लाइबेरिया द्वारा माली में शांतिरक्षक भेजने पर समझौता

24 जुलाई 2019

माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) के लिए शांतिरक्षकों की सेवाएं मुहैया कराने के सिलसिले में लाइबेरिया और संयुक्त राष्ट्र में एक औपचारिक समझौता हुआ है. अशांति और हिंसा से जूझते लाइबेरिया में कई दशकों तक शांतिरक्षकों की तैनाती रही है लेकिन अब लाइबेरिया अपने अतीत से आगे बढ़ते हुए अन्य देशों में शांतिरक्षा अभियानों में योगदान दे रहा है जिसे कई मायनों में अहम माना जा रहा है.  

संयुक्त राष्ट्र में माली के राजदूत डी-मैक्सवेल साह केमायाह ने कभी युद्ध से बदहाल रहे पश्चिम अफ़्रीकी लाइबेरिया के लिए इस पल को बेहद महत्वपूर्ण क़रार दिया.

राजदूत केमायाह ने संयुक्त राष्ट्र शांति अभियान सहायता विभाग (UNDOS) के प्रमुख अतुल खरे के साथ एक सहमति पत्र (MoU) पर हस्ताक्षर किए जिसमें माली में यूएन अभियान के लिए लाइबेरिया की ओर से ‘फ़ोर्स प्रोटेक्शन कंपनी’ के योगदान का उल्लेख है.

उनके मुताबिक़ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर माली में शांतिरक्षा की दिशा में हो रही पहलों के लिए संयुक्त राष्ट्र और लाइबेरिया के संकल्प को दर्शाता है.

उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि इस समझौते से लाइबेरिया में सशस्त्र बलों की क्षमता को बढ़ाया जा सकेगा ताकि वे माली में समुचित रूप से मिशन में अपना योगदान दे सकें और सामूहिक और एकजुट ढंग से यूएन मिशन के उद्देश्यों को हासिल कर सकें.

शांतिअभियान सहायता विभाग के प्रमुख और अवर महासचिव अतुल खरे ने मंगलवार को समझौते पर हस्ताक्षर होने के बाद बताया कि “शांति पथ पर लाइबेरिया का आगे बढ़ना सयुंक्त राष्ट्र शांतिरक्षा का एक सकारात्मक प्रभाव दर्शाता है – एक ऐसा देश जो अशांति से स्थिरता की ओर बढ़ा और आज अन्य ज़रूरतमंद देशों की सहायता में मुख्य साझेदार है.”

लाइबेरियाई शांतिरक्षकों के इस दल में 105 शांतिरक्षक होंगे जो टिम्बकटू में अक्टूबर 2016 से कार्यरत हैं.

इसी महीने, संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने लाइबेरिया में यूएन मिशन (UNMIL) के पूरी तरह समाप्त होने और संकट और लोगों द्वारा अशांति के रास्ते से हटकर एक नई दिशा में क़दम आगे बढ़ाने का स्वागत किया था.

लाइबेरिया में 1989 से 2003 के बीच दो बार गृहयुद्ध हुआ और वहां शांति क़ायम रखने के प्रयासों के दौरान 202 शांतिरक्षकों ने अपनी जान गंवाई.

सहमति पत्र पर हस्ताक्षर होने के समय संयुक्त राष्ट्र ने सेवा और बलिदान के लिए लाइबेरियाई शांतिरक्षक उस्मान अंसु शरीफ़ को श्रृद्धांजलि दी जिनकी 2017 में टिम्बकटू में मिशन कैंप पर हमले के दौरान मौत हो गई थी.

माली और दक्षिण सूडान में यूएन अभियानों में लाइबेरिया का 118 वर्दीधारी शांतिरक्षकों का योगदान दे रहा है जिसमें 10 फ़ीसदी महिलाए हैं.

फ़िलहाल शांतिरक्षा के क्षेत्र में यूएन ने 80 देशों के साथ 321 सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किए हैं.

संयुक्त राष्ट्र प्रबंधन में सुधार के लिए यूएन प्रमुख के प्रयासों के तहत अभियान सहायता विभाग  1 जनवरी 2019 को गठित किया गया था.

यह विभाग सदस्य देशों को शांतिरक्षा अभियानों के संचालन के लिए ज़रूरी क्षमताएँ मुहैया कराता है.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड