विकास

महामारी के दौर में हुए शिक्षा नुक़सान का आकलन करने और स्कूल फिर खोलने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र की दो एजेंसियों और उनके साझीदार संगठनों ने मंगलवार को कहा है कि कोविड-19 महामारी के कारण स्कूल बन्द होने से छात्रों की शिक्षा का जो नुक़सान हुआ है उसकी भरपाई के लिये लगभग एक तिहाई देशों में अभी तक कोई उपचारात्मक कार्यक्रम लागू नहीं किये गए हैं.

वर्ष 2026 तक लैंगिक समानता की रफ़्तार तेज़ करने के लिये अहम संकल्प

पेरिस में ऐतिहासिक पीढ़ी समानता फ़ोरम शुक्रवार को, संयुक्त राष्ट्र महिला संस्था - यूएन वीमैन की अध्यक्षा की इस घोषणा के साथ सम्पन्न हुआ कि जब पुरुष किसी कमरे के भीतर बैठकर शान्ति वार्ताएँ करते हैं तो महिलाएँ भी वहीं नज़दीक गलियारों में बैठी होती हैं. लैंगिक विषमताओं और अन्य तरह के अन्यायों से निपटने का संकल्प भी, इस फ़ोरम में लिया गया.

समावेशी व टिकाऊ भविष्य के लिये खेलकूद की ताक़त पर ध्यान

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने खेलकूद में व्यस्त व शामिल सर्वजन से आग्रह किया है कि वो जलवायु कार्रवाई को आगे बढ़ाने, भेदभाव और पूर्वाग्रह का मुक़ाबला करने, और वैश्विक खेलकूद घटनाओं द्वारा सकारात्मक विरासत छोड़ा जाना सुनिश्चित करने में मदद करें.

दुनिया, 2030 एजेण्डा के मार्ग में, अहम पड़ाव पर, यूएन उप प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र की उप महासचिव आमिना जे मोहम्मद ने कहा है कि दुनिया इस समय टिकाऊ विकास एजेण्डा 2030 के लक्ष्यों को प्राप्त करने के मार्ग पर, बहुत अहम पड़ाव पर खड़ी है. यूएन उप प्रमुख ने ये बात योरोपीय संसद की उपाध्यक्ष हाएदी हउतला के साथ एक वर्चुअल वार्ता के दौरान, बुधवार को कही.

महिला दिवस 2021

8 मार्च को अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस पर, लैंगिक असमानता ख़त्म करने और महिलाओं को और ज़्यादा कार्यस्थल मुहैया कराने का आहवान किया गया है. कोविड-19 महामारी का मुक़ाबला करने के प्रयासों में भी महिलाएँ, अग्रिम मोर्चों पर मुस्तैद रही हैं. वीडियो सन्देश...

एशिया-प्रशान्त: अन्तरिक्ष टैक्नॉलॉजी की मदद से टिकाऊ विकास को बढ़त

संयुक्त राष्ट्र की एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि एशियाई व प्रशान्त देश कोरोनावायरस महामारी के फैलाव व प्रभाव का मुक़ाबला करने और अन्य ज़मीनी चुनौतियों का सामना करने के लिये अन्तरिक्ष भू-स्थानिक टैक्नॉलॉजी का भरपूर फ़ायदा उठाने की कोशिश कर रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र कैसे करता है संघर्ष रोकथाम व निवारण

जब सदस्य देशों ने 75 वर्ष पहले यूएन चार्टर पर हस्ताक्षर किये थे, इसका मक़सद आने वाली पीढ़ियों को तीसरे विश्व युद्ध से बचाना था. इसका मक़सद संघर्ष टालना व रोकना भी था. इसलिये संयुक्त राष्ट्र के लिये संघर्ष निवारण अब भी एक केन्द्रीय प्राथमिकता है. फिर भी, सम्बन्ध पक्षों को शान्ति के लिये राज़ी करना बहुत कठिन काम है, ख़ासतौर से तब, जब वो शान्ति नहीं चाहते हों.

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 16 अक्टूबर 2020

इस बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...
बहुतायत वाली दुनिया में करोड़ों लोगों को अब भी मयस्सर नहीं है, एक वक़्त की भरपेट भोजन ख़ुराक.
नोबेल शान्ति पुरस्कार विजेता World Food Program कैसे कर रहा है भुखमरी का मुक़ाबला, एक इंटरव्यू.

ऑडियो -
19'46"

खाद्य सप्ताह पर महासचिव का सन्देश

विश्व खाद्य सप्ताह पर यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश का सन्देश...

कोविड-19 ने बदली ऑनलाइन शॉपिंग की तस्वीर, नया सर्वेक्षण

उभरती हुई और विकसित अर्थव्यवस्थाओं वाले देशों में हुआ एक नया सर्वेक्षण दर्शाता है कि विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 ने ऑनलाइन ख़रीदारी के रूप को हमेशा के लिये बदल दिया है और यह रुझान बरक़रार रहने की सम्भावना है. व्यापार एवँ विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) और साझीदार संगठनों द्वारा नौ देशों में साढ़े तीन हज़ार से ज़्यादा उपभोक्ताओं पर आधारित इस सर्वेक्षण में यह तस्वीर उभरी है.