चीन: कोरोना वायरस के स्रोत का पता लगाने की अपील

13 जनवरी 2020

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि चीन के लिए यह ज़रूरी है कि कोरोना वायरस के फैलने के स्रोत का पता लगाया जाए जिससे अनेक लोगों के प्रभावित होने के मामले सामने आए हैं. यूएन एजेंसी ने अपने बयान में चीन के वूहान से यात्रा कर रहे एक ऐसे व्यक्ति की भी शिनाख़्त की है जिसे 8 जनवरी को संक्रमण के कारण थाईलैंड के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

बताया गया है कि कोरोना वायरस वूहान में फैलना शुरू हुआ और चीन में कई अनेक लोग इससे संक्रमित हुए हैं. इस वायरस से एक व्यक्ति की मौत होने की ख़बर भी शनिवार को चीन के मीडिया में सामने आई थी.

यूएन एजेंसी के प्रमुख टेड्रोस अधानोम घेब्रेयेसस ताज़ा घटनाक्रम के मद्देनज़र एजेंसी की आपात समिति के सदस्यों के साथ विचार-विमर्श करने की योजना बना रहे हैं और जल्द ही समिति की एक बैठक बुला सकते हैं.

क्या है कोरोना वायरस

कोरोना वायरस उस वायरस समहू का एक हिस्सा है जिससे सामान्य सर्दी-खांसी से लेकर घातक बीमारियां हो सकते हैं.

वर्ष 2003 में एशिया में एक ऐसा ही 'सार्स वायरस', Severe Acute Respiratory Syndrome, फैला था जिसका फैलाव उत्तर अमेरिका, दक्षिण अमेरिका और योरोप तक में देखा गया.

कोरोना वायरस का संक्रमण आम तौर पर पशुओं और लोगों में होता है और अभी ऐसे कई वायरस हैं जो पशुओं में हैं लेकिन उनसे लोग संक्रमित नहीं हुए हैं.

इसके लक्षणों में बुख़ार, खांसी, सांस फूलना और सांस लेने में दिक़्कतें जैसे लक्षण शामिल हैं.

हालत बिगड़ने पर संक्रमण न्यूमोनिया की वजह बन सकता है जिससे किडनी ख़राब होने के अलावा मौत तक हो सकती है.

स्वास्थ्य संगठन ने सोमवार को जारी एक बयान में आशंका जताई कि चीन के अलावा अन्य देशों में भी इस वायरस के मामले सामने आ सकते हैं और इस नज़रिए से निगरानी व तैयारी पर ज़ोर दिया गया है.

चीन में प्रशासन और यूएन एजेंसी के लिए वायरस संक्रमण को रोकना इसलिए भी चुनौतीपूर्ण हो सकता है क्योंकि फ़िलहाल वसंत उत्सव (स्प्रिंग फ़ेस्टिवल) और चीनी नववर्ष का समय है और इस दौरान लाखों-करोड़ों की संख्या में लोग एक शहर से दूसरे शहर जाते हैं.

यूएन स्वास्थ्य एजेंसी ने नए वायरस से पीड़ित व्यक्ति की पहचान करने और उपचार करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं.

इनमें नियमित रूप से हाथ धोना, छींकते व खांसते हुए नाक व मुंह को ढंकना, मीट और अंडो को अच्छी तरह से पकाना और श्वसन तंत्र से संबंधित किसी भी बीमारी के लक्षण दिखा रहे व्यक्ति से दूरी बरतना जैसे उपाय शामिल हैं.

 

♦ समाचार अपडेट रोज़ाना सीधे अपने इनबॉक्स में पाने के लिए यहाँ किसी विषय को सब्सक्राइब करें
♦ अपनी मोबाइल डिवाइस में यूएन समाचार का ऐप डाउनलोड करें – आईफ़ोन iOS या एंड्रॉयड