शान्ति

शान्ति ही मेरा मिशन है: रागिनी कुमारी

संयुक्त राष्ट्र के शान्ति अभियानों और विशेष राजनैतिक मिशनों में महिलाओं की भी महत्वपूर्ण भूमिका है. महिलाओं के योगदान को रेखांकित करती एक श्रृंखला जिसमें पहला वीडियो दक्षिण सूडान में तैनात, UNMISS की मूल्याँकन टीम लीडर, रागिनी कुमारी का... ‘शान्ति ही मेरा मिशन है’ ’नामक यह अभियान, 31 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 1325 की 20वीं वर्षगाँठ के उपलक्ष्य में 1 अक्टूबर से शुरू किया गया है. देखिये, रागिनी कुमारी की कहानी, उन्हीं की ज़ुबानी... (वीडियो)

नागोर्नो-काराबाख़ में जारी युद्धक हिंसा की निन्दा, तुरन्त युद्धविराम की अपील

संयुक्त  राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने नागोर्नो-काराबाख़ संघर्ष क्षेत्र में जारी तनाव और हिंसा की निन्दा की है. उन्होंने सभी सम्बद्ध पक्षों को अन्तरराष्ट्रीय मानवीय क़ानून के तहत उनकी ज़िम्मेदारियाँ निभाने की याद दिलाते हुए कहा है कि नागरिक बुनियादी ढाँचे के साथ-साथ आम लोगों की हिफ़ाज़त सुनिश्चित की जाए. ये इलाक़ा आर्मीनिया और अज़रबैजान देशों के बीच अनेक वर्षों से विवादित है.

अफ़ग़ानिस्तान में घातक आत्मघाती हमले की तीखी भर्त्सना

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी प्रान्त नानगरहार में सरकारी इमारतों पर हुए एक आत्मघाती हमले की तीखी भर्त्सना की है. शनिवार को हुए इस हमले में कम से कम 13 लोगों की मौत हो गई और अनेक अन्य घायल हो गए. संयुक्त राष्ट्र ने इस हमले के ज़िम्मेदारों को न्याय के कटघरे में लाए जाने पर ज़ोर दिया है.

अहिंसा दिवस और गाँधी@150

हर साल 2 अक्टूबर को महात्मा गाँधी के जन्म दिवस के मौक़े पर अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस मनाया जाता है. वर्ष 2020 में इस दिवस की थीम है - "गाँधी@150 - शान्ति और विकास के लिये एक अहिंसक रास्ता". संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन ने इस बार कोविड-19 महामारी के कारण किये गए ऐहतियाती उपायों के तहत इस कार्यक्रम का आयोजन वर्चुअली किया. इस कार्यक्रम का वीडियो यहाँ देखिये है...

अहिंसा दिवस पर यूएन प्रमुख की वैश्विक युद्धविराम की ताज़ा पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरश ने 2 अक्टूबर को अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के मौक़े पर वैश्विक युद्धविराम की अपनी पुकार फिर दोहराई है. अन्तरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस महात्मा गाँधी के जन्म दिवस (जयन्ती) की याद में हर साल 2 अक्टूबर को मनाया जाता है, और वर्ष 2020 का ये दिवस कोरोनावायरस महामारी से हुई भारी मानवीय और सामाजिक-आर्थिक तबाही की छाया में मनाया जा रहा है.

अपराधों और जनसंहारों को रोकने से एसडीजी में मिलती है मदद - आईसीसी

अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (आसीसी) के अध्यक्ष चिले ईबोई-ओसूजी का कहना है कि जनसंहार, सशस्त्र लड़ाई-झगड़े और क्रूर व भीषण अपराध होने से रोकना टिकाऊ विकास में मददगार साबित होता है. आईसीसी जनसंहार, युद्धापराध, मानवता के विरुद्ध अपराधों और आक्रामकता से जुड़े अपराधों की जाँच-पड़ताल करता है और उनके लिये ज़िम्मेदार लोगों पर मुक़दमे चलाता है. साथ ही, शान्ति व न्याय की स्थापना करना और मज़बूत संस्थानों के निर्माण में, देशों की मदद करने में भी आईसीसी की अहम भूमिका है.

यमन: युद्धरत पक्षों के बीच 1000 बन्दियों की रिहाई के लिये रज़ामन्दी

यमन में युद्धरत पक्ष बन्दियों के पहले समूह की रिहाई की के लिये रज़ामन्द हुए हैं. सप्ताहान्त के दौरान स्विट्ज़रलैण्ड़ में सप्ताह भर चली बैठक के आख़िर में ये रज़ामन्दी हुई जिसे संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत ने “एक बहुत ही महत्वपूर्ण पड़ाव” क़रार दिया है.

यूएन न्यूज़ हिन्दी बुलैटिन 25 सितम्बर 2020

25 सितम्बर 2020 के इस बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

ऑडियो -
25'50"

लेबनान में नेताओं को राजनीति से हटकर लोगों की बेहतरी को महत्व देना होगा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि लेबनान में तमाम नेताओं को अगस्त में बेरूत बन्दरगाह पर हुए भीषण विस्फोट के बाद की चुनौतियों का सामना करने के लिये राजनीति को पीछे छोड़कर आम लोगों की भलाई को ऊपर रखना होगा.

75वाँ सत्र: फ्राँस का बहुपक्षीय प्रणाली को पुनर्जीवित करने पर ज़ोर

फ्राँस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्राँ ने संयुक्त राष्ट्र की 75वीं महासभा की वार्षिक उच्च स्तरीय बहस के दौरान मंगलवार को ज़ोर देकर कहा कि कोरोनोवायरस महामारी से निपटने के लिये राष्ट्रों के बीच सहयोग बेहद ज़रूरी है. उन्होंने कहा कि महामारी को संयुक्त राष्ट्र को जगाने के लिये एक "बिजली के झटके" की तरह के अवसर के रूप में देखा जाना चाहिये.