यूएन मिशन

हिंसा और अस्थिरता से जूझते अफ़ग़ानिस्तान की आज़ादी के 100 वर्ष

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) के प्रमुख तादामीची यामामोतो ने कहा है कि स्वाधीनता के 100 वर्ष पूरे कर रहे अफ़ग़ानिस्तान के लिए यह एक अहम क्षण है और आने वाले दिनों में चुनावों से शांति स्थापना की दिशा में प्रगति होने की आशा है. लेकिन देश पर हिंसा और अस्थिरता का संकट अब भी मंडरा रहा है और हाल के दिनों में अफ़ग़ानिस्तान में आतंकी हमलों में आम लोगों को निशाना बनाया गया है जिसकी संयुक्त राष्ट्र ने कड़े शब्दों में निंदा की है.

काबुल में हमले और चुनावी हिंसा की धमकियों पर क्षोभ

अफ़गानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने काबुल में तालिबान द्वारा हमला किए जाने और चुनाव प्रक्रिया में हिंसा की धमकियां देने पर गहरा क्षोभ ज़ाहिर किया है. बुधवार को हुए इस हमले में कम से कम 14 लोगों की मौत हुई है और 150 से ज़्यादा घायल हुए हैं. यूएन मिशन ने एक ट्वीट संदेश कहा है कि घनी आबादी वाले इलाक़ों में इस तरह के हमले बंद होने चाहिए.

यूएन प्रमुख ने मोगादिशु में आतकंवादी हमले की निंदा की

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को सोमालिया में हुए घातक आतंकी हमले की निंदा की है. इस हमले में राजधानी मोगादिशु के मेयर के कार्यालय को निशाना बनाया गया जिसमें छह सरकारी कर्मचारियों की मौत हो गई और अनेक घायल हुए हैं.

लाइबेरिया द्वारा माली में शांतिरक्षक भेजने पर समझौता

माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) के लिए शांतिरक्षकों की सेवाएं मुहैया कराने के सिलसिले में लाइबेरिया और संयुक्त राष्ट्र में एक औपचारिक समझौता हुआ है. अशांति और हिंसा से जूझते लाइबेरिया में कई दशकों तक शांतिरक्षकों की तैनाती रही है लेकिन अब लाइबेरिया अपने अतीत से आगे बढ़ते हुए अन्य देशों में शांतिरक्षा अभियानों में योगदान दे रहा है जिसे कई मायनों में अहम माना जा रहा है.  

हिंसा की रोकथाम के लिए एकजुटता और मध्यस्थता ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि विश्व  में व्याप्त मानवीय पीड़ा को कम करने के लिए दो सबसे अहम ज़रिए हैं: हिंसा और संघर्ष की रोकथाम और मध्यस्थता के प्रयास. शांति प्रयासों के सफल होने के लिए आपसी एकजुटता और समावेशी संवाद की आवश्यकता पर भी बल दिया गया है.

अफ़ग़ानिस्तान: रमज़ान में आम लोगों को 'जानबूझकर बनाया गया निशाना'

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र ने सभी पक्षों से आग्रह किया है कि हिंसा में आम लोगों को निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए और  उनकी रक्षा के दायित्व  को पूर्ण रूप से निभाया जाना चाहिए. रमज़ान के पवित्र महीने में चरमपंथियों के हमलों में राजधानी काबुल में ही 100 से ज़्यादा आम नागरिकों की मौत हो गई जिसकी यूएन ने निंदा की है. 

अफ़ग़ानिस्तान में बंदियों के साथ दुर्व्यवहार किए जाने के मामलों पर चिंता

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान चरमपंथियों द्वारा बंदियों के साथ बुरा बर्ताव किए जाने की जानकारी मिलने के बाद संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने गहरी चिंता ज़ाहिर की है. यूएन मिशन को विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि कुछ मामलों में बंदियों को यातना दिए जाने की भी बात सामने आई है.  

सर्वस्व बलिदान करने वाले यूएन शांतिरक्षकों को श्रृद्धांजलि

1948 में संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षा अभियानों की शुरुआत के बाद से अब तक 3,800 शांतिरक्षकों ने शांति मिशनों में अपने जीवन का बलिदान दिया है. यूएन अभियानों के ज़रिए शांति और सुरक्षा प्रदान करने वाले साहसिक महिला और पुरुषों की स्मृति के सम्मान में न्यूयॉर्क में आयोजित एक समारोह में महासचिव अंतोनियो गुटेरेश ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की है.

गृहयुद्ध और 'स्थाई विभाजन' के कगार पर खड़ा है लीबिया

लीबिया में राजनीतिक अस्थिरता से अब तक जो क्षति हुई है उससे उबरने में अभी वर्षों का समय लग सकता है लेकिन अगर त्रिपोली और आसपास के इलाक़ों में हिंसा को नहीं रोका गया तो गृहयुद्ध छिड़ने की आशंका है जिससे देश का स्थाई रूप से विभाजन भी हो सकता है. ये कहना है कि लीबिया में संयुक्त राष्ट्र के विशेष प्रतिनिधि घसन सलामे का जिन्होंने सुरक्षा परिषद को स्पष्ट शब्दों में स्थिति की गंभीरता से अवगत कराया है.

यूएन प्रमुख ने माली में शांतिरक्षकों पर हमले की निंदा की

माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) पर हुए हिंसक हमले में नाइजीरिया के एक शांतिसैनिक की मौत हो गई है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शनिवार को किए गए इस हमले की कड़ी निंदा की है.