शांतिरक्षा

लाइबेरिया द्वारा माली में शांतिरक्षक भेजने पर समझौता

माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) के लिए शांतिरक्षकों की सेवाएं मुहैया कराने के सिलसिले में लाइबेरिया और संयुक्त राष्ट्र में एक औपचारिक समझौता हुआ है. अशांति और हिंसा से जूझते लाइबेरिया में कई दशकों तक शांतिरक्षकों की तैनाती रही है लेकिन अब लाइबेरिया अपने अतीत से आगे बढ़ते हुए अन्य देशों में शांतिरक्षा अभियानों में योगदान दे रहा है जिसे कई मायनों में अहम माना जा रहा है.  

यूएन प्रमुख ने माली में शांतिरक्षकों पर हमले की निंदा की

माली में संयुक्त राष्ट्र मिशन (MINUSMA) पर हुए हिंसक हमले में नाइजीरिया के एक शांतिसैनिक की मौत हो गई है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शनिवार को किए गए इस हमले की कड़ी निंदा की है.  
 

रवांडा में तुत्सी समुदाय के जनसंहार से 'मानवता को मिले कई सबक'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने रवांडा में तुत्सी समुदाय के जनसंहार को मानव इतिहास का एक काला अध्याय करार दिया है. रवांडा के राष्ट्रपति पॉल कगामे की उपस्थिति में यूएन महासभा में आयोजित एक समारोह में ऐसी त्रासदियों को फिर न होने देने के लिए संकल्प को मज़बूत करने की अपील की.

दोराहे पर खड़े हैती में 'मानवाधिकारों की रक्षा अहम'

हैती में संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षा मिशन के पूरा होने के आसार के बीच संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख मिशेल बाशलेट ने कहा है कि देश, विकास और शांतिरक्षा के दोराहे पर खड़ा है. सुरक्षा परिषद को जानकारी देते हुए उन्होंने सभी संबंधित पक्षों से अनुरोध किया कि अब तक हुई प्रगति को और मज़बूत बनाए जाने की ज़रूरत है, नहीं तो उसके पूरी तरह खोने का ख़तरा है.

 

लैंगिक समानता पर 'उत्कृष्ट' कार्य के लिए ब्राज़ीलियाई शांतिरक्षक को सम्मान

मध्य अफ़्रीका गणराज्य में लैंगिक मुद्दों पर सलाहकारों और संपर्क बिंदुओं के नेटवर्क को तैयार करने में अहम भूमिका निभाने वालीं ब्राज़ील की एक यूएन शांतिरक्षक को विशेष पुरस्कार के लिए चुना गया है. संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश, नौसेना अधिकारी लेफ़्टिनेंट कमांडर मार्सिया अंड्राजे ब्रागा को 'यूएन मिलिट्री जेंडर एडवोकेट ऑफ़ द इयर' अवॉर्ड से सम्मानित करेंगे.

मध्य अफ़्रीका गणराज्य: शांति समझौते पर हस्ताक्षर का स्वागत

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य की सरकार और वहां सक्रिय रहे 14 हथियारबंद गुटों के बीच शांति समझौते पर हस्ताक्षर के बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सभी पक्षों को बधाई देते हुए कहा है कि उन्हें अब अपने वायदों को पूरा करने के लिए जुट जाना चाहिए.