7

'नफ़रत को नोटिस मिल चुका है' - निपटने के लिए नई रणनीति

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने नफ़रत फैलाने वाले संदेशों और भाषणों यानी हेट स्पीच पर धावा बोलते हुए सदस्य देशों का आहवान किया है कि सभी को बहुत ज़्यादा मुस्तैदी से काम लेना होगा. मंगलवार को हेट स्पीच पर संयुक्त राष्ट्र की रणनीति और कार्य योजना शुरू करते हुए उन्होंने कहा, “हेट स्पीच को अपने पैर जमाने के लिए कुछ ज़मीन मिल गई है मगर इसे अब नोटिस भी मिल चुका है.”

यमन में छीना जा रहा है 'बच्चों के मुंह से निवाला'

संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के प्रमुख डेविड बीज़ली ने क्षोभ व्यक्त करते हुए कहा है कि यमन में हुती विद्रोहियों के नियंत्रण वाले इलाक़ों में भूखे बच्चों के मुंह से निवाला छीना जा रहा है. सुरक्षा परिषद को जानकारी देते हुए उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि अगर समझौतों का सम्मान नहीं हुआ तो कुछ ही दिनों में भोजन सामग्री की सहायता को रोक दिया जाएगा.

30 वर्षों में विश्व आबादी हो जाएगी नौ अरब 70 करोड़

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट के अनुसार साल 2050 तक दुनिया की जनसंख्या बढ़कर नौ अरब 70 करोड़ हो जाएगी.  भारत, नाइजीरिया, पाकिस्तान और इंडोनेशिया जैसे देशों में सबसे ज़्यादा बढ़ोत्तरी होने का अनुमान है. सोमवार को जारी हुई नई रिपोर्ट दर्शाती है कि बच्चे पैदा होने की दर में कमी आ रही है और कई देशों को बूढ़ी होती जनसंख्या से उपजने वाली चुनौतियों का भी सामना करना पड़ेगा.

उपजाऊ भूमि का मरुस्थल में बदलना बड़ी समस्या

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने सोमवार को 'विश्व मरुस्थलीकरण रोकथाम दिवस' पर अपने वीडियो संदेश में सचेत किया है कि दुनिया हर साल 24 अरब टन उपजाऊ भूमि खो देती है. उन्होंने कहा कि भूमि की गुणवत्ता ख़राब होने से राष्ट्रीय घरेलू उत्पाद में हर साल आठ प्रतिशत तक की गिरावट आ सकती है. भूमि क्षरण और उसके दुष्प्रभावों से मानवता पर मंडराते जलवायु संकट के और गहराने की आशंका है. 

सोमालिया और केन्या में आतंकवादी हमलों की निंदा

केन्या की वजीर काउंटी और सोमालिया की राजधानी मोगादिशु में दो अलग-अलग आतंकवादी हमले हुए हैं जिनमें 16 की मौत हुई है और कई अन्य घायल हुए हैं. संयुक्त राष्ट्र  महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इन हमलों की निंदा की है और मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना जताई है. 

प्रवासियों द्वारा भेजी रक़म से ग़रीबों को बड़ा सहारा

अपने घर, गाँव, शहर और देश छोड़कर रोज़ी रोटी कमाने के लिए निकलने वाले लोग दुनिया में जहाँ भी रहते हैं वहाँ से अपने मूल स्थानों में रहने वाले परिवारों व समुदायों को हर साल भारी रक़म भेजते हैं. प्रवासियों के इस योगदान को महत्व देने के लिये हर वर्ष 16 जून को अंतरराष्ट्रीय दिवस (International Day of Family Remittances) मनाया जाता है. 

यमन में माताओं और शिशुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ढहने के कगार पर

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) का कहना है कि यमन में चार साल से जारी हिंसा के चलते माताओं और शिशुओं के लिए स्वास्थ्य सेवाएं ध्वस्त होने के कगार पर हैं. एक रिपोर्ट में यूनीसेफ़ ने युद्धग्रस्त क्षेत्रों में प्रसव के दौरान और बच्चों के लालन-पोषण में आने वाली मुश्किलों को रेखांकित किया है.

दक्षिण सूडान में भोजन की भारी कमी, अकाल जैसे हालात

दक्षिण सूडान में लगभग 70 लाख लोगों के पास रोज़मर्रा की ज़रूरतें पूरी करने के लिए पर्याप्त भोजन नहीं बचा है और 20 हज़ार से ज़्यादा लोग भुखमरी के कगार पर पहुँच गए हैं. विश्व खाद्य कार्यक्रम ने शुक्रवार को ये चेतावनी जारी की है.

रंगहीनता की स्थिति वाले लोगों के साथ भेदभाव का अंत हो

  • यूगांडा में भी फैल रहा है ईबोला का प्रकोप, अब तक दो की मौत
  • दुनिया के भविष्य को बेहतर बनाने में सक्षम हैं समावेशी और सुरक्षित डिजिटल तकनीकें 
  • एल्बीनिज़म यानी रंगहीनता की स्थिति वाले लोगों के मानवाधिकारों को पहचाने जाने की पुकार 
ऑडियो -
10'56"

वृद्धों पर यौन हमले सभ्य समाजों के माथे पर कलंक

वृद्धावस्था में अक्सर लोगों के साथ ख़राब बर्ताव होने के मामले तो पूरी दुनिया में सामने आते हैं मगर उनका यौन शोषण होने के मामले होते तो हैं लेकिन उनका अक्सर पता नहीं चलता. वृद्ध लोगों के साथ होने वाले दुर्व्यवहार के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए शनिवार, 15 जून को विश्व दिवस (World Elder Abuse Awareness Day) मनाया जा रहा है.