यूएन मिशन

मोगादिशु में आत्मघाती कार बम हमले के बाद घटनास्थल पर मलबा. (फ़ाइल फ़ोटो)
UN Photo/Stuart Price

सोमालिया: मोगादिशु में ‘जघन्य’ बम हमलों की कठोर निंदा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में शनिवार को हुए बम धमाकों में 100 से अधिक लोगों की मौत होने और बड़ी संख्या में लोगों के घायल होने पर गहरा दुख प्रकट किया है.

काबुल के दश्त-ऐ-बरछी इलाक़े में स्थित शिक्षण केन्द्र में लड़कियाँ पढ़ाई कर रही हैं.
© UNICEF/Shehzad Noorani

अफ़ग़ानिस्तान: काबुल में शिक्षण केन्द्र पर 'भयावह' हमले की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में आत्मघाती बम हमले की निन्दा की है, जिसमें 20 से अधिक लोगों की मौत हुई है. नवीनतम समाचारों के अनुसार मृतकों में अधिकतर युवा महिलाएँ है, जो एक शिक्षण केन्द्र पर परीक्षाओं की तैयारियों में जुटी थीं.

दक्षिण कोरिया के इंजीनियर, दक्षिण सूडान में परिवहन बुनियादी ढाँचे को बहाली के तहत एक सड़क की मरम्मत करते हुए. (फ़ाइल फ़ोटो)
UNMISS/Amanda Voisard

विश्वसनीय सूचना ‘जीवन व मृत्यु का एक मामला’

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद में ‘सूचना तक पहुँच’ को एक मानवाधिकार बताते हुए रेखांकित किया कि शान्तिरक्षकों के लिये, ये स्थिति जीवन और मृत्यु का मामला हो सकता है, और शान्ति व युद्ध के बीच अन्तर का भी.

दक्षिण सूडान के मालाकल में एक महिला यूएन शान्तिरक्षक.
UNMISS\Janet Adongo

दक्षिण सूडान: लैफ़्टिनेण्ट जनरल मोहन सुब्रमण्यम, यूएन मिशन के नए फ़ोर्स कमाण्डर

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने भारतीय सैन्य अधिकारी लैफ़्टिनेण्ट जनरल मोहन सुब्रमण्यम को दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNMISS) के नए फ़ोर्स कमाण्डर के रूप में नियुक्त किये जाने की घोषणा की है.

अफ़ग़ानिस्तान के पक्तिका प्रान्त में 5.9 की तीव्रता वाले भूकम्प से ध्वस्त एक घर.
© UNICEF/Ali Nazari

अफ़ग़ानिस्तान: तालेबान से बातचीत ही है 'आगे बढ़ने का एकमात्र रास्ता'

संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरूवार को सुरक्षा परिषद में सदस्य देशों को जानकारी देते हुए बताया है कि अफ़ग़ानिस्तान में विनाशकारी भूकम्प, देश के समक्ष मौजूद अनेक आपात परिस्थितियों में से एक है, जिनसे बाहर निकलने के लिये यह ज़रूरी है कि तालेबान प्रशासन के साथ सम्वाद जारी रखा जाए.

चाड के कैप्टन अब्देलरज़्ज़ाख़ हामित बहार.
Courtesy Hamid Bahr Ahmar

चाड के शान्तिरक्षक को अपूर्व साहस के लिये मरणोपरान्त सम्मान पदक

कैप्टन अब्देलरज़ाख़ हमीत बहार ने अप्रैल 2021 में, माली के अगुएलहोक सुपर कैम्प पर एक सशस्त्र समूह के हमले के दौरान, सैकड़ों नागरिकों और शान्तिरक्षकों की रक्षा के लिये एक ऑपरेशन का नेतृत्व किया. उस हमले में उन्हें भी गोली लगी और उनकी मौत हो गई. कैप्टन अब्दल रज़ाख़ को असाधारण साहस के लिये, 26 मई को न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक समारोह में, कैप्टन म्बाये डायग्ने मैडल से मरणोपरान्त सम्मानित किया गया.

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस 2022 के अवसर पर अपने श्रृद्धासुमन अर्पित किये.
UN Photo/Mark Garten

संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षकों की सेवा, साहस व बलिदान का सम्मान

संयुक्त राष्ट्र ने 29 मई को मनाये जाने वाले अन्तरराष्ट्रीय यूएन शान्तिरक्षक दिवस के लिये, गुरूवार को न्यूयॉर्क में आयोजित एक समारोह में, विश्व के सर्वाधिक ख़तरनाक स्थानों पर यूएन के झण्डे तले सेवाएँ प्रदान करने वाले शान्तिरक्षकों को श्रृद्धांजलि अर्पित की है.   

अफ़ग़ानिस्तान के हेरात में एक खाद्य वितरण केन्द्र पर, कुछ महिलाएँ खाद्य सामग्री प्राप्त करते हुए.
© UNICEF/Sayed Bidel

अफ़ग़ानिस्तान: महिलाओं को चेहरा ढकने और घर पर रहने के तालेबानी आदेश पर चिन्ता

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन (UNAMA) ने तालेबान प्रशासन की उस घोषणा पर गहरी चिन्ता व्यक्त की है, जिसमें महिलाओं को आवश्यकता होने पर ही घर से बाहर निकलने और सार्वजनिक स्थलों पर अपना चेहरा ढकने की बात कही गई है. 

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में, सूर्यास्त का एक दृश्य.
Unsplash/Matt Brown

अफ़ग़ानिस्तान: काबुल की मस्जिद पर हमला, आमजन के लिये एक और 'दर्दनाक झटका'

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में शुक्रवार को एक सूफ़ी मस्जिद में हुए घातक विस्फोट की निन्दा की है, जिसमें कम से कम 10 लोगों के मारे जाने और 15 से अधिक के घायल होने का समाचार है.

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल का एक नज़ारा.
Photo UNAMA/Fardin Waezi

अफ़ग़ानिस्तान में हमलों की निन्दा, आमजन को निशाना बनाए जाने का 'चिन्ताजनक रुझान'

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान में गुरूवार को बल्ख़, काबुल और कुन्दूज़ प्रान्तों में हुए तीन अलग-अलग हमलों की कठोर निन्दा की है, जिनमें कम से कम 30 लोगों की मौत हुई है और अनेक घायल हुए हैं. अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन ने आगाह किया है कि आम नागरिकों के विरुद्ध हमले एक चिन्ताजनक रुझान दिखाते हैं.