तालिबान

ईद के मौक़े पर तालिबान और अफ़ग़ान सरकार में युद्धविराम का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने अफ़ग़ानिस्तान की सरकार और तालिबान द्वारा तीन दिन के लिए लड़ाई रोके जाने की घोषणा का स्वागत किया है. ईद-उल-फ़ित्र के पर्व से कुछ ही घण्टे पहले तालिबान ने अनेपक्षित घोषणा में कहा था कि उनकी ओर से हमले सिर्फ़ तभी होंगे जब उनके ठिकानों को निशाना बनाया जाएगा. इसके कुछ ही देर बाद राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने भी सुरक्षा बलों को इसका पालन करने के आदेश जारी कर दिए.

अफ़ग़ानिस्तान: रमज़ान में आम लोगों को 'जानबूझकर बनाया गया निशाना'

अफ़ग़ानिस्तान में संयुक्त राष्ट्र ने सभी पक्षों से आग्रह किया है कि हिंसा में आम लोगों को निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए और  उनकी रक्षा के दायित्व  को पूर्ण रूप से निभाया जाना चाहिए. रमज़ान के पवित्र महीने में चरमपंथियों के हमलों में राजधानी काबुल में ही 100 से ज़्यादा आम नागरिकों की मौत हो गई जिसकी यूएन ने निंदा की है. 

अफ़ग़ानिस्तान में बंदियों के साथ दुर्व्यवहार किए जाने के मामलों पर चिंता

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान चरमपंथियों द्वारा बंदियों के साथ बुरा बर्ताव किए जाने की जानकारी मिलने के बाद संयुक्त राष्ट्र मिशन (UNAMA) ने गहरी चिंता ज़ाहिर की है. यूएन मिशन को विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि कुछ मामलों में बंदियों को यातना दिए जाने की भी बात सामने आई है.  

तालिबानी हमलों से 'स्थायी शांति' के लिए प्रयासों को झटका

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान चरमपंथियों की उस घोषणा की निंदा की है जिसमें वसंत के मौसम में हमले फिर शुरू करने की धमकी दी गई है. सुरक्षा परिषद के मुताबिक़ ये हमले अफ़ग़ानिस्तान की जनता के लिए अनावश्यक पीड़ा और तबाही लेकर आएंगे. अफ़ग़ानिस्तान में हिंसा के बीच शांति प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के लिए प्रयास भी हो रहे हैं.