कोरोनावायरस से निपटने की तैयारी में कोताही ना बरतने की अपील

21 फ़रवरी 2020

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोनावायरस (COVID-19) के ऐसे मामलों के पता चलने पर चिंता ज़ाहिर की है जिनमें संक्रमित मरीज़ों का चीन से सीधा संबंध नहीं था. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी प्रमुख टैड्रोस एडहेनॉम घेबरेयेसस  ने ज़ोर देकर कहा है कि देशों को जितना समय मिला है उसका पूरा लाभ उठाते हुए पुख़्ता तैयारी सुनिश्चित की जानी चाहिए.

चीन में COVID-19 के संक्रमण के अब तक 75 हज़ार 567 मामलों की पुष्टि हो चुकी है और दो हज़ार 239 लोगों की मौत हुई है.

पिछले 24 घंटों में चीन में संक्रमण के 892 नए मामले सामने आए हैं और 118 मौतें हुई हैं.

चीन से बाहर 25 देशों में एक हज़ार 152 मामलों की पुष्टि हुई है और अब तक आठ लोगों की मौत हुई है.

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के महानिदेशक टैड्रोस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने के मुताबिक चीन से बाहर अन्य देशों में वायरस से संक्रमण के मामले अपेक्षाकृत कम हैं.

लेकिन ऐसे संक्रमित मरीज़ों का पता चला है जिन्होंने चीन की यात्रा नहीं की थी या किसी पीड़ित के संपर्क में भी नहीं थे. 

“इसे फैलने से रोकने के लिए हमें जो समय मिला है उसका हमें लाभ उठाना होगा. हम समय पर कार्रवाई नहीं कर पाने का अफ़सोस बाद में ज़ाहिर नहीं करना चाहेंगे.”

इस वायरस के फैलने से उपजी चुनौती से निपटने में स्वास्थ्य संगठन की प्रमुख भूमिका वैश्विक कार्रवाई में समन्वय सुनिश्चित करने की है.

इसी उद्देश्य से चार नए दूत नियुक्त किए गए हैं जो विश्व के अन्य हिस्सों में रणनीतिक परामर्श व उच्चस्तरीय राजनैतिक समर्थन की दिशा में काम करेंगे.

बढ़ते मामले

जापान के योकोहामा में डामंडम प्रिंसेस क्रूज़ जहाज़ (634 मामले) के अलावा अब दक्षिण कोरिया में सबसे बड़ी संख्या में मामले (156) सामने आ रहे हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन संक्रमण फैलने पर क़ाबू पाने में सरकारों के साथ मिलकर प्रयास कर रहा है.

ईरान में भी संक्रमण फैल रहा है और पिछले दो दिनों में 18 मामलों का पता चला है, चार लोगों की मौत हो चुकी है. यूएन स्वास्थ्य एजेंसी परीक्षण किटों के अलावा अन्य सहायता मुहैया करा रही है.

बताया गया है कि नए मामलों में कमी इसलिए आई है क्योंकि चीन ने अपने रिपोर्टिंग के तरीक़ों में बदलाव किए हैं.

पिछले हफ़्ते से चीन लैब में परीक्षण के साथ-साथ क्लीनिक में सीटी स्कैन जैसे टेस्ट के ज़रिए भी संक्रमण के मामलों का पता लगा रहा था.

लेकिन अब फिर से पुराने तरीक़े को अपनाते हुए संदिग्ध और लैब में परीक्षण किए गए मामलों के बारे मे बताया जा रहा है.

संक्रमण से सबसे ज़्यादा प्रभावित चीन के हुबेई प्रांत में मामलों में गिरावट के बावजूद शैेंगदोंग प्रांत में संक्रमण में बढ़ोत्तरी देखे जाने पर चिंता बरक़रार है. 

स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने बताया कि कमज़ोर स्वास्थ्य प्रणालियों वाले देशों को मदद की ज़्यादा ज़रूरत है क्योंकि COVID-19 के वहां भी फैलने का ख़तरा है

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिये यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एण्ड्रॉयड