विकास

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 18 सितम्बर 2020

18 सितम्बर 2020 के बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...
-------------------------------------------------------------------

ऑडियो -
19'55"

बेहतर भविष्य के लिये युवाओं के जोश का सदुपयोग अहम, 2020 के युवा चैम्पियन

संयुक्त राष्ट्र ने टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति के प्रयासों में उल्लेखनीय भूमिका निभाने वाले 17 पैरोकारों को वर्ष 2020 के युवा चैम्पियन के रूप में मान्यता दी है.

डिजिटल अर्थव्यवस्था आमजन को बना सकती है वित्त का नियन्त्रक

डिजिटल अर्थव्यवस्था के जोखिमों और फ़ायदों की गहन जानकारी जुटाने के लिये बनाए गए एक यूएन कार्यदल ने कहा है कि इस अर्थव्यवस्था का टिकाऊ विकास पर परिवर्तनशील प्रभाव हो सकता है, और ये नागरिकों को करदाता व निवेशक दोनों के रूप में सशक्त बना सकती है.

कोविड-19: वर्तमान स्थिति पर चिन्तन और भविष्य के आकलन का समय

जनसंख्या के हिसाब से दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश भारत भी कोविड संकट से जूझ रहा है. अपनी विशिष्ट संस्कृति और जनसंख्या समूहों के कारण यहाँ की चुनौतियाँ भी अभूतपूर्व हैं. एक अरब 37 करोड़ की आबादी वाला ये देश दुनिया की सबसे युवा आबादी का भी प्रतिनिधित्व करता है. ऐसे में, कोविड-19 के ख़त्म होने के बाद देश के सकारात्मक पहलुओं को समन्वित करके, किस तरह चुनौतियों से निपटा जाए – 11 जुलाई को 'विश्व जनसंख्या दिवस' पर इन्हीं मुद्दों पर प्रकाश डालता भारत में यूएनएफ़पीए की प्रतिनिधि, अर्जेंटीना मातावेल का ब्लॉग.

कोविड-19: नेपाल में तालाबन्दी से आर्थिक गतिविधियों पर बुरा असर

वैश्विक महामारी कोविड-19 और उसके ऐहतियाती उपायों के मद्देनज़र लागू तालाबन्दी व पाबन्दियों से नेपाल में पर्यटन, मनोरंजन और परिवहन सैक्टर पर भारी असर हुआ है जिससे आर्थिक विकास की सम्भावनाओं को गहरा झटका लगा है. नेपाल में संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा कराए गए एक अध्ययन के मुताबिक लघु और सूक्ष्म उद्यमों में काम कर रहे हर पाँच में तीन लोगों का रोज़गार ख़त्म हो गया है. 

कोविड-19: भीषण तबाही रोकने के लिए मानवीय सहायता में निवेश की दरकार

संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक व सामाजिक परिषद (ECOSOC) में मंगलवार को ऐसी ज़ोरदार अपीलें पेश की गईं कि कोविड-19 महामारी का मुक़ाबला करने के लिए संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक मानवीय प्रतिक्रिया योजना के लिए और ज़्यादा धन सुनिश्चित किया जाना चाहिए. परिषद का वार्षिक मानवीय मामलों का दौर मंगलवार को वीडियो टैली-कान्फ्रेन्सिंग के ज़रिये शुरू हुआ, जोकि इसके इतिहास में पहली बार है.

कोविड-19: मानव विकास की दिशा में उलटफेर होने का ख़तरा

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) ने बुधवार को एक नई रिपोर्ट जारी करते हुए कहा है कि मानव विकास पथ पर प्रगति में पिछले तीन दशकों में पहली बार गिरावट आने की आशंका है. वैश्विक महामारी कोविड-19 के स्वास्थ्य प्रभावों के अलावा सामाजिक व आर्थिक क्षेत्र में व्यापक असर से मानव विकास की दिशा में बड़ा उलटफेर हो सकता है.

कोविड-19 संकट के बावजूद संयुक्त राष्ट्र का मुख्य कामकाज जारी

संयुक्त राष्ट्र के चार प्रमुख अंगों के अध्यक्षों ने सदस्य देशों को भरोसा दिलाते हुए कह है कि कि कोविड-19 महामारी ने संयुक्त राष्ट्र को भी काम करने के नए तरीक़े अपनाने पर मजबूर कर दिया है, इसके बावजूद दुनिया भर में संगठन के महत्वपूर्ण कार्य बिना रुके जारी हैं. इन अध्यक्षों ने शुक्रवार को ऑनलाइन के ज़रिए सदस्य देशों के प्रतिनिधियों से बातचीत के दौरान ये बात कही.

सरकारी शिक्षा ख़र्च में 'शर्मनाक विषमताओं" को दूर करने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – यूनीसेफ़ की एक ताज़ा रिपोर्ट में कहा गया है कि ग़रीब परिवारों की एक तिहाई किशोरी लड़कियों को कभी स्कूली शिक्षा की सुविधा हासिल नहीं हुई और शिक्षा पर ख़र्च धनी परिवारों की तरफ़ भारी रूप में झुका हुआ है.

जलवायु संकट से जीवन की गुणवत्ता प्रभावित, बढ़ रहा है असंतोष

जलवायु संकट, दुनिया भर में लगातार जारी गंभीर विषमताएँ, खाद्य असुरक्षा के बढ़ते स्तर और कुपोषण जैसी स्थितियाँ बहुत से समाजों में लोगों के जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित कर रही हैं जिनके कारण असंतोष भी बढ़ रहा है. संयुक्त राष्ट्र की विश्व आर्थिक स्थिति व संभावनाओं पर वर्ष 2020 की रिपोर्ट में ये आकलन पेश किया गया है. रिपोर्ट के लेखकों ने संकट का सामना करने के लिए ऊर्जा क्षेत्र में व्यापक बदलाव करने का आहवान किया है.