लैंगिक समानता पर 'उत्कृष्ट' कार्य के लिए ब्राज़ीलियाई शांतिरक्षक को सम्मान

26 मार्च 2019

मध्य अफ़्रीका गणराज्य में लैंगिक मुद्दों पर सलाहकारों और संपर्क बिंदुओं के नेटवर्क को तैयार करने में अहम भूमिका निभाने वालीं ब्राज़ील की एक यूएन शांतिरक्षक को विशेष पुरस्कार के लिए चुना गया है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, नौसेना अधिकारी लेफ़्टिनेंट कमांडर मार्सिया अंड्राजे ब्रागा को 'यूएन मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ़ द इयर' अवॉर्ड से सम्मानित करेंगे.

शांतिरक्षा पर मंत्रिस्तरीय सम्मेलन के दौरान शुक्रवार को न्यूयॉर्क के संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में लैंगिक अधिकारों की वकालत के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया.

अवॉर्ड से सम्मानित किए जाने की सूचना मिलने पर लेफ़्टिनेंट कमांडर ब्रागा ने मध्य अफ़्रीका गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र स्थायीकरण मिशन (MINUSCA) के अपने साथियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा, "इसके लिए चुने जाने से मैं बेहद गर्वित हू्ं."

"संयुक्त राष्ट्र मिशनों को और महिला शांतिरक्षकों की आवश्यकता है ताकि स्थानीय महिलाएं उन विषयों के बारे में खुलकर बात कर सकें जिनसे उनका जीवन प्रभावित होता है."

यूएन मिशन में अप्रैल 2018 से लैंगिक सलाहकार के रूप में कार्यरत लेफ़्टिनेंट कमांडर ब्रागा ने मिशन की सैन्य टुकड़ियों में प्रशिक्षण प्राप्त लैंगिक सलाहकारों और संपर्क बिंदुओं के नेटवर्क को विकसित किया है. साथ ही उन्होंने देश भर में हालात पर नज़र रखने के लिए गश्त लगाने वाले दलों में महिलाओं और पुरुषों की मिश्रित टीमों को बनाए जाने पर बल दिया है.

इन टीमों ने महत्वपूर्ण जानकारी एकत्र की है जिससे स्थानीय महिलाओं, पुरुषों, लड़कों और लड़कियों की संरक्षण और सुरक्षा से जुड़ी विशेष ज़रूरतों को समझने में मदद मिली है और कमज़ोर समुदायों की मदद के लिए सामुदायिक परियोजनाओं को विकसित कर पाना संभव हुआ है.

इन प्रयासों के तहत विकसित परियोजनाओं में गांवों में पानी के पंप, सौर ऊर्जा चलित प्रकाश व्यवस्था और सामुदायिक बागों पर ध्यान दिया गया है और फ़सलों की देखरेख के लिए महिलाओं द्वारा तय की जाने वाली दूरियों को कम करने का प्रयास किया गया है.

MINUSCA/Hervé Serefio
ब्राज़ीलियाई शांतिरक्षक लेफ़्टिनेंट कमांडर मार्सिया अंड्राडे ब्रागा मध्य अफ़्रीका गणराज्य में यूएन मिशन में कार्यरत हैं.

लेफ़्टिनेंट कमांडर ब्रागा ने यूएन मिशन (MINUSCA) के शीर्ष नेतृत्व और स्थानीय महिला नेताओं के बीच पारस्परिक संपर्क बढ़ाने के लिए अहम कदम उठाए हैं. जिससे मध्य अफ़्रीकी महिलाओं की आवाज़ को शांति प्रक्रिया तक पहुंचा पाना सुनिश्चित हुआ है.

पहले एक शिक्षक के रूप में काम करने के अनुभव ने उन्हें अपने साथी कर्मचारियों की लैंगिक मुद्दों पर बेहतर समझ विकसित करने और ज़रूरी प्रशिक्षण देने में भी मदद की है. 

संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान प्रमुख ज़्यां पियरे लाक्रोआ ने कहा, "मार्सिया अंड्राडे ब्रागा एक उत्कृष्ट उदाहरण है जो दिखाता है कि हमें शांतिरक्षक अभियानों में और महिलाओं की आवश्यकता क्यों है: शांतिरक्षा तब बेहतर ढंग से होती है जब महिलाएं अर्थपूर्ण भूमिकाएं अदा करती हैं और स्थानीय समुदायों की महिलाओं से बेहतर ढंग से सीधे संपर्क साधा जाता है."

इस पुरस्कार की शुरुआत 2016 में हुई जिसका उद्देश्य सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव संख्या 1325 के सिद्धांतों के प्रचार-प्रसार में शांतिरक्षकों के समर्पण और प्रयासों को पहचान और सम्मान दिया जाता है. 

यह प्रस्ताव मुख्य रूप से महिलाओं, शांति और सुरक्षा पर केंद्रित है जिसमें तीन प्रमुख बिंदुओं पर बल दिया गया है: संघर्ष की रोकथाम; महिलाओं और उनके अधिकारों का संघर्ष के दौरान और उसके बाद संरक्षण; और संघर्ष को सुलझाने के लिए सभी प्रक्रियाओं में महिलाओं की हिस्सेदारी को बढ़ाना.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लि/s यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड