प्रवासी

लीबिया के त्रिपोली शहर में टीबी से पीड़ित एक सूडानी शरणार्थी.
UNOCHA/Giles Clarke

लीबिया: प्रवासियों के मानवाधिकारों का गम्भीर उल्लंघन, OHCHR ने जताया गहरा क्षोभ

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त कार्यालय (OHCHR) की एक नई रिपोर्ट में कहा गया है कि लीबिया में प्रवासियों के मानवाधिकारों का व्यापक व व्यवस्थागत उल्लंघन, देश के भीतर व बाहर उपलब्ध संरक्षण उपायों के अभाव में और अधिक गहरा हुआ है. इस वजह से, प्रवासियों को ऐसी परिस्थितियों में अक्सर अपने मूल देश लौटने के लिये सहायता स्वीकार करने के लिये मजबूर होना पड़ता है, जोकि अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार क़ानूनों व मानकों के अनुरूप नहीं हैं.

भूमध्य सागर में, सीरिया का एक तटीय शहर - तारतूस.
© Unsplash/Ali Ahmed

सीरिया तट के निकट नाव डूबने से, कम से कम 70 लोगों की मौत

संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न एजेंसियों के प्रमुखों ने कहा है कि ख़बरों के अनुसार, भूमध्य सागर में सीरिया तट के निकट, एक अन्य नाव डूबने से, 71 प्रवासियों के शव बरामद किये गए हैं. उन्होंने इस घटना को “बिल्कुल त्रासद” क़रार देते हुए, एक ऐसी अन्तरराष्ट्रीय कार्रवाई की मांग की जिसमें अपना घर छोड़ने वाले लोगों की परिस्थितियों को बेहतर बनाने के प्रयास शामिल हों.

ग्रीस के उत्तरी ईजियन क्षेत्र में लैसबोस द्वीप में पहुँचने वाले शरणार्थियों की मदद करते हुए स्वेच्छाकर्मी. (फ़ाइल)
© UNICEF/Ashley Gilbertson

ईजियन सागर में नाव डूबने से अनेक लोग लापता

संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी मामलों की एजेंसी – UNHCR ने कहा है कि ग्रीस के निकट ईजियन सागर में बुधवार को प्रवासियों और शरणार्थियों से भरी एक नाव लापता है जिसमें सवार अनेक लोग लापता हैं.

UN video screenshot

यूएन हिन्दी न्यूज़ बुलेटिन, 22 जुलाई 2022

इस साप्ताहिक बुलेटिन की सुर्ख़ियाँ...

  • काला सागर से होकर यूक्रेन व रूस के अनाज निर्यात पर इस्तान्बूल में हुआ अहम समझौता.
  • विश्व भर में Refugees और Migrants के स्वास्थ्य पर ख़ास ध्यान देने की पुकार.
  • श्रीलंका को संकट की इस घड़ी में, अन्तरराष्ट्रीय समुदाय के समर्थन की हिमायत.
  • अफ़ग़ानिस्तान में तालेबान शासन के दौरान मानवाधिकारों के ह्रास पर गम्भीर चिन्ता.
  • टिकाऊ विकास लक्ष्यों की प्राप्ति में, भारत के प्रयासों को यूएन समर्थन पर एक रिपोर्ट.
     
ऑडियो
10'6"
यूक्रेन के शरणार्थी, पोलैण्ड में पहुँचते हुए.
© IOM/Muse Mohammed

WHO: प्रवासियों व शरणार्थियों को स्वास्थ्य देखभाल मुहैया कराने के लिये कार्रवाई की पुकार

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि दुनिया भर में करोड़ों शरणार्थी और प्रवासी जन, अपने मेज़बान समुदायों की तुलना में कहीं ज़्यादा ख़राब स्वास्थ्य परिणामों का सामना करते हैं, जिससे इन आबादियों के लिये, स्वास्थ्य सम्बन्धी टिकाऊ विकास लक्ष्यों (SDGs) की प्राप्ति ख़तरे में पड़ सकती है.

लीबिया के मिसराटा में फँसे अन्य देशों के प्रवासियों को बचाया गया. (फ़ाइल).
IOM

लीबिया रेगिस्तान में प्रवासियों की मौत, मज़बूत संरक्षण के लिये सतर्कता पुकार

संयुक्त राष्ट्र प्रवासन एजेंसी (IOM) ने लीबिया के रेगिस्तान में कम से कम 20 प्रवासियों की मौत होने की तीखी निन्दा की है और चाड-लीबिया सीमा पर प्रवासियों की सुरक्षा को और मज़बूत किये जाने की अपनी पुकार दोहराई है.

फ्रांस के उत्तरी हिस्से में स्थित एक प्रवासी शिविर में एक लड़का.
UNICEF/Geai

ब्रिटेन-रवाण्डा शरणार्थी क़रार ग़लत है, यूएन शरणार्थी उच्चायुक्त

संयुक्त राष्ट्र के शरणार्थी उच्चायुक्त फ़िलिपो ग्रैण्डी ने ब्रिटेन में पनाह चाहने वाले शरणार्थियों की अर्ज़ियों पर विचार किये जाने की प्रक्रिया को रवाण्डा स्थानान्तरित करने के प्रस्ताव को रद्द करते हुए, इस सम्बन्ध में दोनों देशों के बीच गत अप्रैल में हुए समझौते को एक त्रुटि क़रार दिया है.

यूक्रेन के बूचा इलाक़े से सुरक्षा की ख़ातिर अपने परिवार के साथ निकली एक महिला, अब ज़करपट्टिया में पनाह लिये हुए.
© IOM/Jana Wyzinska

यूक्रेन: 'घर से दूर अब यही हमारा घर है'

बूचा. किसी समय राजधानी कीयेफ़ के निकट एक ख़ामोश बस्ती हुआ करती थी, जो अब यूक्रेन में क्रूर युद्ध के दौरान बड़े पैमाने पर आम लोगों की मौत का पर्याय बन चुकी है. अलबत्ता, यूलीया और उनका परिवार, रक्तपात से बचकर निकल सका, और अब उसे अन्तरराष्ट्रीय प्रवासन एजेंसी (IOM) से सहायता मिल रही है, मगर अभी वो ख़ुद को अपनी नई स्थिति के अनुरूप ढालने में मुश्किलें महसूस कर रहे हैं. वो भी अपने घरों से विस्थापित हुए लाखों अन्य लोगों में शामिल हैं.

माया अख़्तर, जॉर्डन के परिधान उद्योग में कार्यरत अन्य प्रवासियों का प्रतिनिधित्व करती हैं.
© ILO/ Wael Liddawi

आपबीती: 'मैं उनके लिये आवाज़ उठाती हूँ, जो अपने अधिकार के लिये नहीं लड़ पाते'

जॉर्डन के परिधान उद्योग में कार्यरत बांग्लादेश की माया अख़्तर, अन्य प्रवासी कामगारों का भी प्रतिनिधित्व करती हैं. उन्होंने बताया कि वह किस तरह यूनियन के आन्दोलन में शामिल हुईं, और इससे यूनियन के सदस्यों के जीवन में क्या-क्या सकारात्मक बदलाव आए हैं.

सीरिया का एक विस्थापित परिवार, अल होल शिविर में.
© UNICEF

सीरिया: बढ़ती हिंसा व गहराते मानवीय संकट के बीच, भय वृद्धि

संयुक्त राष्ट्र द्वारा नियुक्त शीर्ष मानवाधिकार जाँचकर्ताओं ने सीरिया के विनाशकारी युद्ध के राजनैतिक समाधान के लिये नए सिरे से प्रयास करने का आग्रह किया है, जिसमें हाल के महीनों में हिंसा वृद्धि और मानवीय संकट और ज़्यादा गम्भीर होते देखा गया है.