टीके

नेपाल की राजधानी काठमाण्डू में एक चार साल की बच्ची को MR वैक्सीन की ख़ुराक दी जा रही है.
© UNICEF/Laxmi Prasad Ngakhusi

तीन दशकों में बाल टीकाकरण की सर्वाधिक सुस्त रफ़्तार, लाखों ज़िन्दगियों पर जोखिम

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों द्वारा शुक्रवार को जारी किये गए आधिकारिक आँकड़े दर्शाते हैं कि बाल टीकाकरण दरों में निरन्तर दर्ज की जा रही गिरावट, पिछले 30 वर्षों में सबसे अधिक है. रिपोर्ट के अनुसार ढाई करोड़ से अधिक नवजात शिशु इन जीवनरक्षक टीकों से वंचित हैं. 

भारत के कोहिमा में एक महिला को कोविड-19 वैक्सीन की ख़ुराक दी जा रही है.
© UNICEF/Tiatemjen Jamir

कोविड-19: मौजूदा टीकों में सम्भवत: बदलाव की ज़रूरत, विशेषज्ञों की चेतावनी

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा नियुक्त एक विशेषज्ञ समूह ने कहा है कि कोविड-19 से बचाव के लिये, मौजूदा टीकों में बदलाव करने की ज़रूरत पड़ सकती है, ताकि ओमिक्रॉन और भविष्य में उभरने वाले वैरीएण्ट्स के विरुद्ध भी, उनका असर बरक़रार रहे.