UNESCO

वनाउतू नामक प्रशांति द्वीप में यूनीसेफ़ के एक जागरूता अभियान में बच्चे कोविड-19 के बारे में जानकारी हासिल करते हुए - हाथ साफ़ रखकर इस महामारी से कैसे सुरक्षित रहा जा सकता है.
© UNICEF Pacific/Toangwera

कोविड-19: दुष्प्रचार व झूठी सूचनाएँ बन गई हैं - 'Disinfodemic'

दुनिया भर में निराधार और झूठ पर आधारित जानकारी की इतनी भरमार हो गई है कि बहुत से टिप्पणीकार अब उस ग़लत जानकारी की तूफ़ानी बौछार का हवाला देने लगे हैं. कोविड-19 महामारी से संबंधित ग़लत सूचनाओं व दुष्प्रचार के इस तूफ़ान को ‘डिस्इन्फ़ोडेमिक’ कहा गया है यानी ये भी किसी महामारी से कम नहीं है.