युवा

यूएन-75 संवाद में सब आमंत्रित

'संयुक्त राष्ट्र 75' संवाद शुरू हो गया है. बुधवार, 29 जनवरी को यूएन मुख्यालय में एक अनोखी महफ़िल जमी जिसमें मुख्य मंच युवाओं के लिए उपलब्ध रहा. यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने भी इस महफ़िल में शिरकत की मगर उन्होंने कहा कि कोई भाषण देने के बजाय, वो यहाँ युवाओं की बात सुनने के लिए आए हैं. इस सभा में युवा प्रतिनिधियों ने भविष्य के लिए अपनी महत्वाकांक्षी रूपरेखा के बारे में बात की जिसमें अंतरराष्ट्रीय सहयोग व सभी की बात को सुना जाना अहम बताया गया.

यूएन-75 संवाद शुरू: सभी हैं शिरकत के लिए आमंत्रित

संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के 75वें वर्ष में वैश्विक चुनौतियों के समाधान की तलाश करने के लिए लोगों की आवाज़ सुने जाने के प्रयासों के तहत बुधवार को न्यूयॉर्क स्थित यूएन मुख्यालय में युवा प्रतिनिधियों ने महासचिव एंतोनियो गुटेरेश के साथ एक संवाद में हिस्सा लिया. इस सभा में युवा प्रतिनिधियों ने भविष्य के लिए अपनी महत्वाकांक्षी रूपरेखा के बारे में बात की जिसमें अंतरराष्ट्रीय सहयोग व सभी की बात सुना जाना अहम बताया गया.

मानवाधिकार दिवस: युवाओं की सक्रियता व ऊर्जा पर ध्यान

संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2019 के मानवाधिकार दिवस के मौक़े पर ख़ासतौर से युवाओं की सक्रियता व ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित करते हुए सभी लोगों के लिए एक बेहतर भविष्य के निर्माण की दिशा में युवाओं की भूमिका को रेखांकित किया है.  मानवाधिकार दिवस हर वर्ष 10 दिसंबर को मनाया जाता है.

मानवाधिकार दिवस: युवाओं पर है ध्यान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने 2019 के मानवाधिकार दिवस पर जीवन में मानवाधिकार सुनिश्चित करने में युवाओं की भूमिका को रेखांकित किया है.  उन्होंने कहा है...

युवाओं का सम्मेलन: वयस्कों पर दबाव डालने का मंच

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश की युवा मामलों पर विशेष दूत जयथमा विक्रमानायके ने कहा है कि ये बहुत अहम है कि दुनिया की लगभग एक अरब 80 करोड़ की युवा आबादी को जलवायु परिवर्तन के ख़िलाफ़ लड़ाई और अंततः पृथ्वी ग्रह का भविष्य तय करने में निर्णायक भूमिका मिले. 

 

युवा तलाश करेंगे जलवायु संकट का समाधान

क्या युवा कंप्यूटर प्रोग्रामर कोडिंग के माध्यम से जलवायु संकट का समाधान ढूंढ सकते हैं? संयुक्त राष्ट्र में युवा मामलों की विशेष दूत जयाथमा विक्रमानायके ने हाल ही में एक नई प्रतियोगिता “रीबूट द अर्थ” की शुरुआत की है जिसकी मदद से संयुक्त राष्ट्र, शिक्षा जगत, नागरिक समाज और युवाओं के बीच पारस्परिक सहयोग को बढ़ावा देते हुए जलवायु आपात स्थिति का समाधान ढूंढने का प्रयास किया जाएगा.  

शांति निर्माण में 'बराबर के साझेदार' हैं युवा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष दूत जयाथमा विक्रमानायके ने सुरक्षा परिषद को अपने संबोधन में कहा है कि उनका अनुभव बताता है कि युवा शांति की परवाह करते हैं. उन्होंने जॉर्डन में शरणार्थी शिविरों से लेकर ग़ाज़ा में यूएन राहत एवं कार्य एजेंसी के स्कूलों तक, कोसोवो में म्यूनिसपैलिटी से लेकर डेनमार्क में युवा परिषदों तक जारी प्रयासों को नज़दीक से देखने के बाद ये बात कही.

जलवायु परिवर्तन पर युवा पीढ़ी कमर कस चुकी है

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन की चुनौती का सामना करने में पुरानी पीढ़ियाँ तो नाकाम हो गई मगर युवा पीढ़ी इस चुनौती का सामना करने और इससे होने वाली तबाही की रफ़्तार धीमी करने के लिए कमर कस रही है.

वैश्विक चुनौतियों से निपटने में युवाओं का साथ अहम

एक टिकाऊ दुनिया के निर्माण के लिए युवाओं को सशक्त बनाने वाले कौशलों, मूल्यों, नौकरियों और आजीविका के साधनों की आवश्यकता है. आठवीं यूथ फ़ॉरम को संबोधित करते हुए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवं सामाजिक परिषद की अध्यक्ष इन्गा रहोन्डा किंग ने वैश्विक चुनौतियों से निपटने में युवाओं की प्रमुख भूमिका को रेखांकित किया. 

दुनिया भर में संस्थाओं में भरोसा टूट रहा है: महासचिव गुटेरेश

  • यूएन महासचिव ने कहा, टूट रहा है संस्थाओं में नागरिकों का भरोसा
  • मिलजुलकर साथ चलने की संस्कृति बनाने से मिलेगा हल
ऑडियो -
10'33"