यूएन मिशन

मेजर बिन्देश्वरी तँवर - यूएन शान्तिरक्षक बनना, एक मूल्यवान अवसर

भारत की मेजर बिन्देश्वरी तँवर एक सैन्य अधिकारी हैं और एक युवा बेटे की माँ भी. 34 वर्षीय मेजर बिन्देश्वरी तँवर का विवाह अपने एक साथी अधिकारी के साथ ही हुआ, और फ़िलहाल वो एक यूएन शान्तिरक्षक के रूप में दक्षिण सूडान में सेवारत हैं.  मेजर बिन्देश्वरी तँवर का कहना है कि यूएन शान्तिरक्षक के तौर पर कार्य करने का अवसर बेहद मूल्यवान अनुभव है जिसे बाँहें फैलाकर स्वीकार करना चाहिये. उनके साथ एक ख़ास बातचीत...

सुरक्षा परिषद: माली में यूएन मिशन के अस्थाई शिविर पर हमले की कड़ी निन्दा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने माली में 10 फ़रवरी को यूएन शान्तिरक्षकों पर हुए हमले की कठोर निन्दा की है. माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) पर हुए इस हमले में टोगो के एक शान्तिरक्षक की मौत हो गई थी और 27 शान्तिरक्षक घायल हुए थे. सुरक्षा परिषद ने कहा है कि शान्तिरक्षकों को निशाना बनाकर किये गए हमले को अन्तरराष्ट्रीय क़ानून के तहत युद्धापराध की श्रेणी में रखा जा सकता है.

माली: यूएन मिशन के शिविर पर हमला, 20 शान्तिरक्षक घायल

माली में, संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) के एक अस्थाई शिविर पर बुधवार को हुए हमले में, 20 शान्तिरक्षक घायल हो गए हैं. यह हमला देश के अशान्त केन्द्रीय इलाक़े में हुआ है. यूएन मिशन के प्रमुख महमत सालेह अनादिफ़ ने इस हमले की कड़ी निन्दा करते हुए इसे कायरतापूर्ण कृत्य क़रार दिया है.

लीबिया में नए अन्तरिम नेतृत्व का चयन ‘ऐतिहासिक लम्हा’

संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व में 74-सदस्यीय लीबियाई राजनैतिक सम्वाद मँच ने, शुक्रवार को, जिनीवा में हुई बैठक के दौरान नई कार्यकारिणी परिषद के लिये अन्तरिम प्रधानमन्त्री और अध्यक्ष को चुन लिया है. यूएन की अन्तरिम विशेष प्रतिनिधि स्टैफ़नी विलियम्स ने युद्ध से बदहाल देश में इसे एकीकरण और दिसम्बर 2021 में प्रस्तावित राष्ट्रीय चुनावों के लिये एक ऐतिहासिक क्षण क़रार दिया है.  

लीबिया: कार्यकारिणी के लिये मतदान आपसी मेलमिलाप और नई शुरुआत का मौक़ा

लीबिया में संयुक्त राष्ट्र की वार्ताकार स्टैफ़नी विलियम्स ने कहा है कि लीबिया में नई कार्यकारिणी का गठन सभी नागरिकों के लिये राष्ट्रीय मेलमिलाप और एक नई शुरुआत का अवसर होगा. सोमवार को स्विट्ज़रलैण्ड में विभिन्न पक्षों के बीच बैठक शुरू हुई है जिसमें अस्थायी कार्यकारिणी के लिये मतदान होना है जिसे इस वर्ष दिसम्बर में होने वाले राष्ट्रीय चुनावों की दिशा में एक अहम क़दम माना जा रहा है. 

सूडान: दारफ़ूर में हिंसा में तेज़ी, 250 लोगों की मौत, एक लाख विस्थापित

सूडान के दारफ़ूर प्रान्त में समुदायों के बीच हिंसा में तेज़ी आई है जिससे एक लाख से ज़्यादा लोगों को सुरक्षित स्थान की तलाश में घरों से पलायन के लिये मजबूर होना पड़ा है. संयुक्त राष्ट्र की शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने शुक्रवार को बताया कि बहुत से लोगों ने पड़ोसी देश चाड में शरण ली है. हिंसा में अब तक 250 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें तीन मानवीय राहतकर्मी भी हैं.
 

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य: घात लगाकर किये गए हमले में दो शान्तिरक्षकों की मौत

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य (Central African Republic) में संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षकों के काफ़िले पर यूनिटी फ़ॉर पीस इन सैन्ट्रल अफ़्रीका (यूपीसी) और बलाका-विरोधी सशस्त्र गुटों के लड़ाकों  ने घात लगाकर हमला किया है जिसमें दो शान्तिरक्षकों की मौत हो गई. यूएन मिशन ने इस हमले की कड़ी निन्दा करते हुए दोषियों की जवाबदेही तय किये जाने की माँग की  है. जनवरी 2021 में हिंसा के कारण अब तक नौ शान्तिरक्षकों की मौत हो चुकी है.

WHO: कोरोनावायरस के स्रोत की जाँच के लिये टीम पहुँची वूहान

दुनिया भर में वैश्विक महामारी कोविड-19 के लिये ज़िम्मेदार वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिये अन्तरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम गुरूवार को चीन के वूहान शहर पहुँच गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कोविड-19 पर आपात समिति के सत्र के दौरान ये जानकारी दी है. 

मध्य अफ़्रीका गणराज्य: 'जघन्य हमलों' में शान्तिरक्षक की मौत, जवाबदेही तय किये जाने की माँग

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को मध्य अफ़्रीकी गणराज्य (Central African Republic) की राजधानी बाँगी के पास समन्वित ढँग से किये गये जघन्य हमलों की कड़ी निन्दा करते हुए जवाबदेही तय किये जाने का आग्रह किया है. इन हमलों में रवाण्डा के एक शान्तिरक्षक की मौत हो गई है और एक अन्य घायल हुआ है. 

अफ़ग़ानिस्तान: दोहा में शान्ति वार्ता के लिये प्रतिनिधियों की वापसी का स्वागत

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने क़तर की राजधानी दोहा में अफ़ग़ान सरकार और तालिबान के बीच बातचीत को फिर शुरू करने के लिये शान्ति वार्ताकारों के लौटने का स्वागत किया है. यूएन मिशन ने अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा पर विराम लगाने और स्थायी शान्ति के लिये परिस्थितियों के निर्माण के लिये दोनों पक्षों के बीच बातचीत में प्रगति की उम्मीद जताई है.