संघर्ष

सुरक्षा परिषद का आग्रह - स्कूलों पर हमले बन्द हों

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने माँग करते हुए कहा है कि दुनिया भर में लड़ाई-झगड़ों, संघर्षों वाले व अशान्त स्थानों पर स्कूलों, छात्रों और शिक्षकों पर हमले रोके जाने होंगे. ये माँग गुरूवार को जारी सुरक्षा परिषद के अध्यक्षीय वक्तव्य में  उठाई गई है जो हमलों से शिक्षा की सुरक्षा के लिये अन्तरराष्ट्रीय दिवस के मौक़े से मेल खाती है.

नोबेल विजेता डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को मिली धमकियों के बीच सुरक्षा देने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बाशेलेट ने कोंगो के नोबेल पुरस्कार विजेता डॉक्टर डेनिस मुकवेगे को मिल रही मौत की धमकियों की निन्दा करते हुए उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने की पुकार लगाई है.

यौन हिंसा: कला के ज़रिए तकलीफ़ों की दास्तान

दुनिया भर में करोड़ों महिलाएँ और लड़कियाँ यौन हिंसा का शिकार होती हैं और भयावह तकलीफ़ में जीवन जीती हैं. यौन हिंसा अब भी युद्ध के एक हथियार के तौर पर इस्तेमाल की जाती है. यौन हिंसा के दंश की तकलीफ़ को बयाँ करती एक प्रदर्शनी. प्रस्तुति शिवानी काला...

लड़ाई-झगड़ों में पर्यावरण को नुक़सान पहुँचाने के चलन को रोकना होगा

अगर दुनिया को इस पृथ्वी और इस पर बसने वाले सभी इंसानों और जीव-जंतुओं के लिए एक टिकाऊ भविष्य का लक्ष्य हासिल करना है तो युद्धों और संघर्ष के हालात में पर्यावरण को महफ़ूज़ रखने के लिए ज़्यादा कार्रवाई करनी होगी. ये चेतावनी भरे शब्द संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम की मुखिया इन्गा एंडरसन ने बुधवार को युद्ध व सशस्त्र संघर्ष में पर्यावरण को नुक़सान पहुँचाने से रोकने के लिए मनाए जाने वाले अंतरराष्ट्रीय दिवस के मौक़े पर कहे.

जिनीवा संधि: इंसानी बर्ताव के लिए नायाब मानक

संघर्ष और युद्ध वाले क्षेत्रों में घायल लोगों के अधिकारों की हिफ़ाज़त सुनिश्चित करने वाले जिनीवा कन्वेंशन के 70 वर्ष पूरे होने के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष ने कहा है कि इस संधि ने सशस्त्र संघर्षों की क्रूरता को सीमित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

आम आबादी की सुरक्षा की हालत से गंभीर चिन्ता वाजिब - महासचिव

संयुक्त राष्ट्र महासचिव अंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि आम आबादी की सुरक्षा के लिए उठाए गए क़दम तो पर्याप्त हैं मगर उन पर अमल करने करने की मंशा और अनुशासन में गिरावट आई है जो गंभीर चिन्ता का विषय है. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने बीस वर्ष पहले आम आबादी की सुरक्षा का मुद्दा अपने एजेंडा में शामिल किया था.