यौन हिंसा

संशोधित अफ़ग़ान क़ानून भी, यौन हिंसा की पीड़ित महिलाओं को इन्साफ़ दिलाने में नाकाम

यूएन मानवाधिकार एजेंसी और अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन ने कहा है कि देश में न्याय व्यवस्था अब भी हिंसा और यौन अपराधों की शिकार महिला पीड़ितों को पर्याप्त सहायता मुहैया कराने में नाकाम है, जब वर्ष 2009 में एक ऐसा क़ानून बनाया गया था जिसे महिलाओं को संरक्षा व सुरक्षा मुहैया कराने के क़ानूनी प्रयास आगे बढ़ाने की दिशा में बहुत महत्वपूर्ण क़दम क़रार दिया गया था.

'बलात्कार ग़लत है, मगर बधियाकरण और मृत्युदण्ड भी उपयुक्त जवाब नहीं'

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने कहा है कि बलात्कार और अन्य तरह की यौन हिंसा करने वालों को न्याय के कटघरे में अवश्य लाया जाए, मगर उन्हें मृत्युदण्ड या किसी अन्य तरह की प्रताड़ना का शिकार बनाया जाना कोई उपयुक्त जवाब नहीं है.

नोबेल विजेता डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को मिली धमकियों के बीच सुरक्षा देने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने कोंगो के नोबेल पुरस्कार विजेता डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को मिल रही मौत की धमकियों की निन्दा करते हुए उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने की पुकार लगाई है.

दक्षिण सूडान: लोगों को जबरन भुखमरी में धकेलना 'हो सकता है युद्धापराध'

दक्षिण सूडान के विभिन्न इलाक़ों में जातीय और राजनैतिक कारणों से लोगों को जानबूझकर भुखमरी का शिकार बनाने और महिलाओं व पुरुषों के ख़िलाफ़ यौन हिंसा के मामले सामने आए हैं. संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद द्वारा गठित एक आयोग ने अपनी नई रिपोर्ट में कहा है कि ऐसे मामले युद्धापराध के दायरे में परिभाषित हो सकते हैं, लेकिन गंभीर हालात के बीच दक्षिण सूडान में राजनैतिक कुलीन वर्ग आम लोगों की पीड़ाओं से बेपरवाह है.