WFP

म्याँमार: खाद्य सहायता की कोशिशें

म्याँमार में संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम - WFP के उप निदेशक, मारकस प्रायर ने कहा है कि अगले छह महीनों में, 34 लाख से अधिक लोग, विभिन्न स्तरों पर खाद्य असुरक्षा के शिकार हो सकते हैं. यूएन खाद्य एजेंसी का कहना है कि वो खाद्य असुरक्षा के शिकार लोगों तक पर्याप्त सहायता पहुँचाने के इन्तज़ाम कर रही है. वीडियो रिपोर्ट...

म्यामाँर: राजनैतिक संकट के बीच, लोगों तक भोजन पहुँचाने की मुहिम

संयुक्त राष्ट्र का विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP), म्याँमार में मौजूदा राजनैतिक संकट के कारण उत्पन्न हालात के बीच खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे लाखों लोगों के लिये भोजन व अन्य सहायता पहुँचाने के प्रबन्ध करने में सक्रिय है. म्याँमार में यूएन खाद्य एजेंसी के उप निदेशक मारकस प्रायर ने यूएन न्यूज़ के साथ एक ख़ास बातचीत में बताया कि बैंकिग व्यवस्था चरमराने के कारण, लोगों को, भोजन असुरक्षा के साथ-साथ, भोजन ख़रीदने के लिये नक़दी का इन्तज़ाम करने की भी परेशानी भी हो रही है...

म्याँमार: 20 लाख लोगों तक खाद्य सहायता पहुँचाने की तैयारी

विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) ने गुरूवार को कहा है कि म्याँमार में मौजूदा राजनैतिक संकट के कारण उत्पन्न हालात में, लगभग 20 लाख लोग खाद्य असुरक्षा का सामना कर रहे हैं और उन्हें, बढ़ती भुखमरी व हताशा के बीच, पोषण सहायता पहुँचाने के प्रबन्ध किये जा रहे हैं.

तिमोर-लेस्ते: बाढ़ से भारी तबाही, यूएन एजेंसियाँ भी मदद करने में सक्रिय

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियाँ, तिमोर-लेस्ते में, बाढ़ और भूस्खलन का सामना करने के प्रयासों में सक्रिय मदद कर रही हैं. देश भर में आई बाढ़ और भूस्खलन से व्यापक तबाही हुई है और प्रभावित स्थानों में राजधानी दीली भी शामिल है.

रोहिंज्या शरणार्थी शिविर में भीषण आग

बांग्लादेश के कॉक्सेस बाज़ार के कुटुपलाँग शिविर में, 22 मार्च को भीषण आग लगने से, कम से कम 15 लोगों की मौत हुई और 560 से ज़्यादा घायल हुए. महाशिविर में आग लगने से 45 हज़ार से ज़्यादा लोग विस्थापित हुए हैं, जिनमें अधिकतर लोग, पड़ोसी देश म्याँमार से शरण लेने वाले रोहिंज्या शरणार्थी हैं. एक वीडियो रिपोर्ट.

बांग्लादेश: यूएन एजेंसियों के आग उपरान्त सहायता प्रयास तेज़

संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों ने बांग्लादेश के दक्षिणी हिस्से में स्थित कुटुपलाँग शरणार्थी शिविर में, 22 मार्च को लगी भीषण आग के बाद बेघर हुए हज़ारों रोहिंज्या शरणार्थी परिवारों की मदद के लिये प्रयास तेज़ कर दिये हैं.

काँगो: यूएन काफ़िले पर हमला, इटली के राजदूत सहित तीन लोगों की मौत

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य में संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के एक काफ़िले पर सोमवार को, अज्ञात सशस्त्र तत्वों द्वारा किये गए हमले की कड़ी निन्दा की है जिसमें देश में इटली के राजदूत, उनके एक सुरक्षा गार्ड, और विश्व खाद्य कार्यक्रम के एक कर्मचारी की मौत हो गई है. 

खाद्य एजेंसी का नोबेल भाषण: दुनिया को भुखमरी की महामारी से बचाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र की खाद्य सुरक्षा एजेंसी - विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) के प्रमुख डेविड बीज़ली ने कहा कि दुनिया भर में 27 करोड़ से भी ज़्यादा लोगों की आबादी भुखमरी के दरवाज़े पर खड़ी है और भुखमरी महामारी से बचने के लिये और ज़्यादा प्रयास करने की ज़रूरत है. डेविड बीज़ली ने यूएन खाद्य एजेंसी को मिला नोबेल शान्ति पुरस्कार, गुरुवार को स्वीकार करते हुए कहा कि ये संख्या पश्चिमी योरोप की आबादी से भी ज़्यादा है.

इथियोपिया: टीगरे क्षेत्र में सहायता पहुँचाने के लिये यूएन की पूरी तैयारियाँ

संयुक्त राष्ट्र की मानवीय सहायता एजेंसी ने शुक्रवार को कहा है कि वो इथियोपिया के टीगरे क्षेत्र तक सहायता सामग्री पहुँचाने की भरसक कोशिश कर रहा है. संघीय और क्षेत्रीय बलों के बीच कई सप्ताहों तक चली लड़ाई के बाद, विस्थापित हुए लोगों तक पहुँचने के बारे में हुए समझौते के तहत सहायता पहुँचाना सम्भव हो रहा है. 

भुखमरी के ख़िलाफ़ लड़ाई में विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) अग्रणी

संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम (WFP) को वर्ष 2020 का नोबेल शान्ति पुरस्कार विजेता घोषित किया गया है.

ऑडियो -
10'5"