स्वास्थ्यकर्मी

म्याँमार: स्वास्थ्य केन्द्रों पर हमलों से ख़तरे में कोविड-19 जवाबी कार्रवाई

म्याँमार में 1 फ़रवरी को सैन्य तख़्ता पलट के बाद से अब तक चिकित्साकर्मियों और मेडिकल केन्द्रों पर कम से कम 158 हमले हो चुके हैं और विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लेने वाले 139 डॉक्टरों को गिरफ़्तार किया गया है. म्याँमार में संयुक्त राष्ट्र के कार्यालय ने बुधवार को कहा है कि मौजूदा हालात में कोविड-19 पर जवाबी कार्रवाई के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्व स्वास्थ्य सेवाओं के लिये भी जोखिम पैदा हो गया है.   

विश्व में नौ लाख दाइयों की कमी से उपजी चिन्ता – नई रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों और साझीदार संगठनों की एक नई रिपोर्ट, दुनिया में व्यापक स्तर पर दाइयों (Midwives) की कमी को दर्शाती है, जिनकी स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव में लाखों महिलाओं व नवजात शिशुओं की या तो मौत हो रही है या फिर वे अस्वस्थता के शिकार हो रहे हैं. रिपोर्ट बताती है कि वर्ष 2035 तक इन स्वास्थ्य सेवाओं में समुचित निवेश के ज़रिये, हर वर्ष 43 लाख ज़िन्दगियों को बचाया जा सकता है.

कोविड-19: दक्षिण एशिया में बेक़ाबू वायरस पूरी दुनिया के लिये ख़तरा

दक्षिण एशिया में संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) के वरिष्ठ अधिकारी ने आगाह किया है कि क्षेत्र में स्थित देशों में कोविड-19 की घातक लहर से स्वास्थ्य सेवाओं पर भारी बोझ है जिसमें उनके ढह जाने की आशंका है. उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो यह पूरी दुनिया में वैश्विक महामारी पर जवाबी कार्रवाई मेंअब तक हुई प्रगति के लिये एक बड़ा ख़तरा होगा. उन्होंने इस चुनौती से निपटने के लिये, सरकारों द्वारा तत्काल कार्रवाई और स्फूर्तिवान नेतृत्व की आवश्यकता पर बल दिया है.

कोविड-19: 90 प्रतिशत देशों में स्वास्थ्य सेवाओं में व्यवधान जारी

वैश्विक महामारी कोविड-19 का फैला शुरू हुए एक वर्ष से भी ज़्यादा समय बीतने के बावजूद, दुनिया के 90 प्रतिशत देशो में महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं में उत्पन्न हुआ व्यवधान अब भी जारी है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक नए सर्वेक्षण के नतीजे पेश करते हुए कहा है कि वर्ष 2020 में यह सर्वे पहली बार कराया गया था, लेकिन उसके बाद से अब तक हालात में कोई ठोस बदलाव नज़र नहीं आए हैं.

कोविड-19: समर्पण भाव से सेवारत स्वास्थ्यकर्मियों की सराहना

वैश्विक महामारी कोविड-19 पर जवाबी कार्रवाई में अग्रिम मोर्चे पर डटे स्वास्थ्यकर्मियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. भारत में यूएन एजेंसियों ने बुधवार, 7 अप्रैल, को ‘विश्व स्वास्थ्य दिवस’ के अवसर पर निस्वार्थ भाव से अपने कार्य में जुटे इन ‘नायकों’ का आभार व्यक्त किया है.   

कोविड-19: विषमताओं पर पार पाने के लिये पाँच अहम समाधान 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कोविड-19 महामारी द्वारा उजागर विषमताओं को दूर करने के लिये पाँच महत्वपूर्ण उपायों को पेश किया है. उन्होंने बुधवार को ‘विश्व स्वास्थ्य दिवस’ के अवसर पर वैक्सीन, परीक्षण और उपचार की न्यायसंगत सुलभता, बुनियादी स्वास्थ्य देखभाल में निवेश, सामाजिक संरक्षा व समावेशी पड़ोस सुनिश्चित करने और स्वास्थ्य सूचना प्रणालियों को मज़बूती प्रदान किये जाने का आहवान किया है.   

महामारियों से निपटने के लिये प्रस्तावित सन्धि - स्वास्थ्य रक्षा का 'पीढ़ीगत संकल्प'

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा है कि भावी महामारियों से निपटने पर केन्द्रित एक अन्तरराष्ट्रीय सन्धि की पेशकश के लिये समर्थन बढ़ रहा है, जोकि दुनिया को सुरक्षित रखने के लिये एक पीढ़ीगत संकल्प होगा. यूएन एजेंसी प्रमुख के अनुसार, महामारी को फैलाने वाले नए वायरसों का ख़तरा हमेशा बना रहेगा, जिसके मद्देनज़र, स्वास्थ्य कार्यबल को मज़बूत बनाए जाने को, सर्वोपरि प्राथमिकता देनी होगी, जोकि एक सुदृढ़ स्वास्थ्य प्रणाली की बुनियाद है. 

महिलाओं को अहम फ़ैसलों से दूर रखा जाना सहन नहीं - यूएन महिला संस्था

महिला सशक्तिकरण के लिये यूएन संस्था – यूएन वीमैन (UN Women) की प्रमुख फ़ूमज़िले म्लाम्बो-न्गुका ने कहा है कि महिलाओं की ज़िन्दगी पर असर डालने वाले निर्णयों से उन्हें दूर रखा जाना ग़लत है और इसकी अनुमति नहीं दी जानी चाहिये. उन्होंने, अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर, सोमवार को आयोजित एक कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए यह बात कही है.

कोविड-19: यूएन पहल के तहत 145 देशों में अहम कामगारों को मिलेगी वैक्सीन

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम और बचाव के लिये 145 देशों में अहम सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों और अन्य निर्बल व्यक्तियों को इस वर्ष की पहली छमाही में वैक्सीन मिल जानी चाहिये. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और साझीदार संगठनों ने बुधवार को इस आशय की घोषणा करते हुए बताया कि यह मदद कोरोनावायरस वैक्सीन के न्यायसंगत वितरण के लिये संचालित मुहिम कोवैक्स के तहत उपलब्ध कराई जाएगी. 

कोविड-19: वैक्सीन के असरदार और न्यायसंगत इस्तेमाल का आग्रह

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम और बचाव के लिये अनेक देशों में टीकाकरण मुहिम जारी है, लेकिन वैक्सीन की सीमित आपूर्ति एक बड़ी चुनौती है. इसके मद्देनज़र, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सरकारों से स्वास्थ्यकर्मियों व वृद्धजनों को प्राथमिकता देने और अतिरिक्त ख़ुराकों को अन्य देशों में भेजने का आग्रह किया है.