पुस्तक

बांग्लादेश के कॉक्सेस बाज़ार के शरणार्थी शिविर में एक 14 वर्षीय लड़की, कविताओं की अपनी एक पसन्दीदा पुस्तक के साथ.
© UNICEF/Brian Sokol

विश्व पुस्तक व कॉपीराइट दिवस पर साहित्य की बुनियादी महत्ता रेखांकित

संयुक्त राष्ट्र की सांस्कृतिक एजेंसी यूनेस्को की अध्यक्षा ने कहा है वैश्विक अनिश्चितता और एकान्तवास के दौर में, पुस्तकें स्वतन्त्रता के दरवाज़े खोलती हैं और पाठकों को समय और सीमाओं के दायरों से भी परे ले जाती हैं.