समानता

समावेश व लोगों की ज़्यादा सहभागिता से शासन नीतियाँ बेहतर होंगी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि ना केवल कोविड-19, बल्कि जलवायु परिवर्तन, ज़्यादा भागीदारी वाली राजनीति व मानवाधिकारो के लिये जद्दोजहद, और कम होता सार्वजनिक अविश्वास, इन सभी चुनौतियों ने समाजों को कड़ी निगरानी के घेरे में लाकर खड़ा कर दिया है जिन्हें सामाजिक व आर्थिक अन्यायों ने अपनी चपेट में ले रखा है.

एक ज़्यादा बराबरी वाली, समावेशी और टिकाऊ दुनिया बनाने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र ने मंगलवार, 15 सितम्बर को मनाए जा रहे अन्तरराष्ट्रीय लोकतन्त्र दिवस के अवसर पर तमाम विश्व नेताओं से एक ज़्यादा समानता वाली, ज़्यादा समावेशी और टिकाऊ दुनिया बनाने का आहवान किया है जहाँ मानवाधिकारों के लिये पूर्ण सम्मान हो.