नवीनतम ऑडियो

टिकाऊ विकास और महिला सशक्तिकरण में खादी की अहम भूमिका

खादी वस्त्र नहीं विचार है. भारत के स्वाधीनता आंदोलन के दौरान महात्मा गांधी का यह सूत्र वाक्य ग्रामीण आत्मनिर्भरता, विकेंद्रित विकास और आर्थिक स्वावलंबन का प्रतीक बन गया.

ऑडियो -
10'12"

'मेरे किसान मेरे साथ हैं'

कृषि एक ऐसा क्षेत्र हैं जहां महिलाएं बड़ी ज़िम्मेदारियां संभालती हैं लेकिन उनके योगदान को कई बार नज़रअंदाज़ कर दिया जाता है.

ऑडियो -
8'19"

रोज़गार के रास्तों पर अब भी अवरोध झेलती हैं महिलाएं

  • नौकरियां पाने में अब भी चुनौतियां का सामना कर रही हैं महिलाएं
  • वैश्विक प्रगति के लिए महिलाओं का सशक्त होना आवश्यक 
  • कैनेबिस यानि भांग के चिकित्सीय उपयोग पर कमज़ोर नियंत्रण बढ़ा सकता है इसका शौकिया इस्तेमाल
     
ऑडियो -
12'50"

जागती आंखों से सपने देखो: रेवती रॉय

किराने का सामान, महत्वपूर्ण दस्तावेज़, कुरियर या कोई अन्य सामग्री हो, पार्सल वितरण की एक नई सेवा ज़रूरत का सामान लोगों के घरों तक पहुंचा रही है. अहम बात यह है कि ‘हे दीदी’ नाम की इस सेवा में हर ज़िम्मेदारी महिलाएं ही संभालती हैं.

ऑडियो -
7'32"

'मैं भी महिलाओं के लिए मिसाल बन सकती हूं'

भारत में जनसंख्या का एक बड़ा हिस्सा अपनी आजीविका चलाने के लिए कृषि पर निर्भर है. इनमें भी अधिकाशं छोटे किसान हैं जिन्हें अपनी फ़सलों का कई बार सही दाम नहीं मिल पाता और बाज़ार से सीधे जुड़ने में भी अवरोधों का सामना करना पड़ता हैं.

ऑडियो -
8'7"

कैनेबिस के चिकित्सीय उपयोग पर बेहतर नियंत्रण की ज़रूरत

अंतरराष्ट्रीय नारकोटिक्स नियंत्रण बोर्ड (आईएनसीबी) ने अपनी नई रिपोर्ट में कैनेबिस (भांग) के चिकित्सीय इस्तेमाल से जुड़े फ़ायदों और जोखिम को रेखांकित किया है.

ऑडियो -
6'34"

सामाजिक न्याय आंदोलन मानवाधिकारों के लिए अहम

  • दुनिया में मानवाधिकारों के सामने कई अवरोध लेकिन सामूहिक प्रयास दिखा रहे हैं बेहतरी का रास्ता
  • वेनेज़्वेला संकट पर सुरक्षा परिषद में अमेरिका और रूस द्वारा पेश परस्पर विरोधी प्रस्ताव ख़ारिज
ऑडियो -
9'59"

मैं कभी हिम्मत नहीं हारता: मैथ्यू निमेत्ज़

पिछले साल जून महीने में एक ऐतिहासिक समझौते के साथ ही दो देशों, पूर्व यूगोस्लाविया के मैसेडोनिया गणराज्य और ग्रीस, में 27 साल से चले आ रहे विवाद का निपटारा हो गया.

ऑडियो -
6'22"

सुरक्षा परिषद ने पुलवामा आत्मघाती बम हमले की कठोर निंदा की

  • पुलवामा ज़िले में आत्मघाती बम हमले की संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने कठोर शब्दों में निंदा की
  • दक्षिण सूडान में मानवाधिकारों का हनन जारी, महिलाए और लड़कियां यौन हिंसा का हो रही हैं शिकार
ऑडियो -
9'20"

भाषाओं का संरक्षण ज़रूरी

21 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय मातृ भाषा दिवस मनाया जाता है. एक ऐसा दिन जब भाषायी और सांस्कृतिक विविधता को संरक्षित रखने और उसके प्रचार प्रसार की अहमियत के बारे में जागरूकता बढ़ाने के प्रयास किए जाते हैं.

ऑडियो -
2'52"