यौन शोषण

यूएन, यौन शोषण व उत्पीड़न से कैसे निपटता है?

यौन शोषण और उत्पीड़न अस्वीकार्य हैं. अन्तरराष्ट्रीय सिविल सेवक के रूप में हम, संयुक्त राष्ट्र के मूल्यों और आदर्शों को समर्पित हैं, तो हम सभी को कहना है, ‘हम ये सहन नहीं करेंगे.’ (वीडियो)

कोविड-19: महामारी के कारण, करोड़ों लोग तस्करी के जोखिम दायरे में

संयुक्त राष्ट्र के ड्रग्स व अपराध निरोधक मामलों के कार्यालय (UNODC) ने कहा है कि प्रवासी जन व कामकाज और रोज़गार से वंचित हुए लोग, ऐसे समूहों में हैं जिनके मानव तस्करों के चंगुल में फँस जाने की बहुत ज़्यादा आशंका है. संगठन ने मंगलवार को आगाह करने के अन्दाज़ में कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण उत्पन्न हुई आर्थिक मन्दी और रोज़गार व आय छिन जाने से, करोड़ों लोगों को जोखिम के दायरे में पहुँच गए हैं.

'21वीं सदी की दुनिया में, दासता स्वीकार्य नहीं'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने दासता के समकालीन रूपों के प्रभावों की तरफ़ ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि इस तरह की घिनौने चलन के लिये 21वीं सदी में कोई जगह नहीं हो सकती. महासचिव ने दासता के उन्मूलन के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस के अवसर पर ये बात कही है, जोकि 2 दिसम्बर को मनाया जाता है.

मानव तस्करी का मुक़ाबला-जीवन मिशन

मलावी में मादक पदार्थों एवँ अपराध पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (UNODC) में कार्यरत मैक्सवैल माटेवेरे एक अपराध-रोकथाम विशेषज्ञ हैं और पिछले दो दशकों से मानव तस्करी से निपटने के प्रयासों में सक्रिय भूमिका निभाते आ रहे हैं. मैक्सवैल  क़ानून व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को प्रशिक्षित करते हैं और इस वर्ष कोविड-19 के बावजूद उनके प्रयासों के परिणामस्वरूप मानव तस्करी के 300 से ज़्यादा पीड़ितों को बचाया गया है, और इन अपराधों के सिलसिले में 31 लोग गिरफ़्तार किये गए हैं. मैक्सवैल माटेवेरे ने यूएन न्यूज़ के साथ अपने अनुभव साझा किये हैं...

कोरोनावायरस संकट काल में सोशल मीडिया पर तस्करी के मामलों में उछाल

संयुक्त राष्ट्र की समिति ने सोशल मीडिया कम्पनियों से आग्रह किया है महिलाओं व लड़कियों की तस्करी का अन्त किये जाने के लिये ‘बिग डेटा’ और ‘आर्टिफ़िशियल इन्टैलीजेंस’ की मदद ली जानी होगी. विशेषज्ञों के मुताबिक कोविड-19 महामारी के दौरान ऑनलाइन माध्यमों पर पीड़ितों को तस्करी के जाल में फँसाये जाने की घटनाओं में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है. 

मानव तस्करी और जबरन विवाह के बीच सम्बन्ध दर्शाती एक रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि दुनिया भर में 12 वर्ष तक की लड़कियों का जबरन या धोखे से विवाह ऐसे लोगों के साथ कराया जा रहा है जो यौन सम्बन्धों और घरेलू कार्य के लिये उनका शोषण करते हैं. मादक पदार्थों एवँ अपराध पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय (UNODC) की एक नई रिपोर्ट में जबरन विवाह और मानव तस्करी के बीच सम्बन्ध की पड़ताल की गई है, जिसके मामलों की वास्तविक संख्या पूरी तरह सामने नहीं आ पाती.

2020 का नेनसेन शरणार्थी पुरस्कार कोलम्बिया की मानवाधिकार कार्यकर्ता को

कोलम्बिया में शरणार्थियों की भलाई के लिये काम करने और बच्चों व किशोरों को यौन शोषण से बचाने में, दो दशक तक असाधारण काम करने के लिये मेयर्लिन वरगारा पेरेज़ को नेनसेन शरणार्थी पुरस्कार के लिये चुना गया है.

बाल मज़ूदरी के बदतरीन रूपों के ख़िलाफ़ सन्धि पर सार्वभौमिक मोहर

संयुक्त राष्ट्र की श्रम एजेंसी – अन्तरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) के सभी 187 सदस्य देशों ने दासता, देह व्यापार और तस्करी सहित बाल मज़दूरी के ख़राब रूपों से बच्चों की रक्षा करने वाली सन्धि को पारित कर दिया है. मंगलवार को प्रशान्त क्षेत्र के एक द्वीपीय देश टोन्गा ने इस सन्धि पर अपनी मोहर लगा दी और ऐसा करने वाला वो आख़िरी देश था. 
 

नेपाल: मानव तस्करी पर अंकुश लगाने की दिशा में अहम क़दम 

नेपाल में हर वर्ष हज़ारों लोग मानव तस्करों के चंगुल में फँस कर यौन शोषण, जबरन मज़दूरी और शारीरिक अंगों की चोरी का शिकार बनते हैं. इस चुनौती से निपटने के प्रयासों के तहत नेपाल ने संयुक्त राष्ट्र के प्रोटोकॉल पर मुहर लगाई है जिसके लागू होने के बाद शोषण के सभी रूपों की शिनाख़्त करने, पीड़ितों को ज़रूरी सहायता प्रदान करने और दोषियों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई किये जाने की उम्मीदें जागी हैं. 

कोविड-19: मानव तस्करी के पीड़ितों के लिए बढ़ा जोखिम

कोविड-19 महामारी का मुक़ाबला करने के लिए तालाबंदी, यात्राओं पर पाबंदियाँ, संसाधनों में कटौती और अन्य तरह के उपायों के कारण मानव तस्करी के शिकार लोग और ज़्यादा शोषण के जोखिम में घिर रहे हैं. मादक पदार्थों व अपराध पर संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय (UNODC) का कहना है कि संगठित आपराधिक गुट महामारी से उपजे हालात का फ़ायदा उठाने की कोशिश कर सकते हैं.