स्वास्थ्य

महिला दिवस 2021

8 मार्च को अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस पर, लैंगिक असमानता ख़त्म करने और महिलाओं को और ज़्यादा कार्यस्थल मुहैया कराने का आहवान किया गया है. कोविड-19 महामारी का मुक़ाबला करने के प्रयासों में भी महिलाएँ, अग्रिम मोर्चों पर मुस्तैद रही हैं. वीडियो सन्देश...

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 5 मार्च 2021

इस बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

ऑडियो -
24'20"

वैक्सीनें कैसे कारगर होती हैं!

वैक्सीन टीके, हमारी रोग प्रतिरोधक प्रणाली को, वायरस की पहचान, पहले से ही करने और उसके ख़िलाफ़ सुरक्षा कवच बनाने में सक्षम बनाते हैं. वैक्सीन टीके, हमें सुरक्षित बनाते हैं और वायरस को फैलने से रोकते हैं. अगर पर्याप्त संख्या में, लोगों को टीके लग जाएँ, तो पूरे समुदाय की सुरक्षा की जा सकती है. देखें ये वीडियो...

सीरिया: आर्थिक बदहाली, फैलती भुखमरी, बढ़ती मानवीय राहत ज़रूरतें

सीरिया की अर्थव्यवस्था एक बेहद कठिन दौर से गुज़र रही है और पिछले डेढ़ वर्षों में, देश ने आर्थिक मोर्चे पर अनेक झटकों का सामना किया है. संयुक्त राष्ट्र में आपात राहत मामलों के समन्वयक मार्क लोकॉक ने गुरुवार को सुरक्षा परिषद को, हालात से अवगत कराते हुए बताया कि सीरियाई मुद्रा के लुड़कने और बेरोज़गारी बढ़ने से स्थानीय लोगों के लिये बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा करना संघर्षपूर्ण साबित हो रहा है. 

कोविड-19: कोवैक्स के टीका अनुबन्धों को प्राथमिकता देने का आग्रह

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख ने औषधि निर्माताओं से, संयुक्त राष्ट्र के नेतृत्व वाली समान वैक्सीन पहल, कोवैक्स के साथ अनुबन्ध को प्राथमिकता दिये जाने की अपील की है. उन्होंने कहा कि यह “मुद्दा दान का नहीं है, यह मुद्दा महामारी विज्ञान का है."

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलेटिन 19 फ़रवरी 2021

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

ऑडियो -
22'38"

भारत में कोविड टीकाकरण अभियान

भारत में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण अभियान में सक्रिय योगदान कर रहा है. भारत में यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के प्रतिनिधि, डॉक्टर रॉड्रिको एच ऑफ्रिन ने यूएन न्यूज़ हिन्दी को बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के ढाई हज़ार से ज़्यादा कर्मचारियों ने, देश भर में पाँच लाख से अधिक स्वास्थ्यकर्मियों को, टीकाकरण अभियान के लिये प्रशिक्षित किया है. डॉक्टर ऑफ्रिन के साथ एक वीडियो साक्षात्कार... 
 

अफ़ग़ानिस्तान: एक बिटिया को जन्म देने वाली माँ की उम्मीदें और डर...

अफ़ग़ानिस्तान में, एक माँ, कुछ ही दिनों में, इस दुनिया में आने वाली अपनी बेटी के लिये, एक ऐसे देश में, अपनी उम्मीदों और डर के बारे में बात कर रही हैं जहाँ एक लड़की को जन्म देना, आशीर्वाद समझने के बजाय, एक अभिशाप भी समझा जा सकता है. देश के, पुरुष प्रधान समाज में, अक्सर महिलाएँ और लड़कियाँ, पुरुषों के हाथों, बुरे बर्ताव और प्रताड़ना का सामना करती हैं, लड़कियों की तुलना में, लड़के ज़्यादा पसन्द किये जाते हैं और उन्हें ज़्यादा अहमियत दी जाती है.

वेनेज़ुएला के 17 लाख लोगों को कोलम्बिया द्वारा अस्थाई संरक्षा प्रदान किये जाने का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सोमवार को कोलम्बिया के राष्ट्रपति की उस घोषणा की सराहना की है जिसके अनुसार देश में रह रहे वेनेज़ुएला के सभी प्रवासियों व शरणार्थियों को अस्थाई संरक्षा प्रदान की जाएगी. राष्ट्रपति इवान डुके मार्केज़ द्वारा उठाए गए इस क़दम से वेनेज़ुएला के लगभग 17 लाख विस्थापितों को लाभ पहुँचेगा और स्वास्थ्य सहित अन्य बुनियादी व आवश्यक सेवाओं तक उनकी पहुँच सम्भव हो सकेगी. 

सामाजिक विकास है टिकाऊ और सुदृढ़ जगत का 'अहम स्तम्भ'

वैश्विक महामारी कोविड-19 की रोकथाम के लिये दुनिया के अनेक देशों में टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है जिससे कोरोनावायरस संकट पर क़ाबू पाने की उम्मीद बंधी है. लेकिन संयुक्त राष्ट्र के एक उच्चस्तरीय अधिकारी ने सचेत किया है कि विकासशील देशों में बड़ी संख्या में लोगों को ये वैक्सीन जल्द मिलने की सम्भावना नहीं है और यह स्थिति पीड़ादायक है.