सुरक्षा

विशेष दूत का इसराइलियों व फ़लस्तीनियों से सार्थक बातचीत के रास्ते पर लौटने का आग्रह

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के दूत निकोलय म्लैदेनॉफ़ ने सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए, इसराइलियों और फ़लस्तीनियों, क्षेत्र के देशों और वृहद अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से, सम्बद्ध पक्षों को शान्ति प्रक्रिया में फिर से शिरकत कराने के लिये व्यावहारिक क़दम उठाने का आग्रह किया है. 

लीबिया में, युद्धविराम के शान्ति लाभ, अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये प्रयास शुरू

लीबिया में गृहयुद्ध को रोकने वाले, अक्टूबर में हुए युद्धविराम के अच्छे आर्थिक नतीजे मिलने शुरू हो गए हैं जिनसे देश के सामान्य लोगों के जीवन में कुछ बेहतरी आने की उम्मीद की जा रही है. केन्द्रीय बैंक के बोर्ड की बैठक, पाँच साल के व्यवधान के बाद शुरू हुई है और तेल उत्पादन भी पूरी रफ़्तार के साथ शुरू हो गया है, जिससे राजनैतिक परिवर्तन की प्रक्रिया तेज़ करने में मदद मिलेगी.

डीआरसी: राजनैतिक तनाव, सशस्त्र हमले, विस्थापन और कोविड चुनौतियाँ दरपेश

काँगो लोकतान्त्रिक गणराज्य (डीआरसी) में यूएन मिशन की अध्यक्ष लैला ज़ैरूगुई ने सोमवार को सुरक्षा परिषद को बताया है कि देश में, अनेक तरह के ख़तरों और जोखिमों का सामना कर रहे नागरिकों को, सरकारी संस्थानों द्वारा, स्थिरता और सुरक्षा मुहैया कराए जाने की सख़्त ज़रूरत है.

'रसायनिक हथियारों को इतिहास के पन्नों में समेट दिया जाए'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने विश्व से रसायनिक हथियारों का बिल्कुल ख़ात्मा करने के लिये संकल्प दोहराए जाने का आहवान किया है. यूएन प्रमुख ने सोमवार को, रसायनिक हथियारों के इस्तेमाल के भुक्तभोगियों की याद में मनाए जाने वाले दिवस पर अपने सन्देश में कहा कि दुनिया भर में कहीं भी, किसी भी द्वारा और किन्हीं भी परिस्थितियों में, रसायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया जाना, बिल्कुल असहनीय और अन्तरराष्ट्रीय क़ानून का गम्भीर उल्लंघन है.

सीरिया: कड़ी सर्दी का सामना करने के लिये ज़्यादा सहायता की सख़्त ज़रूरत

संयुक्त राष्ट्र के आपदा राहत मामलों के कार्यवाहक उप संयोजक रमेश राजसिंघम ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि सीरिया में आगामी सम्भवतः बहुत कड़ी सर्दियों के मौसम में 3 लाख से ज़्यादा लोगों को मदद की ज़रूरत पड़ेगी. उन्होंने कहा कि विस्थापित लोगों की हालत ख़ासतौर पर, बहुत गम्भीर है.

इराक़: तूफ़ानों के बीच, अन्तरराष्ट्रीय सहायता बहुत अहम

इराक़ के लिये संयुक्त राष्ट्र की विशेष प्रतिनिधि जिनीन हैनिस प्लैस्शाएर्ट ने सुरक्षा परिषद को बताया है कि देश में सरकार और प्रशासन अनेक तूफ़ानों के बीच काम जारी रखने की कोशिश कर रहे हैं, ऐसे में, मौजूदा राजनैतिक, सुरक्षा, आर्थिक और सामाजिक संकटों को हल करने के लिये अन्तरराष्ट्रीय सहायता की बहुत ज़रूरत है.

अफ़ग़ानिस्तान के लिये चन्दे के वादे और टिकाऊ युद्धविराम की पुकार

अन्तरराष्ट्रीय दानदाताओं ने जिनावा में हुए सम्मेलन में अफ़ग़ानिस्तान शान्ति प्रक्रिया के लिये वित्तीय और राजनैतिक समर्थन व सहायता का संकल्प व्यक्त किया है. मंगलवार को सम्पन्न हुए इस 2020 अफ़ग़ानिस्तान सम्मेलन में ये भी उम्मीद नज़र आई कि एक टिकाऊ युद्धविराम से देश को दशकों के संघर्ष की तबाही से निकालकर पुनर्निर्माण करने और घावों पर मरहम लगाने में मदद मिलेगी.

संघर्षों में फँसे बच्चों और लोगों की सुरक्षा की सख़्त ज़रूरत

बच्चों और सशस्त्र संघर्ष मामलों के लिये संयुक्त राष्ट्र की विशेष दूत वर्जीनिया गाम्बा ने कहा है कि हथियारबन्द संघर्षों में शैक्षणिक और स्वास्थ्य ठिकानों पर लगातार हो रहे हमलों के कारण बच्चों और मानवीय सहायता कर्मियों पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है.

बदलाव की साक्षी - अनु मेल्को

फिनलैण्ड की नागरिक, अनु मेल्को दक्षिण सूडान में संयुक्त राष्ट्र मिशन के साथ सुधार इकाई की प्रमुख के रूप में कार्यरत हैं. उनका मानना है कि संघर्ष भरे इलाक़ों में महिला शान्तिरक्षक एक प्रेरणास्रोत के रूप में कार्य करते हैं. इसके अलावा, उन्हें शान्तिरक्षा के कार्य से बहुत सन्तुष्टि मिलती है, और इस ऐहसास से बहुत गर्व महसूस होता है कि वह संयुक्त राष्ट्र के लिये योगदान दे रही हैं. (वीडियो)...

छोटे पैकेट की बड़ी शक्ति: ऐनी की कहानी

माली में  संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन - MINUSMA की सूचना संचालन उप प्रमुख, ऐनी फैम क़द में छोटी हैं, लेकिन उनके इरादे बहुत ऊँचे हैं. उनका मानना है कि संयुक्त राष्ट्र में एकदम अन्तरराष्ट्रीय और विविधतापूर्ण माहौल है, और सभी महिलाओं को इसमें शामिल होना चाहिये, क्योंकि यह एक बहुत ही समावेशी और ज्ञानवर्धक अनुभव है. (वीडियो)...