स्कूल

यूएन महासचिव एंतोनियो गुटेरेश.
UN Photo/Manuel Elias

रूस: स्कूल में गोलीबारी में 15 की मौत, यूएन प्रमुख ने जताया शोक 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने रूस के इज़ऐव्स्क शहर के एक स्कूल में गोलाबारी की घटना में 11 बच्चों समेत 15 लोगों के मारे जाने पर गहरा दुख व्यक्त किया है. एक बन्दूकधारी द्वारा किये गए इस हमले में दो दर्जन से अधिक लोग घायल हुए हैं.  

म्याँमार के किसी स्थान का दृश्य
© ADB

म्याँमार: 11 बच्चों की मौत के लिये ज़िम्मेदार हमले की कड़ी निन्दा

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने म्याँमार में, सरकारी सैनिकों द्वारा, विद्रोहियों का गढ़ समझे जाने वाले उत्तरी इलाक़े में एक स्कूल को निशाना बनाकर किये गए हमलों की कड़ी निन्दा की है. इन हमलों में कम से कम 13 लोगों के मारे जाने की ख़बर है, जिनमें 11 बच्चे हैं.

काबुल में एक तेरह वर्षीय लड़की घर पर पढ़ती हुई, जब तालिबान ने घोषणा की थी कि 7-12 ग्रेड में अफगान लड़कियों के लिए स्कूल फिर से नहीं खुलेंगे.
UNICE/Mohammad Haya Burhan

अफगानिस्तान: तालेबान से हाई स्कूल छात्राओं की शिक्षा फिर शुरू किये जाने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने अफ़ग़ानिस्तान की सत्ता पर क़ाबिज़ तालेबान से आग्रह किया है कि माध्यमिक स्तर पर लड़कियों की स्कूलों में जल्द से जल्द वापसी सुनिश्चित की जानी होगी. तालेबान द्वारा हाई स्कूल छात्राओं की पढ़ाई रोकने के लिये सरकारी आदेश जारी किये जाने का एक वर्ष पूरा होने पर महासचिव की ओर से यह अपील जारी की गई है. 

इंडोनेशिया के मध्य जावा प्रांत में एक 14 वर्षीय लड़की घर पर एक स्कूल असाइनमेंट पर काम करती है.
UNICEF/Jiro Ose

भेदभाव और लैंगिक रूढ़ियों के कारण, गणित में लड़कों से पिछड़ती लड़कियाँ

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने बुधवार को जारी अपनी एक नई रिपोर्ट में चेतावनी जारी की है कि दुनिया भर में लड़कियाँ, गणित विषय में लड़कों से पिछड़ रही हैं. विशेषज्ञों ने चिन्ता जताई है कि लिंग के आधार पर भेदभाव और लैंगिक रूढ़िवादिता समेत अन्य कारणों से ये अन्तर बढ़ रहा है.

कुछ बच्चे अपने स्कूल में, खिड़की से झाँकते हुए.
© UNESCO/Yayoi Segi-Vltchek

शिक्षा संरक्षण दिवस: स्कूलों को ‘शान्ति व शिक्षा’ के स्थल बने रहने देने की पुकार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने शुक्रवार को अन्तरराष्ट्रीय शिक्षा संरक्षण दिवस पर ज़ोर देते हुए कहा है कि शिक्षा एक मूलभूत मानवाधिकार है और “शान्ति व टिकाऊ विकास की प्राप्ति के लिये एक अनिवार्य उत्प्रेरक भी है.”

एक 12 वर्षीय लड़का अफ़ग़ानिस्तान के एक पश्चिमी प्रान्त - उरुज़गान में केले बेचते हुए.
© UNICEF

UNESCO: 24.4 करोड़ बच्चे स्कूली शिक्षा से वंचित, शिक्षा में बदलाव की पुकार

संयुक्त राष्ट्र के शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृति संगठन – UNESCO ने गुरूवार को कहा है कि अनेक देशों में स्कूली शिक्षा का नया वर्ष शुरू हो रहा है, मगर शिक्षा की उपलब्धता में मौजूद विषमताएँ, लगभग 24 करोड़ 40 लाख बच्चों को, स्कूली शिक्षा से वंचित रख रही हैं.

मध्य अफ़्रीकी गणराज्य के बांगुई स्थान में एक स्कूल में कुछ लड़कियाँ.
©Education Cannot Wait

ECW: लड़कियों व लड़कों के शिक्षा सशक्तिकरण में ‘ठोस नतीजे’

आपदाओं और लम्बे समय से चल रहे संघर्षों वाले स्थानों पर शिक्षा के लिये, संयुक्त राष्ट्र के वैश्विक कोष – Education Cannot Wait (ECW) ने मंगलवार को अपनी वार्षिक रिपोर्ट जारी की है जिसमें बताया गया है कि वैश्विक उथल-पुथल के बावजूद, इस कोष और उसके साझीदार संगठनों ने, अपने अभियानों का दायरा बढ़ाना जारी रखा है.

यूक्रेन की एक 11 वर्षीय लड़की की दोनों टांगें, एक मिसाइल हमले में जाती रहीं, लवीव के एक अस्पताल में उसका इलाज हुआ है.
© Courtesy of Lviv Territorial Medical Union Hospital

यूक्रेन: युद्ध में लगभग 1,000 बच्चे हताहत, तत्काल युद्ध विराम की पुकार

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – UNICEF की प्रमुख कैथरीन रसैल ने सोमवार को कहा है कि यूक्रेन में युद्ध से लगभग 1,000 लड़के व लड़कियाँ या तो मारे गए हैं या घायल हुए हैं. उन्होंने यह जानकारी देते हुए शान्ति की तत्काल ज़रूरत को भी रेखांकित किया है.

खारकीफ़ के एक भूमिगत कार पार्क में एक 9 वर्षीय बच्ची ने अपने परिजन के साथ शरण ली हुई है.
© UNICEF/Aleksey Filippov

यूक्रेन: क़रीब 100 दिनों से जारी युद्ध से बदहाल बच्चे, 52 लाख को सहायता की ज़रूरत

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष (UNICEF) ने कहा है कि यूक्रेन में पिछले लगभग 100 दिनों से जारी युद्ध के जिस गति से और जिस स्तर पर, बच्चों के लिये विनाशकारी दुष्परिणाम हुए हैं, वैसा दूसरे विश्व युद्ध के बाद से नहीं देखा गया है. यूएन एजेंसी के अनुसार यूक्रेन में 30 लाख बच्चों और शरणार्थियों की मेज़बानी कर रहे देशों में, 22 लाख से अधिक बच्चों को मानवीय सहायता की ज़रूरत है.  

वाशिंगटन डीसी में कुछ लड़कियाँ, जीवन के अधिकार के लिये एक मार्च में शिरकत करते हुए.
© Unsplash/Tim Mudd

टैक्सस हमले के सन्दर्भ में यूनीसेफ़ की पुकार - स्कूलों को बनाना होगा सुरक्षित स्थान

संयुक्त राष्ट्र बाल एजेंसी – UNICEF की प्रमुख कैथरीन रसैल ने बुधवार को कहा है कि सरकारों को ये सुनिश्चित करने के लिये और ज़्यादा कार्रवाई करनी होगी कि स्कूल, लड़कों और लड़कियों के लिये एक सुरक्षित स्थान बने रहें. उनका यह बयान, अमेरिका के टैक्सस प्रान्त में एक घातक स्कूल हमले में कुछ बच्चों व शिक्षकों की मौत के सन्दर्भ में आया है.