शान्ति

लेबनान में नेताओं को राजनीति से हटकर लोगों की बेहतरी को महत्व देना होगा

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि लेबनान में तमाम नेताओं को अगस्त में बेरूत बन्दरगाह पर हुए भीषण विस्फोट के बाद की चुनौतियों का सामना करने के लिये राजनीति को पीछे छोड़कर आम लोगों की भलाई को ऊपर रखना होगा.

यमन: युद्ध और कोविड-19 से लाखों लोग तबाही के कगार पर

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने गुरुवार को बताया कि पाँच साल से अधिक समय से चल रहे युद्ध ने "यमन के करोड़ों लोगों का जीवन तबाह कर दिया है." विशेषज्ञों का अनुमान है कि यमन में लगभग दस लाख लोग कोविड-19 से प्रभावित हुए हैं.

सीरिया: आमजन पर ज़ुल्म ढाने में सभी पक्ष हैं शामिल, जाँच आयोग की रिपोर्ट


सीरिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के जाँच आयोग की रिपोर्ट में कहा गया है कि मार्च 2020 में युद्धविराम लागू होने के बाद से बड़े पैमाने वाली युद्धक गतिविधियों में तो कुछ कमी आई है, मगर अब भी सशस्त्र गुट आम लोगों पर बहुत ज़ुल्म ढा रहे हैं, और जानबूझकर व सोचसमझकर लोगों के मानवाधिकारों का उल्लंघन किया जा रहा है. 

स्विटज़रलैण्ड: आतंकवाद विरोधी विधेयक से ख़तरनाक चलन शुरू होने का डर

संयुक्त राष्ट्र के पाँच मानवाधिकार विशेषज्ञों ने कहा है कि स्विट्ज़रलैण्ड में प्रस्तावित नया आतंकवाद विरोधी विधेयक दुनिया भर में राजनैतिक असहमति को दबाने के लिये एक नया व ख़तरनाक चलन शुरू कर सकता है. इन मानवाधिकार विशेषज्ञों ने कहा है कि ये प्रस्तावित विधेयक इस समय स्विस संसद में विचाराधीन है और सांसदों से इस विधेयक को नामंज़ूर करने का आग्रह किया गया है.

अफ़ग़ान उपराष्ट्रपति पर हुए हमले की निन्दा

संयुक्त राष्ट्र ने अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में बुधवार को हुए उस हमले की कड़ी निन्दा की है जिसमें देश के प्रथम उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के आधिकारिक काफ़िले को निशाना बनाया गया.

इसराइल-हमास समझौता होगा महामारी का मुक़ाबला करने में मददगार

मध्य पूर्व क्षेत्र के लिये संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठतम अधिकारी निकोलय म्लैदेनॉफ़ ने फ़लस्तीनी क्षेत्र ग़ाज़ा के भीतर और आसपास के इलाक़ों में कोविड-19 महामारी के बावजूद हाल के समय में बढ़े तनाव को कम करने के लिये हुए समझौते का स्वागत किया है.

बेलारूस को प्रदर्शनकारियों पर ज़ुल्म ढाना बन्द करना होगा

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने बेलारूस सरकार का आहवान किया है 9 अगस्त के राष्ट्रपति पद के चुनाव के मुद्दे पर हो रहे व्यापक प्रदर्शनों के दौरान बन्दी बनाए गए लोगों को प्रताड़ित करना बन्द करे, और उन पुलिस अधिकारियों को न्याय के कटघरे में लाया जाए जिन्होंने अपनी हिरासत में रखे गए प्रदर्शनकारियों की कथित रूप में बेइज़्ज़ती व पिटाई की है.