विश्व स्वास्थ्य संगठन

दुनिया भर में मौखिक बीमारियों से साढ़े तीन अरब लोग प्रभावित हैं.
© WHO

विश्व भर में, साढ़े तीन अरब लोग मौखिक बीमारियों से प्रभावित, WHO रिपोर्ट

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा शुक्रवार को प्रकाशित एक नई रिपोर्ट दर्शाती है कि विश्व भर में साढ़े तीन अरब लोग मौखिक रोगों (oral diseases) से पीड़ित हैं. हर चार में से तीन पीड़ित निम्न- और मध्य-आय वाले देशों में रहते हैं.

पाकिस्तान में जून 2022 में भीषण वर्षा के बाद बाढ़ और भूस्खलन की घटनाएँ हुईं जिनसे व्यापक नुक़सान हुआ है.
© WFP/Saiyna Bashir

पाकिस्तान: भीषण बाढ़ से प्रभावित इलाक़ों में संक्रामक बीमारियाँ फैलने का ख़तरा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि अभूतपूर्व स्तर पर बाढ से प्रभावित पाकिस्तान में विशाल स्वास्थ्य जोखिम पनप रहे हैं. बाढ़ की चपेट में आए इलाक़ों में मलेरिया, डेंगू बुखार और अन्य जल-जनित बीमारियों के फैलने का ख़तरा उत्पन्न हो गया है.

स्वास्थ्यकर्मी, बेबी दाभोधिया, पूरे दिन कोविड-19 के ख़िलाफ़ लोगों का टीकाकरण करने में व्यस्त रहती हैं.
© UNICEF/Sandeep Biswas

कोविड-19: भारत में दो अरब टीके दिये जाने का आँकड़ा पार

भारत में संयुक्त राष्ट्र ने, देश में कोविड-19 टीकाकरण मुहिम के तहत, लोगों को दो अरब वैक्सीन ख़ुराकें दिये जाने का आँकड़ा पार होने पर बधाई दी है. भारत में संयुक्त राष्ट्र के रैज़िडेण्ट कोऑर्डिनेटर, शॉम्बी शार्प ने कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में इसे एक अहम पड़ाव मानते हुए बड़ी कामयाबी क़रार दिया है. 

उत्तरी कश्मीर में एक स्वास्थ्यकर्मी, कंपकपाती ठण्ड और बर्फ़बारी का सामना करते हुए, भारत के दूरदराज़ के इलाक़ों के लोगों को टीका लगा रही हैं.
UNICEF/Nanda

स्वास्थ्य व देखभाल कार्यों में महिलाएँ अधिक, लेकिन पुरुषों की तुलना में 24% कम वेतन

संयुक्त राष्ट्र की दो एजेंसियों एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि स्वास्थ्य और देखभाल क्षेत्र में काम करने वाली महिलाएँ, अपने पुरुष समकक्षों की तुलना में लगभग 25 प्रतिशत कम आय अर्जित करती हैं – जो कि अन्य आर्थिक क्षेत्रों की तुलना में वेतन में एक बड़ा लैंगिक अन्तर है.

मंकीपॉक्स का संक्रमण कभी-कभार ही सामने आता है, मगर यह ख़तरनाक साबित हो सकता है.
© Maurizio de Angelis/Science photo library

मंकीपॉक्स के फैलाव और ख़तरे की गम्भीरता पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों की बैठक

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने मंकीपॉक्स वायरस के फैलाव से उपजी स्थिति पर विचार-विमर्श के लिये अन्तरराष्ट्रीय स्वास्थ्य नियामक आपात समिति की बैठक बुलाए जाने की घोषणा की है. मंकीपॉक्स के मामलों की उन 32 देशों में भी पुष्टि हुई है, जहाँ आमतौर पर इसके संक्रमण के मामले सामने नहीं आते हैं.    

वियतनाम के एक स्कूल में बच्चे साबुन और साफ़ पानी से अपने हाथों की धुलाई कर रहे हैं.
© UNICEF/Truong Viet Hung

स्वास्थ्य रक्षा व संक्रमण से बचाव के लिये, हाथों की स्वच्छता पर बल

हाथों की बेहतर साफ़-सफ़ाई और संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण उपायों की मदद से स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों व अस्पतालों में होने वाले संक्रमण के 70 फ़ीसदी मामलों की रोकथाम की जा सकती है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने संक्रमण रोकथाम व नियंत्रण पर अपनी पहली रिपोर्ट प्रकाशित की है, जिसे अन्य वैज्ञानिकों रिपोर्टों और अध्ययनों से प्राप्त तथ्यों के आधार पर तैयार किया गया है. 

मारियुपोल में भीषण गोलाबारी के बीच, शौच निवृत्ति के लिये एक गढ्ढे का इस्तेमाल किया.
© Alina Beskrovna

यूक्रेन: मारियुपोल में फँसे आमजन की सुरक्षित निकासी के लिये सहायता अभियान

यूक्रेन में मानवीय राहत मामलों में संयोजन के लिये यूएन कार्यालय (OCHA) का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र और रैड क्रॉस (ICRC) के द्वारा यूक्रेन के बन्दरगाह शहर मारियुपोल में ऐज़ोवस्टाल स्टील प्लांट में फँसे हताश नागरिकों को सुरक्षित बाहर निकालने के कार्य को मूर्त रूप दिया जा रहा है.   

अफ़ग़ानिस्तान के दक्षिणी प्रान्त कन्दाहार में, एक बच्चे को पोलियो वैक्सीन की ख़ुराक देने की तैयारी. (फ़ाइल फ़ोटो)
© UNICEF/Frank Dejongh

अफ़ग़ानिस्तान: आठ पोलियो स्वास्थ्यकर्मियों की 'निर्दयतापूर्ण' हत्याओं की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने उत्तरी अफ़ग़ानिस्तान में चार स्थानों पर पोलियो टीकाकरण में जुटे आठ कर्मचारियों की हत्याओं की कड़े शब्दों में निन्दा की है. पिछले वर्ष नवम्बर में देशव्यापी प्रतिरक्षण अभियान शुरू होने के बाद से पहली बार ये हमले हुए हैं.

नागालैण्ड के एक स्कूल में कोविड के टीके की पहली ख़ुराक़ प्राप्त करने के बाद, 15 साल की यिमा ने बताया कि वो सुरक्षित महसूस कर रही है.
© UNICEF/Jamir

भारत: कोविड-19 टीकाकरण अभियान के लिये यूएन सहयोग

संयुक्त राष्ट्र ने भारत में कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण अभियान के लिये हरसम्भव सहायता सुनिश्चित करने का आश्वासन दिया है. भारत सरकार का कहना है कि 30 जनवरी, 2022 को देश की 75 प्रतिशत वयस्क आबादी को कोविड-19 टीकों की दो ख़ुराक़ें दिये जाने, यानि उनके पूर्ण टीकाकरण का कार्य पूरा कर लिया गया है. यूएन एजेंसियों और भारत सरकार के साझा प्रयासों से जुड़ी अहम जानकारी...

यूएन महासभा अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद, न्यूयॉर्क में पत्रकारों को जानकारी दे रहे हैं.
UN Photo/Cia Pak

सार्वभौमिक टीकाकरण के बिना, सामान्य हालात में लौट पाना सम्भव नहीं - महासभा प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र के लिये अध्यक्ष अब्दुल्ला शाहिद ने कहा है कि कोविड-19 महामारी से बाहर आने का एकमात्र रास्ता, सर्वत्र, सर्वजन के लिये टीकाकरण सुनिश्चित करना है. उन्होंने मंगलवार को वैक्सीन समता के लिये अपने नववर्ष संकल्प की घोषणा करते हुए, देशों की सरकारों से इस मुद्दे पर एकजुटता की पुकार लगाई है.