सीटीबीटी

परमाणु बम गिराए जाने के बाद झुलसा देने वाली आग से बचने का प्रयास करते घायल लोग.
UN Photo/Yoshito Matsushige

मानवता परमाणु विनाश की अस्वीकार्य स्थिति के निकट बनी हुई है, यूएन प्रमुख

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंतोनियो गुटेरेश ने रविवार को, ‘अन्तरराष्ट्रीय पूर्ण परमाणु शस्त्र उन्मूलन दिवस’ पर कहा है कि हमारी दुनिया से परमाणु हथियारों को जड़ से ख़त्म कर देने, और सम्वाद, विश्वास  शान्ति के एक नए दौर में दाख़िल होने का, अभी बिल्कुल सटीक समय है.

परमाणु हथियारों के ख़तरों को कम करने की दिशा में प्रगति रूक गई है.
IAEA/Dean Calma

मानवता के 'सर्वनाश का सबब' हैं परमाणु हथियार

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने परमाणु हथियारों को मानवता के लिए एक ऐसा ख़तरा बताया है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता. उन्होंने आगाह किया है कि परमाणु हथियारों के अंत के साथ ही ये ख़तरा समाप्त किया जा सकता है. इसे संभव बनाने के लिए परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की रोकथाम के लिए संवाद को बढ़ावा देने और परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए व्यवहारिक क़दमों पर ज़ोर दिया गया है.

कज़ाख़्स्तान में एक परमाणु परीक्षण स्थल - कुर्शातोफ़. किसी समय ये पूर्व सोवियत संघ का हिस्सा था जो परमाणु हथियारों का प्रमुख परीक्षण स्थल भी था.
UN Photo/Eskinder Debebe

सीटीबीटी को लागू करना परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए ज़रूरी

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने कहा है कि परमाणु हथियारों के परीक्षणों ने दुनिया को तबाही के सिवाय और कुछ नहीं दिया है. आज की बढ़ते तनावों की दुनिया में हम सबकी सामूहिक सुरक्षा इस बात पर निर्भर है कि परमाणु विस्फोटों पर पाबंदी लगाने वाली एक वैश्विक संधि लागू की जाए.