साक्षात्कार

आसान नहीं है राजनीति की डगर

भारत की राजधानी दिल्ली में विधानसभा की सदस्या, आतिशी का करियर शिक्षण से शुरू हुआथा, जिसने आगे जाकर ऐसा राजनैतिक मोड़ लिया कि दिल्ली के सरकारी स्कूलों की काया-पलट ही हो गई.

ऑडियो -
9'21"

राजनीति में ज़मीनी स्तर पर काम करना ज़रूरी - छवि राजावत

छवि राजावत, भारत के राजस्थान प्रदेश में, वर्ष 2010 से 2020 तक, राजधानी जयपुर के निकट एक गाँव सोडा की सरपंच रही हैं.

ऑडियो -
16'47"

शिक्षा का अलख जगाते रंजीतसिंह डिसले

‘वैश्विक अध्यापक पुरस्कार 2020’ के विजेता रंजीतसिंह डिसले का कहना है कि दुनिया को, 21वीं सदी के शिक्षकों की आवश्यकता है और जीवन में टैक्नॉलॉजी की बढ़ती भूमिका के मद्देनज़र, शिक्षकों को भी कक्षाओं में प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल बढ़ाना होगा. 

ऑडियो -
14'17"

भारत: उत्तराखण्ड में ग्लेशियर टूटने से भारी नुक़सान की आशंका

भारत में उत्तराखण्ड प्रदेश के चमोली ज़िले में रविवार सुबह ग्‍लेशियर टूटने और उसके बाद अचानक बाढ़ आने से हुए भारी नुक़सान के बाद, बड़े पैमाने पर बचाव और तलाश अभियान चलाया गया है.

ऑडियो -
7'5"

विद्युत मोहन: एक तीर से दो निशाने

भारत में सर्दी के मौसम में, खेतों में फ़सलों की उपज काटने के बाद बचे हुए पुआल और अन्य कचरे को खुले मैदानों में जला दिया जाता हैं. इससे प्रदूषण की समस्या पैदा होती है और साँस की बीमारियों का ख़तरा बढ़ जाता है. 

ऑडियो -
7'56"

हरित तकनीकों में निवेश की आवश्यकता पर बल

भारत में ऊर्जा, पर्यावरण और जल परिषद (Council on Energy, Environment and Water) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अरूणभा घोष का मानना है कि 12 दिसम्बर को आयोजित जलवायु महत्वाकाँक्षी सम्मेलन से अगले वर्ष होने वाले संयुक्त राष्ट्र के वार्षिक जलवायु सम्मेलन कॉप-26 की नींव रखने में मदद मिलेगी. 

ऑडियो -
15'30"

जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिये सभी को साथ लेकर चलना होगा

पेरिस समझौते की पाँचवी वर्षगाँठ से ठीक पहले संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) की  एक नई रिपोर्ट में स्पष्ट कहा गया है कि 

ऑडियो -
8'4"

पेरिस समझौता उपलब्धिपूर्ण, लेकिन चुनौतियाँ भी कम नहीं

भारत में संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम में कार्यक्रम अधिकारी, करण मंगोत्रा ने यूएन न्यूज़ के साथ एक साक्षात्कार में कहा कि पाँच साल पहले हुए पेरिस समझौते के कई सकारात्मक

ऑडियो -
5'15"

जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिये अधिक प्रयास करने होंगे

संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (यूनेप) के न्यूयॉर्क कार्यालय के प्रमुख और सहायक महासचिव, सत्या त्रिपाठी का मानना है कि हालाँकि बहुत से देश, जलवायु आपातस्थिति से निपटने के

ऑडियो -
10'39"

स्वच्छ ऊर्जा ही उज्जवल भविष्य का मूल मन्त्र

पेरिस जलवायु समझौते को इस वर्ष पाँच साल पूरे हो गए हैं. 2015 में इस ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले सभी देश शनिवार, 12 दिसम्बर को एक वर्चुअल जलवायु महत्वाकाँक्षी शिखर सम्मेलन में एकजुट हो रहे हैं.

ऑडियो -
9'53"