यूएन प्रमुख ने तुर्की में आए भूकंप पर शोक जताया

पूर्वी तुर्की में 6.8 की तीव्रता वाले भूकंप के बाद पीड़ितों को ज़रूरी सहायता मुहैया कराई जा रही है.
International Federation of Red Cross and Red Crescent Societies
पूर्वी तुर्की में 6.8 की तीव्रता वाले भूकंप के बाद पीड़ितों को ज़रूरी सहायता मुहैया कराई जा रही है.

यूएन प्रमुख ने तुर्की में आए भूकंप पर शोक जताया

मानवीय सहायता

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने तुर्की में भूकंप से जान-माल की हानि पर गहरा शोक प्रकट किया है. शुक्रवार रात रिक्टर पैमाने पर 6.8 की तीव्रता वाले भूकंप से तुर्की का पूर्वी हिस्सा दहल गया जिसमें कम से कम 29 लोगों की मौत हुई है और डेढ़ हज़ार से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं. 
 

 यूएन महासचिव के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने शनिवार को एक बयान कर कहा, “महासचिव पीड़ितों के परिवारों, तुर्की की जनता और सरकार के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं.”

Tweet URL

“वह घायलों के जल्द स्वस्थ्य होने की कामना करते हैं.” यूएन प्रमुख ने अपने वक्तव्य में तुर्की के साथ एकजुटता ज़ाहिर की है और हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है. 

तुर्की के आपदा और आपात प्रबंधन प्राधिकरण के मुताबिक़ देश की राजधानी अंकारा से क़रीब 465 मील दूर स्थित एलअज़ीग प्रांत में अब तक 25 लोगों की मौत हुई है. पड़ोसी प्रांत मालात्या में भी चार लोगों की मौत होने की रिपोर्टें हैं. 

तुर्की के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार इस आपदा में लगभग डेढ़ हज़ार लोग घायल हुए हैं. 

सीरिया और ईरान में सरकारी मीडिया का कहना है कि भूकंप के झटके वहां भी महसूस किए गए. साथ ही ये झटके लेबनान के बेरूत और लीबिया के त्रिपोली शहर में भी महसूस किए गए. 

भूकंप के बाद अब तक 400 हल्के झटके आ चुके हैं जिनमें 14 झटकों की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.0 से ऊपर मापी गई है. 

भूकंप के बाद सैकड़ों लोग बेघर हो गए हैं या फिर उनके घरों को नुक़सान पहुंचा है. 

आस-पास के प्रांतों से बचाव दल फ़्लड-लाइट्स, ड्रिल मशीन और अन्य औज़ारों की मदद से मलबा हटाने और उसमें फंसे लोगों को बाहर निकालने के काम में जुटे हैं.