की एक बैठक में हिस्सा लेने के लिये चीन के वैज्ञानिकों को भी आमंत्रित किया गया है.  

जून 2020 में गठित किये गए इस समूह का दायित्व यूएन स्वास्थ्य एजेंसी और सदस्य देशों को कोरोनावायरस के रूप एवं प्रकार में आने वाले बदलावों और नए वैरिएंट के बारे में जानकारी व सलाह देना है.

इस समूह की अन्तिम बैठक अक्टूबर 2022 में हुई थी.

उच्चस्तरीय बैठक

यूएन एजेंसी ने इससे पहले अपने एक वक्तव्य में कहा था कि जिनीवा मुख्यालय में विशेषज्ञों की बैठक में चीनी वैज्ञानिकों को आमंत्रित किया गया है, जहाँ वे वायरस की सीक्वेंसिंग सम्बन्धी विस्तृत जानकारी साझा करेंगे.

विश्व स्वास्थ्य संगठन और चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच, 30 दिसम्बर को एक उच्चस्तरीय बैठक हुई, जहाँ उनसे चीन में मौजूदा हालात में कोविड-19 पर रणनीति पर और जानकारी मांगी गई थी.

संगठन ने चीन से विशेष रूप से वायरस की सीक्वेंसिंग व्यवस्था को मज़बूत करने, उपचार प्रबन्धन और कोविड-19 मामलों में आए उछाल व उसके असर का आकलन करने के लिये कहा है.

पारदर्शिता अहम

पिछले शुक्रवार को, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने अपने एक ट्वीट सन्देश में कहा कि उनकी टीम ने फिर से पारदर्शिता की अहमियत को रेखांकित किया है.

इस क्रम में, सटीक जोखिम मूल्यांकन और कारगर जवाबी उपायों के लिये नियमित रूप से जानकारी साझा किये जाने पर बल दिया गया है. 

यूएन एजेंसी ने इन क्षेत्रों में हरसम्भव समर्थन प्रदान करने का प्रस्ताव दिया है, और इसके साथ ही, चीन में वैक्सीन की ख़ुराक लेने में पसरी हिचकिचाहट से उबरने में मदद की पेशकश भी की है.

बताया गया है कि चीन ने, लम्बे समय तक ‘शून्य कोविड’ नीति अपनाए जाने के बाद, अब कोविड-19 पर पार पाने के लिये अपनी रणनीति बदली है.

संगठन ने ज़ोर देकर कहा है कि चीन और वैश्विक समुदाय को जोखिमों की सटीक समीक्षा के लिये सामयिक जानकारी प्रकाशित की जानी होगी और हालात की निगरानी करनी होगी.