यूएन एजेंसियाँ

यूक्रेन की राजधानी कीयेफ़ के एक अस्पताल में, एक जच्चा अपने नवजात शिशु को संभाले हुए.
© UNICEF/Andriy Boiko

यूक्रेन: स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों पर हमले बन्द हों, यूएन एजेंसियों की पुकार

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों ने रविवार को जारी अपने एक साझा बयान में यूक्रेन में स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों पर सभी हमलों को तत्काल रोकने की पुकार लगाई है. यूक्रेन पर रूसी आक्रमण की शुरुआत से अब तक स्वास्थ्य केंद्रों पर 31 हमलों की पुष्टि हो चुकी है.

यूनीसेफ़ ने नई दिल्ली में कोविड-19 टैस्टिंग को बढ़ावा देने के लिये उपकरण दान किये हैं.
© UNICEF India

कोविड-19: भारत व ब्राज़ील में मामलों की अधिकता, यूएन एजेंसियाँ सक्रिय

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि पिछले सप्ताह, विश्व भर में कोविड-19 संक्रमण के कुल जितने मामलों की पुष्टि हुई, उनमें आधे से ज़्यादा भारत और ब्राज़ील में सामने आए हैं. संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ, भारत में कोरोनावायरस के कारण उपजे गम्भीर हालात के मद्देनज़र, जवाबी कार्रवाई में स्थानीय एजेंसियों की सहायता में जुटी हैं.

कोवैक्स पहल के तहत सीरिया भेजी गई वैक्सीन ख़ुराकों को खोला जा रहा है.
UNICEF

कोवैक्स: सीरिया में सबसे निर्बलों के लिये पहुँचीं वैक्सीन ख़ुराकें

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिये वैक्सीन की ढाई लाख से ज़्यादा ख़ुराकों की खेप गुरुवार को सीरिया पहुँच गई है. न्यायसंगत वैक्सीन वितरण के लिये संयुक्त राष्ट्र समर्थित ‘कोवैक्स’ पहल के तहत भेजी गई इन ख़ुराकों के ज़रिये, महामारी के विरुद्ध जवाबी कार्रवाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे स्वास्थ्यकर्मियों का टीकाकरण किया जाएगा.

कोविड-19 के दौरान भारत के ओडिशा राज्य में आदिवासी बच्चों के लिये खुले में पढ़ाई की व्यवस्था की गई.
UNICEF India

भारत: शिक्षा में व्यवधान से निपटने के लिये यूएन एजेंसियों के सक्रिय प्रयास

वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण दुनिया भर में, शिक्षण कार्य में व्यापक व्यवधान पैदा हुआ है, जिससे भारत समेत अन्य देशों में करोड़ों छात्रों की पढ़ाई-लिखाई पर भारी असर हुआ है. इसके मद्देनज़र, भारत में संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ, सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए, स्कूल फिर से खोलने और शिक्षण कार्यक्रम जारी रखने के लिये सरकारी एजेंसियों को हरसम्भव सहायता मुहैया करा रही हैं. इनमें ज़रूरी दिशा-निर्देश भी शामिल हैं.

एक वैज्ञानिक बैक्टीरिया टॉक्सिन के एक नमूने की जाँच करते हुए.
CDC

कोरोनावायरस वैक्सीन की तलाश - 'सुलभ विज्ञान' से जुड़ी पाँच अहम बातें

संयुक्त राष्ट्र ने विश्वसनीय वैज्ञानिक जानकारी और शोध, हर किसी को निशुल्क उपलब्ध कराए जाने की पुकार लगाई है. यूएन एजेंसियों के मुताबिक सुलभ विज्ञान (Open Science) के ज़रिये कोविड-19 वायरस के ख़िलाफ़ असरदार वैक्सीन पर शोधकार्य तेज़ी से आगे बढ़ाने, भ्रामक जानकारियों पर अंकुश लगाने और विज्ञान की पूर्ण सम्भावनाओं के द्वार खोल पाने में मदद मिलेगी.

अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडन इराक़ मुद्दे पर सुरक्षा परिषद की एक बैठक के दौरान (दिसम्बर 2010).
UN Photo/Evan Schneider

अमेरिकी चुनाव: जो बाइडन और कमला हैरिस को जीत की बधाई

संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारियों ने अमेरिका में राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति पद के लिये हुए चुनावों में जीत हासिल करने पर डैमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन और कमला हैरिस को बधाई देते हुए संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका के बीच साझेदारी को, सहयोग का एक ऐसा अतिआवश्यक स्तम्भ बताया है, जो दुनिया के समक्ष मौजूद नाटकीय चुनौतियों का सामना करने के लिये ज़रूरी है.

फ़िलिपीन्स के अनेक इलाक़ों में अब भी मलबा फैला हुआ है और जलभराव की समस्या है.
Photo: IOM

फ़िलीपीन्स: तूफ़ान गोनी के कारण अनेक इलाक़ों से सम्पर्क टूटा, कोविड-19 से कार्रवाई पर असर 

फ़िलीपीन्स में शक्तिशाली चक्रवाती तूफ़ान ‘गोनी’ के गुज़र जाने के बाद अनेक शहरों में हुई तबाही की तस्वीर स्पष्ट हो रही है. मानवीय राहत मामलों में समन्वय के लिये संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (UNOCHA) के मुताबिक अनेक नगरों से सम्पर्क टूट गया है, हज़ारों घर क्षतिग्रस्त हुए हैं, और भीड़-भाड़ भरे राहत शिविरों में शरण ले रहे हज़ारों विस्थापित लोगों के सामने कोरोनावायरस से संक्रमित होने का ख़तरा है. 

भारत में एक महिला सब्ज़ी विक्रेता कोविड-19 से बचाव के लिये मास्क पहने हुए है.
© UNICEF/Vinay Panjwani

कोविड-19: भारत के समक्ष एक 'अभूतपूर्व चुनौती' - जवाबी कार्रवाई में यूएन एजेंसियों का सहयोग

संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 के व्यापक फैलाव की चपेट में आया भारत एक अभूतपूर्व चुनौती का सामना कर रहा है. भारत में यूएन की विभिन्न एजेंसियाँ महामारी पर क़ाबू पाने के प्रयासों में सरकार की मदद कर रही हैं. देश में अब तक कोरोनावायरस संक्रमण के 63 लाख 94 हज़ार से ज़्यादा मामलों की पुष्टि हुई है, 99 हज़ार से ज़्यादा लोगों की मौत हुई है.

लेबनान में संयुक्त राष्ट्र मिशन की टीम विस्फोट से हुई तबाही का आकलन कर रही है.
UN/Pasqual Gorriz

लेबनान: भीषण विस्फोट के पीड़ितों के लिये मानवीय सहायता के संगठित प्रयास

लेबनान की राजधानी बेरूत के बन्दरगाह में भीषण विस्फोट से हुई तबाही की व्यापकता जैसे-जैसे स्पष्ट हो रही है, प्रभावितों तक मदद पहुँचाने के प्रयास भी तेज़ हो रहे हैं. संकट की इस घड़ी में लेबनान में स्वास्थ्य सुविधाओं की क्षमता मज़बूत करने के उद्देश्य से 20 टन मेडिकल सामग्री व आपूर्ति से भरा विमान बेरूत पहुँचा है. लेबनान में मानवीय राहत समन्वयक व यूएन प्रतिनिधि ने कहा है कि इस तबाही से उबरने के लिये लेबनान को वैश्विक समर्थन की ज़रूरत है.