विश्व अर्थव्यवस्था

बमबारी में छह वर्षीया मिलाना की माँ की मौत हो गई. अब वो कीयेफ़ के एक अस्पताल में सर्जरी के बाद उबर रही हैं.
© UNICEF/Oleksandr Ratushniak

यूक्रेन: 'शान्ति की तत्काल दरकार, दुनिया की खाद्य टोकरी पर जोखिम'

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को क्षोभ व्यक्त करते कहा है कि यूक्रेन, इस समय आग की लपटों में घिरा हुआ है और दुनिया की आँखों के सामने ही उसे तबाह किया जा रहा है. उन्होंने एक चेतावनी जारी करते हुए कहा कि यूक्रेन संकट के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था के दरकने का ख़तरा है, जिसका विश्व के सर्वाधिक निर्बल व ज़रूरतमन्द लोगों पर भीषण असर होगा.

लीमा की राजधानी पेरू का एक इलाक़ा.
IMF/Ernesto Benavides

वैक्सीन सुलभता में विषमता, आर्थिक पुनर्बहाली के लिये बड़ा जोखिम

संयुक्त राष्ट्र का एक नया आर्थिक विश्लेषण दर्शाता है कि वैश्विक प्रगति की सम्भावनाओँ मे सुधार के बावजूद, विश्वव्यापी महामारी कोविड-19 का असर अभी जारी है. संयुक्त राष्ट्र आर्थिक एवँ सामाजिक मामलों के विभाग (DESA) द्वारा मंगलवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार निर्धन देशों में टीकाकरण की पर्याप्त उपलब्धता ना हो पाने की वजह से, आर्थिक पुनर्बहाली प्रक्रिया पर ख़तरा मंडरा रहा है.

कोरोनावायरस के फैलाव के दौरान आर्थिक गतिविधियाँ बुरी तरह प्रभावित हुई हैं.
World Bank/Paul Salazar

2021 में वैश्विक अर्थव्यवस्था में चार फ़ीसदी की बढ़ोत्तरी का अनुमान 

विश्व बैंक ने मंगलवार को वर्ष 2021 में वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिये अपना सतर्कतापूर्ण अनुमान जारी करते हुए आर्थिक वृद्धि की दर चार फ़ीसदी रहने की सम्भावना जताई है. विश्व बैंक ने स्पष्ट किया है कि महामारी के प्रभावों से अर्थव्यवस्था के उबरने की प्रक्रिया में नरमी बनी रहेगी. 

बांग्लादेश में सामुदायिक कर्मचारी ज़मीनी स्तर पर साफ-सफ़ाई बरतने के लिए ज़रूरी सामग्री का वितरण कर रहे हैं.
UNDP/Fahad Kaizer

कोविड-19: 'अभूतपूर्व आर्थिक आघात' से विकास की आशाओं पर मँडराता ख़तरा

ऐसे समय जब वैश्विक महामारी कोविड-19 के संकट से दुनिया भर में विभिन्न क्षेत्रों में गम्भीर दुष्प्रभाव महसूस किए जा रहे हैं, अभूतपूर्व आर्थिक झटकों ने विकास पथ पर अब तक हुई प्रगति के समक्ष एक बड़ा जोखिम पैदा कर दिया है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने बुधवार को व्यवसाय क्षेत्र से जुड़ी बड़ी हस्तियों के साथ एक बैठक में यह बात कही है.  

कोरोनावायरस के कारण दुनिया भर में आर्थिक गतिविधियाँ व्यापक स्तर पर प्रभावित हुई हैं.
UNDP Eurasia/Karen Cirillo

कोविड-19: दूसरे विश्व युद्ध के बाद विश्व अर्थव्यवस्था पर सबसे बड़ा संकट

वैश्विक महामारी कोविड-19 के कारण तालाबन्दी और अन्य सख़्त पाबन्दियों से विश्व अर्थव्यवस्था पर बेहद तेज़ गति से बड़ा और भारी झटका लगा है जिससे गम्भीर संकट पैदा हो गया है. विश्व बैंक (World Bank) के ताज़ा अनुमान के अनुसार इस वर्ष वैश्विक अर्थव्यवस्था के बढ़ने के बजाय 5.2 प्रतिशत तक सिकुड़ने की आशंका है जो दूसरे विश्व युद्ध के बाद अब तक की सबसे गहरी आर्थिक मन्दी होगी.