प्रवासी

शरणार्थियों के पुनर्वास की संख्या बढ़ाने की अमेरिकी घोषणा का स्वागत

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी – (UNHCR) ने, अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन द्वारा, आगामी वित्तीय वर्ष के दौरान, देश में बसाए जाने वाले शरणार्थियों की संख्या बढ़ाकर एक लाख 25 हज़ार किये जाने के प्रस्ताव का स्वागत किया है. 

यूनीसेफ़: अभूतपूर्व संख्या में, लड़के-लड़कियाँ प्रवासी या विस्थापित

संयुक्त राष्ट्र बाल कोष – यूनीसेफ़ ने शुक्रवार को प्रकाशित एक नई रिपोर्ट में कहा है कि अभूतपूर्व रूप से, ज़्यादा संख्या में लड़के और लड़कियाँ अपने रहने के स्थाई ठिकानों से विस्थापित हैं और वर्ष 2020 में, लगभग 3 करोड़ 55 लाख लड़के-लड़कियाँ, अपने जन्म वाले देश के बाहर जीवन जी रहे थे.

अफ़ग़ानिस्तान: भारी विस्थापन पर चिन्ता, मानवीय सहायता पहुँचाने में मुश्किलें

अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन संगठन (IOM) के प्रमुख एंतोनियो वितॉरिनो ने, अफ़ग़ानिस्तान में विस्थापित आबादियों के साथ-साथ, अस्थिरता के कारण यहाँ-वहाँ जाने और ठहरने वाले लोगों; व अपने घरों को वापिस लौट रहे लोगों पर, संघर्ष के व्यापक असर पर चिन्ता व्यक्त की है. 

ख़तरनाक योरोपीय प्रवासन मार्गों पर जान गँवाने वालों की संख्या बढ़ी

ख़तरनाक समुद्री मार्गों से होकर योरोप तक पहुँचने की कोशिश में अपनी जान गँवाने वाले प्रवासियों की संख्या में, वर्ष 2021 के पहले छह महीनों में वृद्धि हुई है. संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन एजेंसी के मुताबिक़ इस वर्ष जनवरी से जून महीने तक, नौकाओं में बैठकर जोखिमपूर्ण यात्राएँ करने वाले एक हज़ार 146 लोगों की मौत हुई है.   

लीबिया के निकट नौका दुर्घटना में 130 प्रवासियों की मौत, मदद की पुकार अनसुनी

अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन एजेंसी (IOM) ने शुक्रवार को बताया कि लीबियाई तट के निकट जलक्षेत्र में एक जहाज़ दुर्घटना ने कम से कम 130 लोगों की मौत हो गई है, हालाँकि मदद के लिये बेतहाशा पुकारें लगाई गईं.

एशिया-प्रशान्त: प्रवासियों की अहम भूमिका की ओर ध्यान

संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों ने एशिया और प्रशान्त क्षेत्र में, अर्थव्यवस्थाओं और समाजों में, प्रवासियों के योगदान को रेखांकित करते हुए, देशों का आहवान किया है कि उन्हें अपनी सीमाओं के भीतर रहने वाले प्रवासियों के लिये भी ये सुनिश्चित करना होगा कि उन्हें भी कोरोनावायरस से निपटने के राष्ट्रीय कार्यक्रमों में जगह मिले.

यमन: भीषण आग लगने के बाद, तत्काल मानवीय सहायता की पुकार

संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन मामलों की एजेंसी – IOM ने यमन की राजधानी सना में, उस अत्यधिक भीड़ भरे बन्दीगृह में तुरन्त मानवीय सहायता पहुँचाए जाने का आहवान किया है जहाँ बीते सप्ताहान्त भीषण आग लगने से, अनेक लोगों की मौतें होने की ख़बरें आई हैं. इस बन्दीगृह में प्रवासियों को रखा जाता है.

मानव तस्करों ने, अदन की खाड़ी में, प्रवासियों को समुन्दर में फेंका, कम से कम 20 की मौत

संयुक्त राष्ट्र की प्रवासन मामलों सम्बन्धी एजेंसी -IOM ने गुरूवार को कहा है कि जिबूती से यमन को जाने वाले रास्ते में, मानव तस्करों ने, नाव में सवार अनेक प्रवासियों को समुन्दर में फेंक दिया जिसके कारण, कम से कम 20 लोगों की डूबकर मौत हो गई.

मलेशिया: प्रवासियों को म्याँमार वापिस भेजे जाने के फ़ैसले की आलोचना

संयुक्त राष्ट्र के स्वतन्त्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने, हिरासत में रखे गए, एक हज़ार से ज़्यादा प्रवासियों को, संकटग्रस्त म्याँमार वापिस भेजे जाने के मलेशियाई सरकार के फ़ैसले की आलोचना की है. मलेशिया की एक अदालत ने न्यायिक समीक्षा होने तक, प्रवासियों को देश वापिस भेजे जाने रोक लगाई थी, लेकिन इसके बावजूद इन प्रवासियों को निर्वासित किया गया है. 

डिजिटल प्रवासन: शरणार्थियों व प्रवासियों के लिये आर्थिक जीवनरेखा

कोविड-19 महामारी के कारण, एक तरफ़ तो वैश्विक अर्थव्यवस्था को भीषण झटका लगा है, वहीं ऑनलाइन वाणिज्य में कुछ उछाल देखा गया है. संयुक्त राष्ट्र के समर्थन से, दुनिया भर में एक ऐसा ऑनलाइन कार्यक्रम चलाया गया है जिसमें, शरणार्थियों और प्रवासियों को ऐसे उपकरण और ग्राहक मुहैया कराने में मदद की जा रही है जिनकी उन्हें, अपने कारोबार शुरू करने और अपनी आजीविकाएँ बेहतर बनाने के लिये, ज़रूरत है.