पश्चिमी तट

पूर्वी येरूशेलम में इसराइली बलों द्वारा फ़लस्तीनियों के घर ध्वस्त किये जाने की निन्दा

फ़लस्तीनी शरणार्थियों की सहायता करने वाली संयुक्त राष्ट्र एजेंसी – UNRWA ने गुरूवार को इसराइल से, पूर्वी येरूशेलम सहित पश्चिमी तट में, फ़लस्तीनियों के घर ढहाए जाने और उन्हें बेदख़ल किये जाने की कार्रवाई तुरन्त रोकने का आग्रह किया है. एक दिन पहले ही एक पूरे फ़लस्तीनी परिवार को, उनके लम्बे समय के घर से जबरन निकाल दिया गया था.

UNRWA: फ़लस्तीनी शरणार्थियों की मदद के लिये, डेढ़ अरब डॉलर से ज़्यादा की अपील

फ़लस्तीनी शरणार्थियों की मदद करने वाली यूएन एजेंसी – UNRWA ने वर्ष 2022 के दौरान, क्षेत्रीय संकटों और लगातार धन की क़िल्लत की परिस्थितियों में अपना जीवन रक्षक सहायता कार्यक्रम जारी रखने के लिये, एक अरब 60 करोड़ डॉलर की रक़म इकट्ठा करने के लिये एक सहायता अपील मंगलवार को जारी की है.

मध्य पूर्व: शान्तिपूर्ण और टिकाऊ समाधान के लिये आशाएँ फिर जगाने की पुकार

मध्य पूर्व शान्ति प्रक्रिया के लिये संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत टॉर वैनेसलैण्ड ने आगाह किया है कि क्षेत्र में पसरे राजनैतिक गतिरोध के कारण तनाव और अस्थिरता को बल मिल रहा है और निराशा का माहौल गहरा रहा है. 

फ़लस्तीनी इलाक़ों में, इसराइली बाशिन्दों की हिंसा बढ़ी, मानवाधिकार विशेषज्ञों की चेतावनी

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त स्वतंत्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने कहा है कि इसराइल द्वारा क़ब्ज़ा किये हुए फ़लस्तीनी क्षेत्र पश्चिमी तट में बसाए गए इसराइली बाशिन्दों द्वारा फ़लस्तीनी लोगों के ख़िलाफ़ हिंसा में, हाल के महीनों में तेज़ी आई है, और इस हिंसा के ज़िम्मेदार लोगों में क़ानून या दण्ड के लिये निडरता का माहौल भी देखा गया है.

आईसीसी के फ़ैसले से खुलेगा 'क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में न्याय के लिये रास्ता'

संयुक्त राष्ट्र के एक स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञ ने अन्तरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय (ICC) के उस फ़ैसले की सराहना की है जिसमें कहा गया है कि इसराइल द्वारा क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों में जो गम्भीर अपराध किये गये हैं, वे कोर्ट के न्यायिक क्षेत्र में आते हैं. यूएन विशेषज्ञ ने मंगलवार को जारी अपने वक्तव्य में इस निर्णय को, न्याय व जवाबदेही की दिशा में एक महत्वपूर्ण क़दम क़रार दिया है.  

फ़लस्तीन में चुनाव – संयुक्त राष्ट्र हरसम्भव मदद के लिये तैयार

मध्य पूर्व क्षेत्र के लिये नियुक्त संयुक्त राष्ट्र के नए दूत टॉर वेनेसलैण्ड ने कहा है कि फ़लस्तीन में इस वर्ष होने वाले चुनाव एकता की दिशा में बढ़ाया गया एक अहम क़दम होगा. विशेष दूत ने मंगलवार को पहली बार सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए ध्यान दिलाया है कि चुनावों के ज़रिये फ़लस्तीनी संस्थाओं को मज़बूती मिलेगी और इन प्रयासों में यूएन मदद के लिये तैयार है. 

फ़लस्तीनी चुनावों की घोषणा का स्वागत, एकता की दिशा में 'एक महत्वपूर्ण क़दम'

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास द्वारा संसदीय और राष्ट्रपति पद के लिये चुनाव कराने की घोषणा का स्वागत किया है. पिछले क़रीब 15 वर्षों में, इन प्रथम पूर्ण चुनावों के लिये प्रक्रिया मई 2021 में शुरू होनी है.

इसराइल द्वारा पश्चिमी तट में घर ढहाने से, बच्चों सहित अनेक फ़लस्तीनी बेघर

संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता संयोजन कार्यालय (OCHA) ने ख़बर दी है कि फ़लस्तीनी क्षेत्र पश्चिमी तट में इसराइली अधिकारियों द्वारा फ़लस्तीनी लोगों के अनेक घर और अन्य ढाँचे ढहा दिये हैं जिसके कारण 73 फ़लस्तीनी बेघर हो गए हैं जिनमें 41 बच्चे हैं. हमसा अल बक़ाई इलाक़े में हुई इसराइली कार्रवाई में फ़लस्तीनियों का सामान भी नष्ट किया गया है.

मध्य पूर्व के लिए 'विनाशकारी' है फ़लस्तीनी इलाक़ों को छीनने की इसराइली योजना

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त (OHCHR) मिशेल बाशेलेट ने इसराइल द्वारा क़ाबिज़ फ़लस्तीनी इलाक़ों को ग़ैरक़ानूनी ढंग से छीनने की योजना से पीछे हटने को कहा है. यूएन मानवाधिकार प्रमुख ने इसराइल की इस कार्रवाई का फ़लस्तीनियों और पूरे क्षेत्र के लिए चेतावनी भरे शब्दों में विनाशकारी असर होने की आशंका जताई है. इससे पहले यूएन महासचिव ने भी स्पष्ट शब्दों में कहा था कि ऐसी कोई भी एकतरफ़ा कार्रवाई अन्तरराष्ट्रीय क़ानून का गम्भीर उल्लंघन होगी. 

इसराइल से फ़लस्तीनी इलाक़े छीनने की योजना से पीछे हटने का आग्रह

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने इसराइल से फ़लस्तीन में क़ब्ज़ाग्रस्त पश्चिमी तट के हिस्सों को हड़प लेने की योजना छोड़ने का आग्रह किया है. ऐसी आशंका जताई गई है कि इसराइल द्वारा इन फ़लस्तीनी इलाक़ों को छीन लेने की कार्रवाई इसराइल द्वारा अगले हफ़्ते तक की जा सकती है. यूएन के विशेष दूत निकोलाय म्लादेनॉफ़ ने सुरक्षा परिषद को सम्बोधित करते हुए आगाह किया है कि कई दशकों की शान्ति प्रक्रिया दाँव पर लगी है.