Refugees

फ़ुटबॉल डिज़ाइन के ज़रिये सदभावना सन्देश

यूएन शरणार्थी एजेंसी (UNHCR) ने, लोगों को साथ लाने में, खेल की ताक़त को पहचानने के लिये, वार्षिक ‘यूथ विद रिफ्यूजी आर्ट कॉन्टेस्ट’ के विजेताओं की घोषणा की ही. विजयी डिज़ाइनों में से पाँच फ़ुटबॉल पर, ऑनलाइन बिक्री के लिये उपलब्ध होंगे. इनकी आमदनी, शरणार्थियों के खेल कार्यक्रमों को प्रोत्साहन देने में इस्तेमाल की जाएगी. भारत में एक अफ़ग़ान शरणार्थी, 16 वर्षीय नादिरा गंजी भी इस प्रतियोगिता के विजेताओं में से एक हैं.

भारत: कठिन घड़ी में मेज़बान समुदाय की मदद का जज़्बा

ग़फ़्फ़ार दाराबियान मूलत: ईरान से हैं, मगर वर्ष 1994 में उन्हें देश छोड़ने के लिये मजबूर होना पड़ा जिसके बाद उन्होंने भारत के पुणे शहर में शरण ली. भारत में कोरोनावायरस संकट के दौरान, ग़फ़्फ़ार आगे बढ़कर ज़रूरतमन्दों को सहारा दे रहे हैं.

प्रवासियों के लिए ‘ग्लोबल कॉम्पैक्ट’

दुनिया भर में प्रवासियों की समस्याओं को जानने-समझने और उनका हल निकालने के लिए एक समझौते पर विचार करने के लिए विश्व नेताओं ने बुधवार को सयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में एक अहम बैठक की.