युद्ध

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो, यूक्रेन मुद्दे पर सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए.
UN Photo/Eskinder Debebe

यूक्रेन: 'रूस के ताज़ा हमलों के बाद, देश निवासियों के लिये भीषण सर्दियों का जोखिम'

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने बुधवार को सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए, रूस द्वारा पूरे यूक्रेन में आम लोगों और महत्वपूर्ण ढाँचे के ख़िलाफ़ लगातार क्रूर हमले किए जाने से भारी तबाही होने के बारे में आगाह किया है.

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो, यूक्रेन मुद्दे पर सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए.
UN Photo

यूक्रेन युद्ध: पड़ोसी देशों में भयावह प्रभावों के जोखिम हैं वास्तविक

संयुक्त राष्ट्र के राजनैतिक मामलों की प्रमुख रोज़मैरी डीकार्लो ने बुधवार को सुरक्षा परिषद में कहा है कि यूक्रेन में युद्ध में अभी तक जो बमबारी हुई है, उसकी सर्वाधिक सघन बमबारी हाल के दिनों में हुई है. उन्होंने साथ ही इस युद्ध के और ज़्यादा भड़कने व अन्य देशों में भी उसके भयावह प्रभाव अनुभव किये जाने की चेतावनी भी जारी की है.

तुर्कीये के इस्तान्बूल शहर में - काला सागर अनाज निर्यात समझौते पर दस्तख़त किये जाने के दौरान, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश(बाएँ) और तुर्कीये के राष्ट्रपति रेसेप तैयप अर्दोगान (दाएँ) 22 जुलाई 2022.
UNIC Ankara/Levent Kulu

यूक्रेन अनाज निर्यात पहल से रूस के हटने पर, सुरक्षा परिषद में चर्चा

संयुक्त राष्ट्र के दो वरिष्ठ अधिकारियों ने सोमवार को सुरक्षा परिषद में कहा है कि यूक्रेन से अनाज और अन्य सम्बन्धित सामग्रियों के निर्यात के लिये हुए काला सागर अनाज निर्यात पहल को, जारी युद्ध व वैश्विक स्तर पर जीवन-यापन की लागत को देखते हुए, जीवित रखना बहुत ज़रूरी है.

इथियोपिया के उत्तरी क्षेत्र में लड़ाई से उत्पन्न संकट ने, लाखों लोगों को आपात मानवीय सहायता के ज़रूरतमन्द बना दिया है.
© UNICEF/Christine Nesbitt

इथियोपिया: रोकथाम-योग्य बीमारियों में भयावह वृद्धि पर चिन्ता

संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी (WHO) ने इथियोपिया के उत्तरी क्षेत्रों में उन बीमारियों के मामलों में उछाल पर गम्भीर चिन्ता व्यक्त की है, जिनकी रोकथाम की जा सकती है. टीगरे क्षेत्र में हालात विशेष रूप से चिन्ताजनक हैं, जोकि पिछले दो साल से हिंसक संघर्ष से गुज़र रहा है और जहाँ मानवीय सहायता पहुँचाए जाने के प्रयासों में मुश्किलें पेश आई हैं.

 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव के लीबिया विशेष प्रतिनिधि अब्दुलाए बथिली, देश की स्थिति के बारे में सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए (24 अक्टूबर 2022).
UN Photo/Loey Felipe

लीबिया: राजनैतिक गतिरोध जारी, समाधान की निकट सम्भावना नहीं

लीबिया के लिये यूएन महासचिव के विशेष दूत और देश में संयुक्त राष्ट्र समर्थन मिशन (UNSMIL) के मुखिया अब्दुलाए बथिली ने सोमवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि देश में अब भी राजनैतिक गतिरोध बरक़रार है और चुनाव कराए जाने की सम्भावना बहुत कम नज़र आती है.

यूक्रेन के चेर्नीहाइव में, हवाई हमले का शिकार हुए एक स्कूल का दृश्य.
© UNICEF/Ashley Gilbertson

यूक्रेन: परमाणु हथियार प्रयोग की किसी भी धमकी की 'सार्वभौमिक निन्दा' की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासभा अध्यक्ष कसाबा कोरोसी ने कहा है कि रूस और यूक्रेन के दरम्यान जारी युद्ध को रोकने के लिये, कूटनैतिक समाधान का दरवाज़ा खुला रखना होगा, और परमाणु हथियारों के प्रयोग की किसी भी धमकी की, सार्वभौमिक निन्दा की जानी चाहिये.

यूक्रेन के ख़ारकीयेव में, एक हवाई हमले में ध्वस्त हुए एक स्कूल का दृश्य.
© UNICEF/Ashley Gilbertson

रूस द्वारा यूक्रेन के कुछ क्षेत्रों के 'हरण' पर सुरक्षा परिषद प्रस्ताव वीटो

रूस ने शुक्रवार को सुरक्षा परिषद में प्रस्तुत किया गया एक प्रस्ताव वीटो कर दिया है जिसमें यूक्रेन के चार क्षेत्रों को अपनी सीमाओं में मिलाने के प्रयासों को अवैध क़रार दिया गया है. प्रस्ताव में रूस की इस कार्रवाई को “अन्तरराष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा के लिये एक ख़तरा” बताया गया है और इस निर्णय को तत्काल व बिना शर्त पलटने की माग भी की गई है.

फ़लस्तीनी क्षेत्र ग़ाज़ा के उत्तरी इलाक़े में, एक फ़लस्तीनी शरणार्थी परिवार, यूएन राहत एजेंसी के शिविर में पनाह लिये हुए.
©UNRWA Photo/Mohamed Hinnawi

इसराइल-फ़लस्तीन: मौजूदा ठहराव को पलटने के लिये, तत्काल सार्थक क़दमों की ज़रूरत

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष संयोजक टॉर वैनेसलैण्ड ने बुधावार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि इसराइल से फ़लस्तीनी धरती पर नई यहूदी बस्तियों के निर्माण रोकने की मांग करने वाला प्रस्ताव 2334, दिसम्बर 2016 में पारित होने के बाद से, इसके क्रियान्वयन पर “मामूली प्रगति” हुई है.

तुर्कीये के इस्तान्बूल शहर में - काला सागर अनाज निर्यात समझौते पर दस्तख़त किये जाने के दौरान, यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश (बाएँ) और तुर्कीये के राष्ट्रपति रेसेप तैयप अर्दोगान (दाएँ) 22 जुलाई 2022.
UNIC Ankara/Levent Kulu

‘काला सागर अनाज पहल’ के बारे में 5 अहम तथ्य

फ़रवरी 2022 में यूक्रेन पर रूस का आक्रमण शुरू होने के बाद, यूक्रेन से अनाज और रूस से खाद्य वस्तुओं व उर्वरकों की आपूर्ति पर भीषण असर हुआ. आपूर्ति में आए इस व्यवधान की वजह से दुनिया भर में क़ीमतों में भारी उछाल दर्ज किया गया, जिसकी वजह से विश्व में खाद्य संकट जैसे हालात भी पनपने लगे. इसके बाद, संयुक्त राष्ट्र और तुर्कीये के मध्यस्थता प्रयासों के फलस्वरूप ‘काला सागर अनाज पहल’ वजूद में आई जिसके ज़रिये, यूक्रेन से दुनिया भर में खाद्य सामग्री व उर्वरक निर्यात को सम्भव बनाने के लिये प्रयास किये गए. इसी पहल के विषय में कुछ अहम जानकारी… (वीडियो).

सीरियाई अरब गणराज्य के विदेश मंत्री फ़ैसल मिकदाद, यूएन महासभा के 77वें सत्र की उच्चस्तरीय जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए. 26 सितम्बर 2022).
UN Photo/Cia Pak

‘सीरिया पर युद्ध नाकाम हो गया है’ विदेश मंत्री का यूएन महासभा में सम्बोधन

सीरिया ने कहा है कि इस समय युद्धों से लेकर आतंकवाद के प्रसार और जलवायु जनित आपदाओं से जूझ रही एक उथल-पुथल भरी दुनिया - आधिपत्य, धनाड्यता प्रदर्शित करने वाले देशों और अन्य को अपने अधीन करने की उनकी महत्वाकांक्षाओं का परिणाम है. सीरिया के विदेश मंत्री फ़ैसल मिकदाद ने सोमवार को, यूएन महासभा के 77वें सत्र की उच्चस्तरीय जनरल डिबेट को सम्बोधित करते हुए कही.