सुरक्षा परिषद

'अफ़ग़ान जनता से मुँह मोड़ने का समय नहीं', सहायता प्रयासों की पुकार

अफ़ग़ानिस्तान में हालात पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष प्रतिनिधि डेबराह लियोन्स ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान पर तालेबान के वर्चस्व के बाद, स्थानीय आबादी को महसूस हो रहा है कि उन्हें उनके हाल पर छोड़ दिया गया है, और उन्हें ऐसे हालात का दण्ड मिल रहा है, जिनमें उनका कोई दोष नहीं है. 

यमन: युद्ध तुरन्त रोके जाने की पुकार, मानवीय सहायता ज़रूरतों में भारी बढ़ोत्तरी

संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत हैन्स ग्रण्डबर्ग ने, यमन के हालात के बारे में, गुरूवार को सुरक्षा परिषद के सदस्यों को ताज़ा जानकारी से अवगत कराते हुए कहा है कि यूएन समर्थित राजनैतिक प्रक्रिया भी  देश में जारी युद्ध के एक टिकाऊ समाधान का हिस्से हो सकती है.

सुरक्षा परिषद: म्याँमार में हालात चिन्ताजनक, हिंसा रोकने की अपील 

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने म्याँमार में हिंसा पर तत्काल विराम लगाए जाने और आमजन की सुरक्षा सुनिश्चित किये जाने की पुकार लगाई है. म्याँमार के सैन्य बलों और चरमपंथी गुटों के बीच झड़पों की ख़बरों के बीच, सुरक्षा परिषद ने बुधवार शाम एक वक्तव्य जारी करके, हिंसा पर गहरी चिन्ता जताई है.  

यूएन पुलिस, शान्ति व रक्षा चुनौतियों से निपटने के लिये 'बेहतर तैयार'

संयुक्त राष्ट्र में शान्ति अभियानों के प्रमुख ज़्याँ-पियेर लाक्रोआ ने यूएन पुलिस (UNPOL) को शान्तिरक्षा का एक अहम स्तम्भ क़रार देते हुए कहा है कि शान्तिरक्षा के लिये कार्रवाई (Action for Peacekeeping / A4P) पहल के अन्तर्गत यूएन पुलिस अधिकारी, हज़ारों शान्तिरक्षकों को मौजूदा चुनौतियों से निपटने में मदद प्रदान करते हैं.

पूर्ण समावेशन व समानता के बिना, शान्ति है अधूरी – यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि विविधता को एक ख़तरे के बजाय, एक बलशाली लाभ के रूप में देखे जाने की ज़रूरत है, विशेष रूप से हिंसक संघर्ष की चुनौती का सामना कर रहे देशों में. यूएन प्रमुख ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद में एक चर्चा को सम्बोधित करते हुए, शान्ति निर्माण प्रक्रिया में समावेशन व समानता पर बल दिया है.

शिक्षा स्थलों को हमलों से बचाने के लिये, सुरक्षा परिषद का पहला व अनोखा प्रस्ताव

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने, शुक्रवार को एक मत से, एक अनोखा प्रस्ताव पारित किया है जिसमें स्कूलों, बच्चों और शिक्षकों के ख़िलाफ़ होने वाले हमलों की तीखी निन्दा की गई है, साथ ही संघर्ष से सम्बद्ध सभी पक्षों से, शिक्षा के अधिकार की तत्काल हिफ़ाज़त किये जाने का आग्रह भी किया है.

शान्ति प्रक्रियाओं में महिला नेतृत्व व उनकी सार्थक भागीदारी पर बल

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने गुरूवार को सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए कहा है कि विश्व की आधी आबादी को, अन्तरराष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा विषयों से दूर नहीं रखा जा सकता. यूएन प्रमुख ने उन चुनौतियों से निपटने व खाईयों को पाटने पर ज़ोर दिया है, जो महिलाओं व लड़कियों की आवाज़ को बराबरी देने से रोकती हैं.

इथियोपिया: यूएन कर्मचारियों के निष्कासन की आलोचना, जीवन बचाने पर ध्यान लगाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इथियोपिया सरकार से, देश में बहुत अहम मानवीय सहायता अभियान जारी रहने देने का आग्रह किया है. यूएन प्रमुख का ये बयान, ऐसे समय आया है जब इथियोपिया सरकार ने कुछ ही दिन पहले, संयुक्त राष्ट्र के सात कर्मचारियों को, अवांछित घोषित करते हुए, देश से निष्कासित कर दिया था.

यूएन चार्टर के उद्देश्यों व सिद्दान्तों का संगठित पालन ज़रूरी, रूस

रूस महासंघ के विदेश मंत्री सर्गे वी लैवरॉफ़ ने यूएन महासभा को सम्बोधित करते हुए, संयुक्त राष्ट्र के संस्थापना दस्तावेज़ – यूएन चार्टर के उद्देश्य व सिद्धान्त जीवित व क़ायम रखने के लिये, एक नई सहमति की पुकार लगाई है. रूसी विदेश मंत्री ने शनिवार को उच्च स्तरीय जनरल डिबेट को सम्बोधन में, पश्चिम समर्थित – “नियम आधारित व्यवस्था” की अवधारणा को रद्द किये जाने का आहवान भी किया.

अफ़ग़ानिस्तान: सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव पारित, महिलाओं की ‘अर्थपूर्ण भागीदारी’ का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने शुक्रवार को सर्वमत से एक प्रस्ताव पारित करते हुए, अफ़ग़ानिस्तान में यूएन मिशन के आदेशपत्र (mandate) की अवधि को छह महीने के लिये बढ़ा दिया है. इस प्रस्ताव में सार्वजनिक जीवन में महिलाओं की समान व अर्थपूर्ण भागीदारी की अहमियत पर विशेष बल दिया गया है.